पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Chief Minister Captain Amrinder Singh Announced Financial Help To 10 Year Old Boy Vansh

कैप्टन की दरियादिली:परिवार चलाने के लिए स्कूल छोड़ जुराबें बेचने वाले वंश को देखकर भावुक हुए मुख्यमंत्री; पढ़ाई का खर्च उठाएगी पंजाब सरकार, परिवार की सहायता का ऐलान

लुधियानाएक महीने पहले
वंश से वीडियो कॉल पर बात करते मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह।

गरीबी ने स्कूल छुड़वाया और 10 साल का मासूम पिता के साथ जुराबें बेचने को मजबूर हुआ। लेकिन, एक ग्राहक के ज्यादा पैसे देने की पेशकश ठुकराकर आत्मसम्मान और ईमानदारी का परिचय देने वाले वंश का जज्बा देखकर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह भावुक हो गए।

कैप्टन ने लुधियाना निवासी वंश सिंह की पढ़ाई का खर्चा उठाने का ऐलान किया है। इसके अलावा सरकार की ओर से परिवार को 2 लाख की तत्काल आर्थिक सहायता भी दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने लुधियाना के डिप्टी कमिश्नर को आदेश दिए कि वंश को फिर से स्कूल भेजा जाए।

वंश की अपने परिवार की सहायता के लिए लुधियाना में जुराबें बेचने की वीडियो वायरल हुई थी। मुख्यमंत्री ने वंश की एक कार चालक द्वारा जुराबें की कीमत से अधिक 50 रुपए देने की पेशकश को इंकार करने वाली वीडियो देखने के बाद उससे और उसके परिवार से वीडियो कॉल पर बात की।

कैप्टन को वंश के स्वाभिमान ने प्रभावित किया। वंश की वीडियो को सोशल मीडिया पर लाखों लोगों ने देखा और लोग उसकी ईमानदारी व स्वाभिमान की प्रशंसा कर रहे हैं। वंश का पिता परमजीत भी जुराबें बेचते हैं। उसकी तीन बहनें और एक बड़ा भाई है। परिवार हैबोवाल में किराए के मकान में रहता है।

खबरें और भी हैं...