पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Coming Votes Come Note, You Will Be Able To Open Shops 24 Hours A Day, No New Tax, VAT Not Removed

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

चुनावी बजट:आ रहे वोट- आ लो नोट, सातों दिन 24 घंटे दुकानें खोल सकेंगे, नया टैक्स नहीं, वैट हटाया नहीं

जालंधर/चंडीगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • महिलाओं-स्टूडेंट्स की मुफ्त बस यात्रा के लिए 170 करोड़
  • बुढ़ापा पेंशन 1500 रुपए की, मुलाजिमों को छठा पे-कमीशन देने के लिए 9 हजार करोड़

2022 चुनाव से पहले और कांग्रेस सरकार के कार्यकाल के आखिरी बजट में राज्य के हर वर्ग को लुभाने की कोशिश की गई। बजट में कई बड़ी घोषणाएं की गईं। अब पंजाब की करीब डेढ़ करोड़ महिलाएं सरकारी बसों में मुफ्त यात्रा कर सकेंगी। साथ ही सरकारी स्कूलों के स्टूडेंट्स भी फ्री यात्रा कर सकेंगे।

पंजाब में 24 घंटे दुकानें खोलने जैसी कई बड़ी घोषणाएं भी की गई हैं। किसानों के लिए 3780 करोड़ रुपए की किसान खुशहाल पंजाब स्कीम की नईं घोषणा की गई है, जिसमें 1114 करोड़ रुपए खर्च किया जाएगा। इसके अलावा 1186 करोड़ की कर्ज माफी, 1712 करोड़ की खेतमजदूरों के लिए कर्ज माफी की योजनाएं शामिल हैं।

कपूरथला में 100 करोड़ की लागत से पहला डॉ. आंबेडकर म्यूजियम बनाया जाएगा। सोमवार को वित्त मंत्री मनप्रीत बादल ने कुल 1 लाख 68 हजार 15 करोड़ रुपए का बजट पेश किया। सरकार को वित्त वर्ष में 1 लाख 62 हजार 599 करोड़ रुपए की प्राप्तियां होने की उम्मीद है।

होशियारपुर, अमृतसर और फाजिल्का में कैंसर इंस्टीट्यूट बनाने की घोषणा की गई है। शगुन स्कीम की राशि बढ़ाकर 21 हजार रुपए से 51 हजार रुपए कर दी गई है। मुस्लिम बेल्ट मालेरकोटला में गर्ल्स कॉलेज बनाए जाने का फैसला लिया गया है। वहीं, पंजाब भर के साहित्यकारों को लुभाने के लिए पंजाब साहित्य रत्न अवार्ड की राशि 10 लाख रुपए से बढ़ाकर 20 लाख रुपए कर दी गई है। इसी के साथ-साथ पंजाबी लेखकों की पेंशन को भी 5,000 रुपए से बढ़ाकर 15,000 रुपए कर दिया गया है।

वित्त मंत्री का शायराना अंदाज

आते वक्त

जो यकीन की राह पर चल पड़े उन्हें मंजिलों ने पनाह दी जिन्हें वस-वसों ने डरा दिया वो कदम-कदम पर बहक गए

जाते वक्त

नहीं हूं ना उम्मीद इकबाल अपनी किश्त-ए-वीरां से... जरा नम हो तो यह मिट्टी बड़ी ज़रखेज है साकी...

जानें, इस बजट के क्या हैं पॉलिटिकल मायने

दलित वोट बैंक

मायने, दलित परिवारों की जनसंख्या 32% है, देशभर में ये सर्वाधिक है। दोआबा में इनकी जनसंख्या सर्वाधिक है। डॉ. आंबेडकर जी का म्यूज़ियम इस वोट को साधने की कोशिश है। होशियारपुर में कैंसर इंस्टिट्यूट की घोषणा भी की गई है।

सिख वोट बैंक

मायने, चूंकि 57.69% सिख वोटर हैं। इसलिए श्री गुरु तेग बहादुर जी के 400 साला प्रकाशोत्सव पर 225 करोड़ और गुरु नानक देव जी की 550वीं जयंती पर 432 करोड़ से जीएनडीयू में एक इंटरफेथ संस्थान बनेगा।

माझा-दोआबा पर जोर

मायने, यहां पर जोर इसलिए क्योंकि पिछले चुनाव में यहां से कांग्रेस को 90% सीटें मिली थीं। अमृतसर में कैंसर इंस्टीट्यूट, सबसे बड़े वॉर म्यूजियम का निर्माण, तरनतारन में लॉ यूनिवर्सिटी, प्रदर्शनी सेंटर व गुरदासपुर में मेडिकल कॉलेज बनेगा।

किसान वोट बैंक

मायने, 14 लाख से अधिक किसान परिवार हैं। मालवा में पंजाब के 50% से ज्यादा किसान हैं। इनके लिए 3780 करोड़ की नईं घोषणा है। वहीं, 1186 करोड़ की कर्ज माफी, 1712 करोड़ की खेत मजदूरों के लिए कर्ज माफी शामिल है।

युवाओं पर भी नजर

पाॅलीटेक्निक के मेरिट सूची वाले छात्रों की ट्यूशन फीस में 100% तक छूट देंगे। 2021-22 में 2 लाख छात्रों को 750 करोड़ की पोस्टमैट्रिक स्कॉलरशिप देंगे। स्कूली बच्चों को स्मार्ट फोन के लिए 100 करोड़ का बजट।

हर पंजाबी 98 हजार का कर्जदार

चंडीगढ़, पंजाब सरकार पर कर्ज की अदायगी के बावजूद कर्ज बढ़ता जा रहा है। जहां वर्ष 2020-21 के बजट में पंजाब सरकार पर 2 लाख 52 हजार 880 करोड़ रुपए का कर्ज था, वहीं अगले वर्ष इस कर्ज के बढ़कर 2 लाख 73 हजार 703 करोड़ रुपए का हो जाएगा। जोकि पिछले साल की अपेक्षा 20 हजार 823 करोड़ रुपए अधिक है।

यानी हर पंजाबी 98 हजार रुपए का कर्जदार है। इसी तरह से सूबा सरकार के खजाने पर ब्याज की अदायगी भी 1727 करोड़ रुपए बढ़े और वेतन एवं भत्तों पर भी सरकार का खर्च 1351 करोड़ रुपए बढ़ा है। लेकिन सरकार के लिए एक राहत वाली बात यह है कि रिटायरमेंट एवं पेंशन लाभ लेने पर सरकार का खर्च 1233 करोड़ रुपए घटा है।

सरकार को यह फायदा कर्मचारियों की रिटायरमेंट ऐज 60 से 58 करने पर हुई है। इसके अलावा सरकार को केंद्र से मिलने वाले करों में भी इजाफा हुआ है और सरकार को वित्त वर्ष 2021-22 में राजस्व की प्राप्तियों में भी 23 हजार 216 करोड़ रुपए ज्यादा मिलने की उम्मीद है।

{केंद्र से 12 हजार 27 करोड़ रुपए मिलने की उम्मीद

सूबा सरकार को वित्त वर्ष 2021-22 में केंद्र से अपने हिस्से के 12 हजार 27 करोड़ रु. मिलने की उम्मीद है, जोकि वर्ष 2020-21 के अनुमानों की अपेक्षा 2193 करोड़ रुपए ज्यादा है। वित्त वर्ष 2021-22 में सूबा सरकार को अपने टैक्सों के 37434.04 करोड़ रुपए के अलावा जीएसटी से 16 हजार करोड़ और वैट से 6027.76 करोड़ रुपए मिलने की उम्मीद है। अभी सूबे ने अपने टैक्स टारगेट 35824.45 करोड़ के मुकाबले सिर्फ 30408.80 करोड़, जीएसटी टारगेट 15858.68 के मुकाबले 11522.30 करोड़ रुपए जुटाए हैं।

कोरोना पर 1000 करोड़ खर्च, वायरोलॉजी सेंटर बनेगा

पंजाब सरकार अब मोहाली में वायरोलाॅजी सेंटर बनाएगी। सेंटर में तमाम वायरस की स्टडी होगी। सेंटर मेंे विभिन्न बीमारियों के फैलाव, भविष्य के चैलेंज और नए वायरसों का पता लगाया जाएगा। बजट के अनुसार करीब 1000 करोड़ रुपए कोविड के प्रबंधों पर खर्च हुए हैं। अब नए साल में सेहत सुविधाओं के लिए 3822 करोड़ रुपए आबंटित किए गए हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- ग्रह स्थिति अनुकूल है। मित्रों का साथ और सहयोग आपकी हिम्मत और हौसले को और अधिक बढ़ाएगा। आप अपनी किसी कमजोरी पर भी काबू पाने में सक्षम रहेंगे। बातचीत के माध्यम से आप अपना काम भी निकलवा लेंगे। ...

    और पढ़ें