पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सूफी सिंगर मनमीत सिंह पंचतत्व में विलीन:भावुक हुए भाई किरणपाल, बोले-पता होता यह आफत आएगी तो कभी भी ना जाते धर्मशाला; कई सिंगर भी पहुंचे अंतिम संस्कार में

अमृतसर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अमृतसर में सूफी गायक मनमीत सिंह के अंतिम संस्कार से पहले पार्थिव शरीर को देख भावुक हुए भाई किरणपाल और अन्य। - Dainik Bhaskar
अमृतसर में सूफी गायक मनमीत सिंह के अंतिम संस्कार से पहले पार्थिव शरीर को देख भावुक हुए भाई किरणपाल और अन्य।

सूफी सिंगर मनमीत सिंह का मृतक शरीर बुधवार दोपहर अमृतसर पहुंच गया। शाम 5 बजे उसका दाह संस्कार घनूपुर काले राेड स्थित श्मशान घाट पर किया गया। भाई किरणपाल ने मनमीत को मुखाग्नि दी। मनमीत की इस अंतिम यात्रा में सिंगर मनी लाडा व शहर के कई गणमान्य लोग पहुंचे।

दिवंगत गायक मनमीत सिंह की फाइल फोटो।
दिवंगत गायक मनमीत सिंह की फाइल फोटो।

शव को देख परिवार का बुरा हाल था। पत्नी मनप्रीत कौर और उसके दो बेटे रणबीर व अमितोज का रो-रो कर बुरा हाल है। भाई किरणपाल ने कहा कि अगर इस हादसे का अंदाजा हाेता तो वह कभी जाते ही नहीं। कभी नहीं सोचा था कि भाई उन्हें छोड़कर चला जाएगा। किरणपाल ने वहां के हालातों के बारे में बताया कि ऊपरी जगह होने के कारण उनके फोन भी काम करना बंद हो चुके थे। किसी तरह से उन्होंने गांव वालों की मदद ली। उसके भाई को निकालने में 28 घंटे का समय लग गया। जिसके बाद पुलिस ने अपनी कार्रवाई की और बुधवार को वह अमृतसर पहुंच पाए।

दुनियादारी गीत का पोस्टर, जिससे सैन ब्रदर्स मशहूर हुए थे।
दुनियादारी गीत का पोस्टर, जिससे सैन ब्रदर्स मशहूर हुए थे।