चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी VIDEO केस:लड़की ने वीडियो-फोटो भेजकर फोन से डिलीट किए, लड़के ने स्क्रीनशॉट भेजा तो खुला राज; SSP ने इनकार किया था

चंडीगढ़15 दिन पहले

मोहाली स्थित चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी वीडियो लीक कांड को लेकर पूरी कहानी सामने आ गई है। शक के बाद लड़की को पकड़ा गया तो उसने अश्लील फोटो और वीडियो डिलीट कर दिए। जब हॉस्टल प्रबंधन ने लड़की के मोबाइल से उसके साथी लड़के को मैसेज कर सवाल पूछा तो उसने अश्लील वीडियो का स्क्रीनशॉट भेज दिया।

इसके बाद यूनिवर्सिटी प्रबंधन ने पुलिस के पास शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने इस मामले में आरोपी छात्रा और उसके शिमला के साथी सन्नी पर IPC की धारा 354-C और IT एक्ट के तहत केस दर्ज कर लिया है।

पढ़िए... कैसे हुआ पूरे कांड का पर्दाफाश

आरोपी छात्रा ने अपने साथी लड़के की फोटो हॉस्टल में रहने वाली लड़कियों को दिखाई।
आरोपी छात्रा ने अपने साथी लड़के की फोटो हॉस्टल में रहने वाली लड़कियों को दिखाई।

इस केस में दर्ज पुलिस FIR के अनुसार, शनिवार शाम 3 बजे कुछ लड़कियां हॉस्टल वार्डन राजविंदर कौर के पास पहुंचीं। उन्होंने शक जताया कि आरोपी छात्रा वाशरूम में 6 लड़कियों का वीडियो बना रही थी। वार्डन राजविंदर कौर ने लड़की से पूछताछ की। इसके बाद यूनिवर्सिटी की गर्ल्स हॉस्टल मैनेजर रीतू को इसकी जानकारी दी। रीतू ने इन सबको लेकर आने को कहा।

वार्डन आरोपी छात्रा और शक जताने वाली लड़कियों को लेकर गर्ल्स हॉस्टल मैनेजर के पास पहुंचीं। वहां आरोपी छात्रा से पूछा गया तो उसने फोटो या वीडियो बनाने से इनकार कर दिया। मैनेजर ने दावा किया कि जब उसने आरोपी छात्रा का मोबाइल चेक किया तो उसमें से फोटो और वीडियो डिलीट किए हुए मिले।

आरोपी छात्रा के मोबाइल पर लगातार कॉल और मैसेज आ रहे थे, जिसके बाद मैनेजर को उस पर शक हो गया। मैनेजर ने आरोपी छात्रा को कॉल उठाने को कहा और स्पीकर ऑन करवा लिया। मैनेजर ने छात्रा को कहा कि वह कॉल करने वाले लड़के को कहे कि उसके पास जो फोटो और वीडियो हैं, वह उसे भेजे। यह सुनकर लड़के ने उसे अश्लील वीडियो का स्क्रीनशॉट भेज दिया। मैनेजर ने सख्ती की तो आरोपी छात्रा ने सारी बातें कबूल कीं।

लड़की के मोबाइल में डिलीट किए गए वीडियोज का स्क्रीन शॉट दिखाई दे रहा है।
लड़की के मोबाइल में डिलीट किए गए वीडियोज का स्क्रीन शॉट दिखाई दे रहा है।

आरोपी छात्रा ने कहा कि यह वीडियो मैंने ही बनाया था। मेरा दोस्त सन्नी शिमला में रहता है। उसे ही यह वीडियो भेजा था। यह वीडियो और फोटो दूसरे मोबाइल पर कैसे पहुंच गई, इसके बारे में उसे पता नहीं है। पुष्टि होने के बाद मैनेजर ने इसके बारे में पुलिस को शिकायत कर दी।

मोहाली पुलिस की तरफ से दर्ज की गई FIR की कॉपी, जिसमें पूरा ब्योरा दिया गया है।
मोहाली पुलिस की तरफ से दर्ज की गई FIR की कॉपी, जिसमें पूरा ब्योरा दिया गया है।

अब SSP के दावे पर उठे सवाल
चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में हुई घटना के मामले में पंजाब पुलिस की कार्रवाई पूरी तरह से जल्दबाजी वाली दिख रही है। एक तरफ FIR में गर्ल्स हॉस्टल मैनेजर कह रही है कि लड़की ने आरोप कबूल किया। आरोपी लड़के ने उसे अश्लील स्क्रीनशॉट भी भेजा। इसके बावजूद SSP विवेकशील सोनी का कहना है कि लड़की ने सिर्फ अपनी वीडियो बनाई थी। वही आगे भेजी थी। हालांकि वह यह जरूर दावा कर रहे हैं कि सभी पहलुओं की जांच की जा रही है।

…तो आधी रात में लड़कियों को क्यों ले गए एंबुलेंस में?
चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी (CU) की मैनेजमेंट के साथ-साथ पंजाब पुलिस की रोपड़ रेंज के आईजी गुरप्रीत सिंह भुल्लर और मोहाली के SSP विवेकशील सोनी ने दावा किया कि यूनिवर्सिटी कैंपस में किसी लड़की ने खुदकुशी की कोशिश या इस जैसा कोई कदम नहीं उठाया।

इसके उलट कई वीडियो सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर उपलब्ध हैं जिनमें शनिवार-रविवार दरम्यानी रात में चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी से लड़कियों को एंबुलेंस में ले जाया जा रहा है। वीडियो में अफरातफरी का माहौल नजर आता है।

शनिवार-रविवार देर रात चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में हुए हंगामे के बाद कई लड़कियों को एंबुलेंस में डालकर ले जाया गया।
शनिवार-रविवार देर रात चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में हुए हंगामे के बाद कई लड़कियों को एंबुलेंस में डालकर ले जाया गया।

सवाल ये है कि अगर CU में किसी लड़की को कुछ नहीं हुआ तो उन्हें उठाकर एंबुलेंस में कहां और क्यों ले जाया गया? हालांकि पुलिस अफसर तर्क दे रहे हैं कि कुछ लड़कियां बेहोश हो गई थी। फिर भी पूरे मामले को लेकर CU प्रबंधन और पंजाब पुलिस के दावे सवालों के घेरे में हैं।

वायरल वीडियो केस से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ सकते हैं...

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी VIDEO वायरल केस से डरी छात्राएं, बोलीं- हम भी सेफ नहीं

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में शनिवार देर रात स्टूडेंट्स ने हंगामा किया। प्रदर्शन रविवार को भी जारी है।
चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में शनिवार देर रात स्टूडेंट्स ने हंगामा किया। प्रदर्शन रविवार को भी जारी है।

वीडियो वायरल होने के बाद यूनिवर्सिटी की लड़कियां गुस्से में हैं। छात्राओं का कहना है कि वे हॉस्टल में सुरक्षित नहीं महसूस कर रही हैं। उन्होंने हॉस्टल प्रशासन पर मामले को दबाने की कोशिश करने का आरोप लगाया है। छात्राओं ने कहा कि हॉस्टल प्रशासन ने पैसे देकर मीडिया और पुलिस को वापस भेज दिया। आरोपी लड़की सबके सामने अपनी गलती का कबूलनामा करने वाली थी, लेकिन प्रशासन ने यह भी नहीं होने दिया। यह खबर पढ़ने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं...

हॉस्टल में लड़कियों ने पूछा- ऐसा क्यों किया

वीडियो बनाने वाली छात्रा से हॉस्टल में लड़कियों ने ही पूछताछ की है। इसका भी एक वीडियो सामने आया है। आरोपी छात्रा का कहना है कि उसने ये वीडियो दबाव में बनाया, ज्यादा सवाल होने पर उसने अपने फोन में एक लड़के का फोटो दिखाकर उसे मास्टरमाइंड बताया। वायरल वीडियो कांड के बारे में डिटेल में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

पंजाब पुलिस पर उठे सवाल, बिना आरोपी से पूछताछ 'क्लीन-चिट'

शनिवार-रविवार रात चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी से एंबुलेंस में छात्राओं को ले जाते लोग।
शनिवार-रविवार रात चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी से एंबुलेंस में छात्राओं को ले जाते लोग।

मोहाली पुलिस ने चंद घंटों के अंदर जिस तरह चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी से लड़कियों के नहाने के वीडियो लीक होने से इनकार किया, उसकी वजह से पुलिस-प्रशासन पर सवाल उठ रहे हैं। आरोपी लड़की के बॉयफ्रेंड को हिरासत में लेकर पूछताछ करने या उसके मोबाइल फोन की जांच कराने से पहले ही मोहाली के SSP विवेकशील सोनी ने दावा कर दिया कि लड़की ने सिर्फ अपना वीडियो भेजा था। किसी अन्य लड़की का कोई वीडियो नहीं भेजा गया।

यूनिवर्सिटी मैनेजमेंट ने भी कहा कि किसी छात्रा ने सुसाइड की कोई कोशिश नहीं की। ऐसे में सवाल है कि फिर शनिवार देर रात कुछ छात्राओं को एंबुलेंस में ले जाने की जरूरत क्यों पड़ी। यह खबर पढ़ने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं...

खबरें और भी हैं...