पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Amritsar 197 Kg Haroine Case Suicide Attempt, SAD Leader Anwar Masih To Be Surrendered In Central Jail

197 किलो हेरोइन बरामदगी मामला:धरने के दौरान सुसाइड के लिए पेस्टीसाइड गटका था अनवर ने, हालत में फिलहाल सुधार; रविवार तक सेंट्रल जेल में करना होगा सरेंडर

अमृतसर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
197 किलो हेरोइन बरामदगी मामले में सुसाइड अटैंप्ट करने वाले अनवर मसीह की फाइल फोटाे। - Dainik Bhaskar
197 किलो हेरोइन बरामदगी मामले में सुसाइड अटैंप्ट करने वाले अनवर मसीह की फाइल फोटाे।

197 किलो हेरोइन मामले की FIR से नाम कटवाने की मांग करते हुए जहर निगलने वाले पूर्व सबोर्डिनेट सर्विस कमिशन के सदस्य अनवर मसीह की हालत में सुधार है। उसका उपचार फोर्टिस एस्कोर्ट्स अस्पताल में चल रहा है। वहीं दूसरी तरफ पुलिस इस कदम के बाद उन पर कोई कार्रवाई करने के मूड में नहीं है। पुलिस का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट की रूलिंग के बाद अब आत्महत्या का प्रयास करने वाले के खिलाफ मामला दर्ज नहीं किया जाता।

जानकारी के अनुसार अनवर ने मंगलवार रैली के दौरान पेस्टीसाइड पिया था। लेकिन वे पेस्टीसाइड कौन सा था, इसके बारे में फिलहाल ना तो अस्पताल प्रशासन कुछ कह रहा है और ना ही पुलिस। अस्पताल से मिली जानकारी के अनुसार अनवर की हालत में अब सुधार है। लेकिन उन्हें अंडर आब्जर्वेशन रखा गया है। वहीं दूसरी तरफ रविवार की डेड लाइन पास आ रही है। एडिशनल सेशन जज पुष्विंदर सिंह ने अनवर को रविवार तक सेंट्रल जेल में पेश होकर सरेंडर करने के आदेश दिए हैं। वहीं दूसरी तरफ अगर अनवर सरेंडर नहीं करते तो एसटीएफ उन्हें कभी भी गिरफ्तार कर सकती है।

क्या था मामला

फरवरी 2020 में एसटीएफ ने फतेहगढ चूडियां रोड पर एक कोठी में छापेमारी कर वहां से 194 किलो हेरोइन बरामद की थी। कोठी का मालिक अकाली नेता अनवर मसीह था। एसटीएफ ने अनवर मसीह को पूछताछ के लिए कई बार बुलाया और बाद में उन्हें हेरोइन के मामले में नामजद करते हुए गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। इसी दौरान अनवर मसीह ने अपने वकील के माध्यम से 25 मार्च 2020 को जिला व सेशन जज की अदालत में जमानत याचिका दायर कर दी। इस जमानत याचिका पर सुनवाई करते हुए एडिश्नल सेशन जज पुष्विंदर सिंह की अदालत ने उन्हें 22 दिसंबर 2020 को उनकी बीमारी व इलाज को ध्यान में रखते हुए 6 हफ्तों की जमानत प्रदान करते हुए समय खत्म होने पर सरेंडर करने के आदेश जारी किए।

6 माह का समय बीत जाने के बाद अनवर मसीह ने दोबारा एडिश्नल सेशन जज पुष्विंदर सिंह की अदालत में 3 फरवरी 2021 को पेश होकर जमानत की अवधि बढाए जाने की मांग की। वहीं दूसरी और सरकारी वकील और एसटीएफ की टीम ने जमानत अवधि बढाए जाने का विरोध किया। एसटीएफ की टीम ने अदालत में सबूत पेश किए कि अनवर मसीह ने बीमारी का बहाना बना कर इलाज के लिए जमानत हासिल की थी जबकि दूसरी और अनवर मसीह इलाज करवाने की बजाए विरोध प्रदर्शनों में हिस्सा ले रहा है तथा अपनी गाड़ी खुद चला रहा है। अदालत ने सरकारी वकील की दलीलों व एसटीएफ द्वारा जुटाए सबूतों के आधार पर फैसला सुनाते हुए उनकी जमानत याचिका रद्द करते हुए उन्हें 7 दिनों के भीतर जेल में जाने के आदेश जारी किए।

पुलिस अधिकारियों पर लगाए थे आरोप

जमानत याचिका की अवधि पूरी होने के बाद अनवर मसीह के परिजनों ने प्रेस कांफ्रेंस कर मौजूदा एसएसपी व डीएसपी रैंक के कई अधिकारियों पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे। इन्हीं आरोपों के चलते एसटीएफ ने अदालत में अनवर मसीह की जमानत अवधि बढाए जाने का लगातार विरोध किया। वहीं दूसरी और जमानत याचिका की अवधि ना बढाए जाने से आहत अनवर मसीह ने मंगलवार को आत्महत्या करने के लिए जहर निगल लिया।

अन्य आरोपी अभी हैं जेल में

इस मामले में एसटीएफ ने अनवर मसीह सहित 12 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था। रेड में एसटीएफ ने 188.455 किलो हेरोइन, 38.220 किलो डेक्स्ट्रोमेथोर्फिन पाउडर, 25.865 किलो कैफीन पाउडर और 6 ड्रमों में रखा 207.13 किलो केमिकल जब्त किया। पुलिस ने नौशहरा खुर्द के जिम कोच सुखविंदर सिंह, मेजर सिंह, अफगानी नागरिक अरमान और एक युवती को भी गिरफ्तार किया है। दो लोग सुखबीर और अंकुश कपूर पहले से ही पकड़े जा चुके थे। अरमान बांसल अफगान से हेरोइन की खेप को प्योर करने आया था। इसके बाद पुलिस ने कांग्रेस के सीनियर नेता के बेटे साहिल शर्मा के घर से भी 3 किलोग्राम के करीब हेरोइन बरामद की थी। इसके अलावा मनताज सिंह, इंद्रश कुमार, सुखबीर सिंह हैप्पी, अंकुश कपूर, हनीत पाल सिंह हनी, गगनदीप सिंह और अनवर मसीह के खिलाफ भी मामला दर्ज किया हुआ है। अनवर को छोड़ इस मामले के सभी आरोपी फिलहाल जेल में ही हैं। एसटीएफ से मिली जानकारी के अनुसार इस मामले में जल्द ट्रायल शुरु होने वाला है।

खबरें और भी हैं...