पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Demonstration At 250 Places In Protest Against Agricultural Laws, BJP Leader Joshi Said In Favor Of Farmers Leave Hatha Yoga

कृषि कानूनाें का एक साल पूरा:कृषि कानूनों के विरोध में 250 जगह प्रदर्शन, किसानों के हक में भाजपा नेता जोशी बोले- हठयोग छोड़े पार्टी

पंजाब6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बठिंडा की फोटो। - Dainik Bhaskar
बठिंडा की फोटो।
  • किसान जत्थेबंदियों ने प्रदेश भर में रोष मार्च निकाल पुतले फूंके
  • पुलिस ने कानून-व्यवस्था कायम रखने को भाजपाइयों के घरों के पास बैरिकेड लगाए

पिछले साल 5 जून को केंद्र सरकार कृषि कानूनों को लेकर आई थी, जिसे शनिवार को एक साल पूरा हो गया है। कृषि कानूनों के विरोध में शनिवार को प्रदेशभर में विभिन्न संयुक्त किसान जत्थेबंदियों ने भाजपा के विधायकों/सांसदों के दफ्तरों/घरों के बाहर रोष प्रदर्शन कर कृषि कानूनों की 250 जगह प्रतियां जलाईं और 5 जून को संपूर्ण क्रांति दिवस के तौर पर मनाने का ऐलान किया।

होशियारपुर जिले में सुबह 10 बजे से 4, बटाला, गुरदासपुर में 10, रोपड़ जिले में 3, कपूरथला जिले में 3, नवांशहर में 3, पठानकोट कोट में एक जगह प्रदर्शन किया। लुधियाना में अलग-अलग किसान संगठनों ने लुधियाना, खन्ना, जगरांव, माछीवाड़ा, समराला, रायकोट, अहमदगढ़ में विरोध प्रदर्शन किया।

अमृतसर में हाथी गेट स्थित भाजपा के जिला मुख्यालय के बाहर करीब 600 किसानों ने कानूनों की प्रतियां फूंकी। डेढ़ घंटे तक चले प्रदर्शन में किसानों ने केंद्र सरकार के खिलाफ खूब नारेबाजी की। अमृतसर जिले में 15 तरनतारन जिले में 11 जगह प्रदर्शन किए गए।

फाजिल्का, फिरोजपुर, संगरूर, बरनाला, मोगा, मलोट समेत कई शहरों में रोष प्रदर्शन हुआ। पुलिस ने कानून-व्यवस्था कायम रखने को पुख्ता सुरक्षा प्रबंध कर रखे थे। भाजपा नेताओं के घरों के पास बैरिकेड लगा रखे थे।

ऊंचे पदों पर बैठे लोगों को किसानों के दर्द का पता नहीं: जोशी

अमृतसर कृषि कानून के खिलाफ जारी किसान आंदोलन के बीच भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व कैबिनट मंत्री अनिल जोशी ने अपनी ही पार्टी के खिलाफ खड़े होकर किसानों के हक में आवाज बुलंद की है।

उनका कहना है कि ऊंचे पदों पर बैठे लोगों को किसानों के दर्द का पता नहीं है। उनका यह भी कहना है कि हठयोग पार्टी को आने वाले 2022 के चुनावों में भारी पड़ सकता है। मैंने केंद्र और पंजाब के नेताओं से तीनों कृषि कानूनों के बारे में चर्चा की लेकिन, सबने मेरी बात को नजरअंदाज किया है।

बठिंडा में किसानों से पहले भाजपा का प्रदर्शन, हिरासत में

बठिंडा भाजपा की ओर से फायर ब्रिगेड चौक पर कांग्रेस पर कोरोना दवाएं बेचने के आरोप लगाते हुए शनिवार को किए जा रहे रोष प्रदर्शन को खदेड़ने के लिए हजारों किसानों के काफिले ने दो घंटे तक माल रोड पर धरना प्रदर्शन करके जाम लगाया। हालांकि किसानों के आने से पहले भाजपा नेता आशुतोष तिवारी व संदीप अग्रवाल को पुलिस ने राउंड करके ले गई। इसके बाद हजारों महिला-पुरुष किसान फायर ब्रिगेड चौक पहुंचे और धरना लगा दिया। किसानों ने केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और कृषि कानून की कापियां जलाईं।

खबरें और भी हैं...