पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Farmers Take Out Fury March, Protest At The Gate Of Mini Secretariat, Police Refuse To Arrest

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

धरना:किसानों ने रोष मार्च निकाल मिनी सचिवालय के गेट पर दिया धरना, पुलिस ने गिरफ्तार करने से किया इनकार

रोपड़7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 200 किसान महाराजा रणजीत सिंह बाग में हुए इकट्‌ठा, मिनी सचिवालय पहुंचने पर प्रशासन ने गेट बंद कर रोका तो दिया धरना

शुक्रवार को सेंटर ऑफ इंडियन ट्रेड यूनियन (सीटू) के आह्वान पर केंद्र सरकार की ओर से पास किए तीन कृषि कानून व बिजली बिल-2020 के विरोध में मजदूर जत्थेबंदियों के 200 के करीब मजदूर व किसान गिरफ्तारियां देने के लिए महाराजा रणजीत सिंह बाग में पहुंचे और रोष व्यक्त किया। इस दौरान 12 बजे के करीब लगाए गए धरने के उपरांत 1 बजे मजदूर गिरफ्तारियां देने के लिए मिनी सचिवालय में पहुंचे, लेकिन प्रशासन की ओर से पहले ही गेट बंद कर दिए गए।

इसके चलते प्रदर्शनकारियों ने सचिवालय के गेट पर बैठकर करीब आधा घंटा धरना-प्रदर्शन किया दिया और मोदी सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने एलान किया कि 13 जनवरी को बेला चौक में तीनाें कृषि कानूनों की कापियां जलाने के साथ-साथ केंद्र सरकार का पुतला फूंका जाएगा।

किसान नेता बोले- केंद्र सरकार ने कोरोना की आड़ में कृषि कानून पास कर संघर्ष के लिए किया मजबूर

नेताओं ने कहा कि खेती कानूनों को रद्द करने की मांग को लेकर पिछले 26 नवंबर से किसान दिल्ली में लगातार संघर्ष कर रहे हैं और जिनको आज 44 दिन का समय हो चुका है और इस दौरान 60 के करीब किसान जान गंवा चुके हैं। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के बनाए हुए किसान विरोधी कानूनों के साथ किसान ही नहीं आम लोग भी प्रभावित होंगे। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार का लक्ष्य है कि देश को कार्पोरेट घरानों को बेचना, जिसकी उदाहरण पेट्रोलियम, एलआईसी, देश के बैंक, हवाई अड्‌डे समेत जहाज, रेले आदि हैं। उन्होंने कहा कि देश की आर्थिकता में अपना अहम योगदान देने वाले अदारों को देशी-विदेशी कार्पोरेट घरानों को बेचने के बाद अब किसानों को मजदूर बनाने के लिए किसान विरोधी तीन काले कानून, बिजली बिल-2020 और मजदूरों को गुलाम बनाने के लिए मजदूर पक्ष के 44 श्रम कानूनों को बिल के नाम पर बगैर पार्लियामेंट में लाए 4 कोड में बदलकर मजदूरों को गुलाम बनाने का रास्ता पकड़ा है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने कोरोना की आड़ में खेती कानून पास किए और जिसके विरोध में सभी किसानों, मजदूरों को संघर्ष करने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। जत्थेबंदियों द्वारा किसान विरोधी कानूनों को रद्द करने और मजदूरों के पक्ष में 44 कानून जो कि खत्म किए गए हैं बहाली की मांग की गई।

ये रहे मौजूद | इस मौके पर सीटू जिला नेता सुरजिंदर कौर सीमा, अवतार कौर, सरबजीत कौर, कुल हिंद किसान सभा जिला अध्यक्ष कामरेड सुरजीत सिंह ढेर, भजन सिंह संदोए, बिकर सिंह, संतोख सिंह, कुल हिंद खेत मजदूर यूनियन के जिला महासचिव गीता राम भारती, किसान यूनियन नेता चरन सिंह मुंडीया, पूर्व एसडीए जगदीश लाल, किसान नेता गुरमेल सिंह बाड़ा, करनैल सिंह, सुखवीर सिंह, सतनाम सिंह माजरी जट्‌टा, प्रेम जट्‌टपुर, गुरनाम दास, शाम लाल, कामरेड गुरदेव सिंह बागी व अन्य मजदूर उपस्थित थे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज परिस्थितियां अति अनुकूल है। कार्य आसानी से संपन्न होंगे। आपका अधिकतर ध्यान स्वयं के ऊपर केंद्रित रहेगा। अपने भावी लक्ष्यों के प्रति मेहनत तथा सुनियोजित ढंग से कार्य करने से काफी हद तक सफलत...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...

  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser