पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Fatehgarh Sahib Police Solved The Case Of Dead Body Found Near The College At Sirhind, Accused Also Arresred

हत्या के राज से उठा पर्दा:नवांशहर के ट्रक ड्राइवर की सरहिंद में मिली थी अधजली लाश, गुम हुए मोबाइल को छिपाने के शक में साथी क्लीनर ने ली जान

फतेहगढ़ साहिब4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस की गिरफ्त में फतेहगढ़ साहिब जिले की हद में हत्या करके नवांशहर के ट्रक ड्राइवर की लाश को जलाने का अमृतसर निवासी आरोपी। - Dainik Bhaskar
पुलिस की गिरफ्त में फतेहगढ़ साहिब जिले की हद में हत्या करके नवांशहर के ट्रक ड्राइवर की लाश को जलाने का अमृतसर निवासी आरोपी।

नेशनल हाईवे नंबर 1 पर सरहिंद में ट्रक ड्राइवर की हत्या किए जाने की वजह को पुलिस ने बेपर्दा कर दिया है। उसकी जान किसी और ने नहीं, बल्कि उसके अपने साथी ने ही ली थी। गिरफ्तार किए जाने के बाद पुलिस पूछताछ में उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। उसने बताया कि मोबाइल फोन गुम हो जाने पर उसे साथी ड्राइवर द्वारा छिपाए जाने का शक था, इसी के चलते उसने रॉड मारकर उसकी हत्या कर दी। पुलिस ने आरोपी क्लीनर को फिलहाल दो दिन के रिमांड पर लिया है।

बता दें कि 28 अप्रैल को सरहिंद में GT रोड पर स्थित कॉन्टीनेंटल कॉलेज के पास झाड़ियों से एक अधजला शव मिला था। कॉन्टीनेंटल ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट के प्रबंधकीय प्रभारी तनवीर सिंह ने पुलिस को सूचना दी थी कि उनके कॉलेज के पास झाड़ियों में अज्ञात शव पड़ा है। पहचान छिपाने के लिए शव पर कंबल लपेटकर आग भी लगाई गई थी, जिसके चलते शव 50 फीसदी से ज्यादा जल चुका था। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव के पास लोहे की रॉड और सिर पर बांधने वाला पटका भी बरामद किया था।

सरहिंद मे कॉन्टीनेंटल कॉलेज के पास शव का मुआयना करती मौके पर पहुंची पुलिस।
सरहिंद मे कॉन्टीनेंटल कॉलेज के पास शव का मुआयना करती मौके पर पहुंची पुलिस।

SSP अमनीत कौंडल ने इस मामले की जांच के लिए DSP मनजीत सिंह, सरहिंद SHO गुरइकबाल सिंह सिकंद और नबीपुर चौकी प्रभारी की अगुवाई में विशेष टीम का गठन किया। जांच के दौरान मृतक की पहचान नवांशहर जिले के गांव रुड़की चांदपुर के ट्रक चालक ओमपाल के रूप में हुई, वहीं पाया कि उसकी हत्या उसी के साथ ट्रक पर हेल्पर के तौर पर काम करते अमृतसर के रोहित शर्मा ने की थी।

DSP मनजीत सिंह ने बताया कि लुधियाना से फरीदाबाद माल ले जाते समय ओमपाल और रोहित निर्मल ढाबा सरहिंद में रुके थे। वहां रोहित का मोबाइल फोन गुम हो गया। रोहित को शक था कि ओमपाल ने उसका फोन छिपाया है। इस बात को लेकर दोनों में तकरार हो गई थी और ओमपाल ने रोहित को थप्पड़ भी मारा। जब दोनों ट्रक में जा रहे थे तो गुस्से में आकर रोहित ने ओमपाल को धक्का मार दिया तो वह खिड़की से सड़क पर गिर गया। सिर में चोट के बाद रोहित ने टायर बदलने वाली लोहे की रॉड से हमला कर दिया था, जिससे ओमपाल की मौत हो गई। वारदात के बाद रोहित ट्रक को निर्मल ढाबे पर खड़ा करके भाग गया। शुक्रवार को पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। शनिवार को कोर्ट में पेश करके 2 दिन के रिमांड पर लिया है।

खबरें और भी हैं...