पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Corona Patient Dead Body Arrived In The Rickshaw And Auto To Crematorium, DC Constituted A Committee

पंजाब में दयनीय हालात:कोरोना से मरने वालों को एंबुलेंस नहीं मिल रहीं; परिजन शव को ऑटो में या साइकिल रिक्शा में लेकर श्मशान घाट पहुंच रहे

लुधियाना5 महीने पहले
ऑटो में कोरोना मृतक का शव लेकर श्मशान पहुंचे परिजन।

कोरोना महामारी के कारण पंजाब निवासियों की हालत दयनीय हो गई है। लुधियाना जिले में सोमवार दोपहर को हृदयविदारक दृश्य देखने को मिला। दरअसल, पंजाब में कोरोना मृतक को श्मशान तक ले जाने के लिए एंबुलेंस तक नहीं मिल रही है। इसी वजह से एक परिवार कोरोना मृतक का शव ऑटो लेकर ढोलेवाल स्थित श्मशान पहुंचा। एक युवक अपनी कोरोना संक्रमित मां का शव रिक्शा पर लेकर पहुंचा।

पीड़ित परिवार का कहना है कि एंबुलेंस नहीं मिल रही थी। सरकारी एंबुलेंस मरीज को लेकर गई थी। NGO की एंबुलेंस भी मरीजों को लाने में व्यस्त थी। प्राइवेट एंबुलेंस की व्यवस्था महंगी है। ड्राइवर ज्यादा पैसे मांग रहे थे, इसलिए ऑटो रिक्शा किराए पर लेकर शव श्मशान घाट पहुंचाया। मोर्चरी कर्मचारियों ने किट में शव पैक करके परिजनों को दे दिया था। दोपहर को ढोलेवाल चौक के निकट श्मशानघाट में अंतिम संस्कार किया गया।

बुग्गी रिक्शा में मां का शव लेकर श्मशान पहुंचा युवक।
बुग्गी रिक्शा में मां का शव लेकर श्मशान पहुंचा युवक।

जीवन नगर इलाके में रहने वाले भगवान शाह (67) बीमार हो गए थे। 23 अप्रैल को उन्हें सिविल अस्पताल लुधियाना में भर्ती कराया गया था। उनका कोरोना टेस्ट किया गया तो रिपोर्ट पॉजिटिव आई। 25 अप्रैल रविवार शाम को भगवान शाह की मौत हो गई। सिविल सर्जन डॉ. सुखजीवन कक्कड़ ने कहा कि कोरोना मृतक का शव इस तरह लेकर जाने देने के निर्देश नहीं हैं और न ही शव परिजन को दिया जाता है।

जो भी हुआ, बिलुकल गलत हुआ है। मामले की जांच की जा रही है। सिविल अस्पताल में शवों को ले जाने के लिए 4 वैन हैं। मृतकों के परिजन खुद शव ले जाने की जिद कर रहे थे। फिर भी इस मामले की जांच की जाएगी और दोषियों के खिलाफ उचित कार्रवाई होगी। जिला मजिस्ट्रेट वरिंदर शर्मा ने कोरोना संक्रमितों के शवों का अंतिम संस्कार करने के लिए एक कमेटी का गठन कर दिया है। 5 सदस्यीय कमेटी में चेयरमैन निगम कमिश्नर को बनाया गया है।