पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Himachal Can Be Connected With The Consignment Of Remedisvir From Ropar Canal, The Company Was Caught Last Month, Both Near The Highway And The Canal.

पंजाब में नहर में पड़े मिले रेमडेसिविर:हिमाचल में पकड़ी गई नकली इंजेक्शन बनाने वाली कंपनी से हो सकता है कनेक्शन; मध्य प्रदेश में पकड़ा गया था आरोपी

चंडीगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रोपड़ के चमकौर साहिब इलाके में भाखड़ा नहर में पुल के पास दवाओं की खेप मिली है। इनके नकली होने की आशंका है। - Dainik Bhaskar
रोपड़ के चमकौर साहिब इलाके में भाखड़ा नहर में पुल के पास दवाओं की खेप मिली है। इनके नकली होने की आशंका है।

कोरोना के बीच एक तरफ जहां रेमडेसिविल इंजेक्शन की कमी पड़ रही है, वहीं पंजाब के रोपड़ में रेमेडिसिविर 671 इंजेक्शन नहर में पड़े मिले हैं। आशंका है कि इंजेक्शन की इस खेप का कनेक्शन हिमाचल प्रदेश में पकड़ी गई डुप्लीकेट रेमडेसिविर बनाने वाली कंपनी से हो सकता है।

सूत्रों के मुताबिक जिस जगह यह इंजेक्शन मिले हैं, उसका नेशनल हाईवे और नहर के जरिए हिमाचल प्रदेश में उस कंपनी की लोकेशन से सीधा जुड़ाव है। ऐसे में इस बात की आशंका है कि कंपनी सील होने के बाद कहीं दूसरी जगह रखी खेप को भी छापेमारी के डर से ठिकाने लगाने की कोशिश की गई होगी।

  • 15 अप्रैल को मध्य प्रदेश के इंदौर में पकड़ा गया डॉ. विनय त्रिपाठी हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले के सूरजपुर में ट्यूलिप फॉर्मूलेशन प्राइवेट लिमिटेड कंपनी चला रहा था। यहां बिना परमिशन के रेमडेसिविर इंजेक्शन बनाए जा रहे था। इस कंपनी वाले इलाके से हिमाचल-चंडीगढ़ हाईवे और भाखड़ा नहर सीधे जाती है।
  • हरियाणा में पकड़े गए नकली रेमडेसिविर के किंगपिंन से भी इसका कनेक्शन हो सकता है। इसकी आशंका जताते हुए शिरोमणि काली दल के उपाध्यक्ष डॉ. दलजीत सिंह चीमा ने कहा कि इसकी जांच होनी चाहिए।
  • ड्रग इंस्पेक्टर तेजिंदर सिंह ने बताया कि रेमडेसिविर इंजेक्शन सात कंपनियां बनाती हैं। सातों कंपनियों का रोपड़ में कोई स्टॉकिस्ट नहीं है।

इन बातों से भी उठ रहे सवाल

  • भाखड़ा नहर में बरामद रेमडेसिविर इंजेक्शन में बैच नंबर REM121006A लिखा है। इसके बनने की तारीख 3-2021 और एक्सपायरी डेट 11-2021 लिखी है।
  • 100 एमएल की वायल 5400 रुपए की है, जबकि अब दवा का दाम कंपनी ने 3400 रुपए तय कर दिया है।
  • स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की मानें, तो हेटरो कंपनी के बनाए इन इंजेक्शन की नहर से मिली वायल पर RX नहीं लिखा है।
  • शब्दों का तालमेल भी सही नहीं है। तेलंगाना राज्य में बनी इस दवा में तेलंगाना के शब्द में गलती है। कई जगह पर एल्फाबैट कैपिटल नहीं हैं।
भ्यौरा पुल के पास नहर से दवाओं को निकालती पुलिस।
भ्यौरा पुल के पास नहर से दवाओं को निकालती पुलिस।

ड्रग इंस्पेक्टर तेजिंदर सिंह ने बताया कि रेमडेसिविर के 671 इंजेक्शन नहर में मिले हैं। शुरुआती जांच में ये नकली लग रहे हैं। लेकिन इसकी पुष्टि के लिए जांच चल रही है। इस दौरान 1,456 से भी अधिक एंटीबायोटिक इंजेक्शन सैफापेराजोन भी मिले हैं। 849 बिना लेवल वाले इंजेक्शन भी हैं, जिनके प्रिंट पानी में धुल चुके थे।

खबरें और भी हैं...