• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Farmers Said Now Trains Will Stop All Over The Country; Railways Canceled 4 Trains Coming To Punjab, 4 Divert

किसान आंदोलन तेज:किसान बोले- अब देशभर में ट्रेनें रोकेंगे; रेलवे ने पंजाब आने वालीं 4 ट्रेनें रद्द कीं, 4 डायवर्ट

जालंधर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जत्थेबंदियाें ने कहा- वार्ता बंद नहीं हुई, सरकार घुमा रही

नए कृषि कानूनों को रद्द कराने के लिए किसान अब ट्रेनें रोकेंगे। सिंघु बॉर्डर पर वीरवार को किसान नेता बूटा सिंह ने कहा कि कानूनों को रद्द करने के संबंध में अब तक कोई फैसला नहीं हुआ, इसलिए अब प्रदर्शनकारी रेलवे ट्रैक पर आएंगे। ट्रैक कब से घेरे जाएंगे जल्द ही इसकी घोषणा की जाएगी। वहीं, वीरवार देर शाम रेलवे ने पंजाब को आने वाली 4 ट्रेनें रद्द कर दी और 4 के रूट डायवर्ट कर दिए।

किसान नेता बलबीर सिंह राजेवाल ने कहा कि जब कृषि राज्य का विषय है तो केंद्र सरकार इस पर कानून कैसे ला सकती है। दूसरी ओर, नए संसद भवन की नींव रखने के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने सिखों के प्रथम गुरु द्वारा कहे गए कुछ वचन दाेहराए। मोदी ने कहा कि गुरु नानक देव जी ने कहा है- ‘जब तक दुनिया रहे, तब तक संवाद चलते रहना चाहिए।’

लोकतंत्र में आशावाद को जगाए रखना, हमारा दायित्व है। वाद-संवाद संसद के भीतर हो या संसद के बाहर, राष्ट्रसेवा का संकल्प, राष्ट्रहित के प्रति समर्पण लगातार झलकना चाहिए। वहीं, किसानों से केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने किसानों से प्रदर्शन खत्म करने की अपील की। उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से किसानों को एक प्रस्ताव बनाकर भेजा गया था। इसमें किसानों के सभी सवालों का जवाब दिया गया था। फिर भी वे किसी निर्णय पर नहीं पहुंच पा रहे हैं, इसका मुझे कष्ट है। मैं किसानों को भरोसा देता हूं कि एमएसपी जारी रहेगी।

रेलवे ने ये ट्रेनें रद्द कीं

रेलवे ने 4 ट्रेनों को रद्द और 4 को डायवर्ट करने का फैसला किया है। रेलवे द्वारा जारी जानकारी के अनुसार 11 दिसंबर को सियालदह-अमृतसर और 13 दिसंबर को अमृतसर-सियालदह स्पेशल ट्रेन रद्द रहेगी। इसी तरह 11 दिसंबर को डिब्रूगढ़-अमृतसर और 13 दिसंबर को अमृतसर-डिब्रूगढ़ ट्रेन रद्द रहेगी। 10 दिसंबर को मुंबई सेंट्रल-अमृतसर और अमृतसर-मुंबई सेंट्रल ब्यास-तरनतारन के रास्ते चलाई जाएगी। जयनगर-अमृतसर और अमृतसर-जयनगर भी ब्यास-तरनतारन के रास्ते चलेगी।

सरकार व किसान बातचीत को तैयार, दोनों को पहल का इंतजार

सरकार और किसान वार्ता को तैयार हैं पर एक-दूसरे की पहल का इंतजार है। कृषि मंत्री ने कहा कि जब चर्चा जारी है तो आंदोलन के अगले चरण की घोषणा ठीक नहीं। अभी वार्ता टूटी नहीं है। किसान जब भी कहेंगे हम चर्चा को तैयार हैं। वहीं, किसान नेताओं ने कहा कि हमने बातचीत का रास्ता बंद नहीं किया। सरकार के दूसरे प्रस्ताव पर विचार करेंगे।

खबरें और भी हैं...