हरनूर ने कोर्ट से जमानत मांगी:अफीम तस्करी में जेल में बंद राजस्थान का युवक, पंजाब पुलिस पर दर्ज हो चुका किडनैपिंग केस

चंडीगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
राजस्थान का हरनूर सिंह। - Dainik Bhaskar
राजस्थान का हरनूर सिंह।

10 किलो अफीम तस्करी के केस में जेल में बंद राजस्थान के हरनूर सिंह ने होशियारपुर कोर्ट से जमानत मांगी है। हरनूर इस वक्त गुरदासपुर जेल में बंद है। कुछ दिन पहले ही हरनूर की किडनैपिंग के आरोप में पंजाब पुलिस के DSP और इंस्पेक्टर समेत 14 पुलिस वालों पर किडनैपिंग का केस दर्ज हुआ है। इस मामले में पंजाब पुलिस ने अभी तक चुप्पी साध रखी है।

हाईकोर्ट ने कोर्ट प्रोसीडिंग पर भी रोक लगाई
इस मामले में होशियारपुर पुलिस ने हरनूर के खिलाफ लोअर कोर्ट में चालान भी पेश कर दिया। जिसकी सुनवाई होशियारपुर की ही कोर्ट में चल रही है। हाईकोर्ट के आदेश पर ही पंजाब पुलिस पर किडनैपिंग का केस दर्ज हुआ है। जिसके बाद हाईकोर्ट ने होशियारपुर कोर्ट को चालान पर आगे की कार्रवाई पर रोक लगा दी है।

CCTV में पंजाब पुलिस हरनूर को कोटा से लाती दिखाई दी
CCTV में पंजाब पुलिस हरनूर को कोटा से लाती दिखाई दी

पुलिस की कहानी : हिमाचल से आते वक्त पकड़ा
होशियारपुर पुलिस ने 7 मार्च को हरनूर सिंह को पकड़ा था। पुलिस ने कहा था कि हरनूर सिंह नामक शख्स से 10 किलोग्राम अफीम बरामद की गई है। पुलिस ने हिमाचल प्रदेश की तरफ से आ रही राजस्थान नंबर की गाड़ी को रोका। उसकी तलाशी लेने पर यह अफीम बरामद हुई।

पंजाब पुलिस राजस्थान में ढ़ाबे में दिखाई दी
पंजाब पुलिस राजस्थान में ढ़ाबे में दिखाई दी

CCTV से खुली पोल
हरनूर राजस्थान के कोटा में सांवलपुरा थाना तालेड़ा का रहने वाला है। उस पर अफीम तस्करी के केस का पता चला तो परिजनों ने CCTV फुटेज निकलवाई। जिससे पता चला कि हरनूर को IELTS के बहाने कोटा के एक होटल में बुलाया गया। वहां से पंजाब पुलिस की इनोवा और सरकारी बोलेरो में हरनूर को पंजाब लाया गया। जहां उस पर केस दर्ज कर दिया गया।

पंजाब पुलिस की गाड़ी भी राजस्थान में दिखाई दी
पंजाब पुलिस की गाड़ी भी राजस्थान में दिखाई दी

इन पुलिस वालों पर दर्ज हुआ केस
किडनैपिंग केस के आरोप में राजस्थान पुलिस ने लखवीर सिंह, गुरलाभ सिंह, लाल सिंह, गुरनाम सिंह, महेश शंकर, आरती, बूटा सिंह, सुखदेव सिंह, सुमित कुमार, गुरप्रीत, त्रिलोक सिंह्र, रमन कुमार, जसप्रीत सिंह और एक PPS अफसर (DSP) को नामजद किया गया है। राजस्थान पुलिस ने इस मामले में IPC की धारा 365, 343, 394, 120B, 115, 167 और NDPS एक्ट की धारा 59 के तहत केस दर्ज किया है।