पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • After Information Received From Two Youths Caught From Tarn Taran With Weapons, 39 Pistols Also Recovered In MP

पंजाब के स्टेट स्पेशल ऑपरेशन सेल ने की कार्रवाई:हथियारों के साथ धरे दो युवकों की निशानदेही पर MP में दी दबिश, 39 पिस्तौल बरामद; एक और मामले में 15 लाख की रिकवरी

अमृतसर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पंजाब पुलिस के स्टेट स्पेशल ऑपरेशन सैल की तरफ से मध्य प्रदेश के बड़वानी से पकड़े गए हथियारों के सप्लायर जीवन और विजय। - Dainik Bhaskar
पंजाब पुलिस के स्टेट स्पेशल ऑपरेशन सैल की तरफ से मध्य प्रदेश के बड़वानी से पकड़े गए हथियारों के सप्लायर जीवन और विजय।
  • एमपी से जुड़े चौथे बड़े मैन्यूफैक्चरिंग और सप्लाई रैकेट को सामने लेकर आई पंजाब पुलिस

पंजाब के स्टेट स्पेशल ऑपरेशन सेल (एसएसओसी) ने मध्य प्रदेश से अवैध हथियारों के मैन्यूफैक्चर और अवैध सप्लाई करने वाले एक और रैकेट को उजागर किया है। काउंटर इंटेलिजेंस अमृतसर ने 12 जून को तीन देसी पिस्तौल और गोला-बारूद के साथ तरनतारन के निवासी हीरा सिंह और हरमनदीप सिंह को गिरफ्तार किया था। इनकी निशानदेही पर अब पुलिस ने मध्य प्रदेश में दबिश देकर इस रैकेट का भांडा फोड़ा है।

मध्य प्रदेश से बरामद की गई पिस्तौल।
मध्य प्रदेश से बरामद की गई पिस्तौल।

एसएसओसी की टीम ने 39 पिस्टल रिकवर करते हुए इंटर स्टेट हथियारों को सप्लाई करने वाले बड़वानी जिला एमपी के गांव जामली गायत्री धाम निवासी जीवन (19) और उमरीपानी के गांव सेंधवा से विजय ठाकुर (25) को गिरफ्तार किया है। डीजीपी दिनकर गुप्ता ने बताया कि कपूरथला की पुलिस ने चार दिन पहले ही एमपी के ही अंतर-राज्य गिरोह को बेनकाब किया था। जिसके चार दिन बाद ही काउंटर इंटेलिजेंस अमृतसर ने यह सफलता हासिल कर ली।

पिछले 8 महीनों के भीतर पंजाब पुलिस द्वारा मध्य प्रदेश आधारित अवैध हथियार निर्माण और आपूर्ति मॉड्यूल का यह चौथा ऐसा रैकेट सामने लाया गया है। कपूरथला से पहले, अमृतसर रूरल पुलिस ने हथियार तस्करों की गिरफ्तारी के साथ एमपी में ही हथियार बनाने वाले दो ऐसे मॉड्यूल्स का पता लगाया था, जो पंजाब में गैंगस्टर, अपराधियों और कट्टरपंथियों को हथियार सप्लाई करते थे।

डीजीपी ने बताया कि एमपी के खरगोन, बड़वानी और बुरहानपुर जिले के क्षेत्र में देश के गैंगस्टरों और अपराधियों को नवीनतम तकनीक के हथियार उपलब्ध करवाए जाते हैं, जो चिंता का विषय है। पंजाब पुलिस के विभिन्न यूनिट्स ने सितंबर 2020 से अब तक 122 एमपी निर्मित अवैध हथियार बरामद किए हैं। गुप्ता ने बताया कि जानकारी हासिल करने के बाद एसएसओसी के इंस्पेक्टर इंद्रदीप सिंह के नेतृत्व में एक विशेष टीम एमपी भेजी गई थी। जहां से सूचना पुख्ता हुई और पुलिस को पूरे मॉड्यूल का पता चला।

48 पिस्टल मामले में 15 लाख की बरामदगी

उधर, एसएसओसी ने एमपी रैकेट को उजागर करने के साथ एक और बड़ी सफलता हासिल की है। पिछले महीने स्पेशल स्टेट ऑपरेशन सेल (एसएसओसी) ने सूचना के आधार पर कत्थूनंगल इलाके में एक कार की तलाशी ली तो दो बैगों से 48 पिस्तौल, 148 कारतूस और 38 मैगजीन बरामद हुई थी। कार को गांव उड़ियां कला का रहने वाला जगजीत सिंह चला रहा था। इसके बाद पुलिस ने जगजीत सिंह जग्गू के अलावा पंजाब की विभिन्न जेलाें में बंद प्रगट सिंह ढिल्लवां, जोगिंदर सिंह जग्गा, लवदीप सिंह लाला, लवप्रीत सिंह, जोबनप्रीत सिंह व दिलजान सिंह काे प्रोडक्शन वारंट पर रिमांड पर लिया था। जांच के बाद पुलिस को सूचना मिली थी कि हथियारों के साथ 80 किलोग्राम हेरोइन भी आयी है। जिसके आधार पर पुलिस ने तरसिक्का के सियालका गांव से बलविंदर सिंह नाम के एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। एसएसओसी को हेरोइन तो नहीं मिली है, लेकिन इस व्यक्ति से पुलिस ने 15 लाख रुपए ड्रग मनी को बरामद कर लिया है।

खबरें और भी हैं...