पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Cases Registered On Three, Including Jail Superintendent, For Taking Bribe From Prisoners And Giving Phone And Medical Facilities

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जेल में रिश्वत का खेल:कैदियों से रिश्वत लेकर फोन और मेडिकल सुविधा देने पर जेल सुपरिंटेंडेंट समेत तीन पर केस दर्ज

संगरूर7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • संगरूर के कोरोना स्पेशल जेल में सुपरिंटेंडेंट, डिप्टी सुपरिंटेंडेंट और जेल वार्डन की मिलीभगत

कोरोना काल के समय दो कैदियों से रिश्वत लेकर 21 दिन से अधिक समय संगरूर स्पेशल जेल में रख जेल नियमों की उल्लंघन करने, मोबाइल और बाहर भेजकर मेडिकल सुविधा मुहैया कराने पर पुलिस ने जेल सुपरिंटेंडेंट बलविन्द्र सिंह, डिप्टी सुपरिंटेंडेंट अमर सिंह व जेल वार्डन गुरप्रताप सिंह के खिलाफ केस दर्ज किया है। एडीजीपी जेल की ओर से मामले की डीआईजी जेल सर्कल पटियाला सुुरिन्द्र सिंह सैणी से जांच कराने के बाद पुलिस को शिकायत भेजी गई थी। इसके बाद पुलिस ने केस दर्ज किया है।

एडीजीपी जेल ने एसएसपी को भेजी गई शिकायत में लिखा है कि कोरोना काल में स्पेशल जेल बनाई गई थी जहां कैदी 21 दिन तक रखे जाते थे और टेस्ट करवाने के बाद उन्हें शिफ्ट करना होता है। लेकिन कमल कुमार उर्फ रोकी व अरुण कुमार उर्फ अरू पिछले चार माह से संगरूर जेल में बंद हैं। जबकि इन्हें 21 दिन बाद दूसरी जेल में शिफ्ट किया जाना था। लेकिन आरोपियों ने इन दोनों कैदियों को ज्यादा दिन तक रखा।

सूचना गलत दी: विभाग को बताया संक्रमितों के संपर्क में आए हैं दोनों कैदी

21 दिन के बाद दूसरी जेल में नहीं भेजे कैदियों को

एडीजीपी जेल ने शिकायत मे लिखा कि कोरोना महामारी के समय कैदियों को रखने के लिए स्पेशल जेल बनाई गई थी। जहां कैदियों को 21 दिन तक रखा जाता था और 21 दिन पूरे होने पर टेस्ट कराकर उन्हें शिफ्ट करना होता है। लेकिन कमल कैदी कुमार व अरुण चार माह से संगरूर जेल में बंद हैं। जबकि इन्हें 21 दिन बाद दूसरी जेल में शिफ्ट किया जाना था। जेल सुपरिंटेंडेंट बलविन्द्र, डिप्टी सुपरिंटेंडेंट अमर सिंह व जेल वार्डन गुरप्रताप सिंह ने अपने पदों का गलत इस्तेमाल करते हुए ज्यादा दिनों तक रखा। कैदियों से पैसे लेकर उन्हें मोबाइल और मेडिकल की सुविधा दी।

पेटीएम और गूगल-पे से रिश्वत लेने की आशंका

मुख्य दफ्तर को बताया गया कि दोनों कैदी पॉजिटिव कैदियों के संपर्क में आए हैं। मुख्य दफ्तर को गलत सूचना भेजकर गुमराह किया गया। कैदियों के पारिवारिक सदस्यों से तालमेल रखकर जेल नियमों की उल्लंघन की गई है। पेटीएम, गूगल पे व बैंक के जरिए पैसों के लेने देन का भी अंदेशा है। इसमें जेल के दूसरे कर्मचारियों हाथ भी हो सकता है।

लीगल राय लेने के बाद पुलिस ने कार्रवाई शुरू की

पुलिस ने लीगल राय लेने के बाद जेल सुपरिंटेंडेंट बलविन्द्र सिंह, डिप्टी सुपरिंटेंडेंट अमर सिंह व जेल वार्डन गुरप्रताप सिंह के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है। डीएसपी सतपाल शर्मा ने बताया है कि जांच की जाएगी कि अधिकारियों ने जिन कैदियों से रिश्वत ली है वह कौन से अपराध में बंद हैं। अभी इसमें किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज परिस्थितियां अति अनुकूल है। कार्य आसानी से संपन्न होंगे। आपका अधिकतर ध्यान स्वयं के ऊपर केंद्रित रहेगा। अपने भावी लक्ष्यों के प्रति मेहनत तथा सुनियोजित ढंग से कार्य करने से काफी हद तक सफलत...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...

  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser