पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Cakes Were Made Cold With Ice Blocks, There Was A Saying Your Watch May Be Deceiving But Not The Frontier Mail

92 साल की हुई गाेल्डन टेंपल:बर्फ की सिल्लियों से ठंडे किए जाते थे काेच, कहावत थी-आपकी घड़ी धोखा दे सकती है पर फ्रंटियर मेल नहीं

अमृतसर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • भारतीय प्रायद्वीप की पहली ट्रेन थी गोल्डन टेंपल जिसमें 1934 में लगाया गया था वातानुकूलित कोच
  • पहले मुंबई के बाॅलार्ड पियर मोल स्टेशन से पेशावर तक चलती थी
  • लंबी दूरी की ट्रेन फ्रंटियर मेल को 1996 में मिला था गाेल्डन टेंपल मेल का नाम

कभी बर्फ की सिल्लियों से कोच को ठंडा करने वाली गोल्डन टेंपल मेल 92 साल की हो गई है। 1 सितंबर 1928 काे शुरू हुई ट्रेन का नाम पहले फ्रंटियर मेल के था। सितंबर 1996 में इसे गोल्डन टेंपल नाम मिला। पहले ट्रेन बॉलार्ड पियर मोल स्टेशन (मुंबई) से दिल्ली, बठिंडा, फिरोजपुर, लाहौर से होते हुए पेशावर जाती थी। 1 मार्च, 1930 से ट्रेन सहारनपुर, अंबाला और अमृतसर होते हुए पेशावर जाने लगी। 1947 के बाद अमृतसर तक चलने लगी। ट्रेन की टाइमिंग काे लेकर कहा जाता था कि आपकी घड़ी धोखा दे सकती है, पर फ्रंटियर मेल नहीं।

ज्यादातर यात्री विदेशी थे, लंदन से हाेती थी बुकिंग

फिरोजपुर मंडल के हेरिटेज अधिकारी एसपी सिंह भाटिया ने बताया कि शुरुआत में इसके अधिकतर ब्रिटिशर थे। ट्रेन के लिए बुकिंग भी लंदन में होती थी। ये भारतीय प्रायद्वीप की पहली ट्रेन थी जिसमें 1934 में वातानुकूलित कोच लगा। बर्फ की सिल्लियां कोच के नीचे ब्लाक में रखकर, ब्लोअर से हवा कोच में भेजकर बोगियों को ठंडा किया जाता था। बर्फ की सिल्लियां नियमित अंतराल में बदली जाती थी।

ट्रेन में भेजे जाते थे टेलीग्राम, पैंट्री कार की थी सुविधा...अगर किसी को टेलीग्राम भेजना होता था तो वे इसी ट्रेन की सेवा लेते थे। गार्ड इसे अगले स्टेशन के स्टेशन मास्टर को दे देते थे। डाउन ट्रेन में एक मेल बॉक्स उपलब्ध कराया गया था जो यूरोप और अमेरिका जाने वाली चिट्ठियों को बॉम्बे से मेल स्टीमर के द्वारा अगले दिन भेजा जाता था। ट्रेन में पैंट्री कार की सुविधा थी।

कोरोना काल में स्पेशल ट्रेन के रूप में दे रही सेवा...कोरोना काल के बीच भी ये स्पेशल ट्रेन के रूप में मंगलवार को मुंबई के लिए रवाना हुई। ट्रेन की रवानगी का यह यादगार लम्हा है, क्योंकि आज के ही दिन यह ट्रेन 92 साल पहले यहीं से शुरू हुई थी।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज किसी समाज सेवी संस्था अथवा किसी प्रिय मित्र की सहायता में समय व्यतीत होगा। धार्मिक तथा आध्यात्मिक कामों में भी आपकी रुचि रहेगी। युवा वर्ग अपनी मेहनत के अनुरूप शुभ परिणाम हासिल करेंगे। तथा ...

और पढ़ें