शराब ठेके पर महिलाओं के गुस्से का VIDEO:बोतलें खोल शराब नीचे गिराई, सामान बाहर फेंक ठेके को ताला जड़ा

चंडीगढ़6 महीने पहले

पंजाब में शराब ठेके के खिलाफ महिलाओं का गुस्सा फूट पड़ा। मुकेरियां के गांव सिंगोवाल और बंबेवाल की महिलाएं ठेके पर पहुंची। उन्होंने अंदर पड़ी बोतलें उठाकर बाहर फेंक दी। बोतलें खोलकर शराब बहा दी। इसके बाद सामान बाहर निकालकर ठेके को ताला जड़ दिया। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी सरकार से बदलाव की उम्मीद थी लेकिन ठेकों की ही गिनती बदलकर बढ़ गई। गांव को बर्बाद करने के लिए वह शराब ठेका नहीं खोलने देंगे।

शराब की बोतलें खोल गिराती महिलाएं।
शराब की बोतलें खोल गिराती महिलाएं।

शराब पीने वाले बहन-बेटियों पर तंज कसते हैं
महिलाओं ने कहा कि बहन-बेटी दूध लेने या सैर करने जाती हैं तो बहुत मुश्किल होती है। हमें ठेका मंजूर नहीं। हम यहां ठेका नहीं खोलने देंगे। हमारा गांव पहले ही शराब से बर्बाद हो चुका। आगे कम नशा बिकता है जो यहां ठेका खोल दिया। हमारी बेटियां जाती हैं तो शराबी तंज कसते हैं। यहां तक कि गांव के सरपंच को भी इसके बारे में नहीं बताया गया।

शराब ठेके को ताला लगाती महिला प्रदर्शनकारी।
शराब ठेके को ताला लगाती महिला प्रदर्शनकारी।

लाइब्रेरी, डिस्पेंसरी या जिम खोलो
महिलाओं ने कहा कि आम आदमी पार्टी (AAP) की सरकार यहां कोई लाइब्रेरी खोले तो बच्चे कुछ पढ़ेंगे। डिस्पेंसरी खोले तो लोगों को इलाज मिलेगा। कोई रोजगार देने वाला साधन खोले। यहां जिम खोल दे ताकि नौजवान कसरत कर सकें। शराब ठेका खोल लोगों को बर्बाद क्यों किया जा रहा है?। उन्होंने सीएम भगवंत मान से मांग की कि उन्हें बदलाव के लिए वोट दिया था लेकिन ठेकों की गिनती बढ़ाई जा रही है। वह तुरंत इस ठेके को बंद कराएं।