पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

खेल-खेल में दर्दनाक हादसा:लुधियाना में पतंग पकड़ रही बहन की गोद से छूटकर तीसरी मंजिल से गिरने से ढाई साल की बच्ची, अस्पताल पहुंचने से पहले मौत

लुधियाना9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
डॉक्टरों ने बच्ची को PGI चंडीगढ़ रेफर कर दिया और अस्पताल पहुंचने से पहले रास्ते में ही उसकी मौत हो गई। - Dainik Bhaskar
डॉक्टरों ने बच्ची को PGI चंडीगढ़ रेफर कर दिया और अस्पताल पहुंचने से पहले रास्ते में ही उसकी मौत हो गई।

पंजाब के लुधियाना जिले में कश्मीर नगर इलाके में खेल-खेल में एक बच्ची की जान चली गई। हादसा पतंग पकड़ने के दौरान हुआ। बहन की गोद से छूटकर ढाई साल की बच्ची तीसरी मंजिल से नीचे गिर गई। बच्ची जिस बहन की की गोद में थी, वह पतंग पकड़ने का प्रयास कर रही थी हादसे में बच्ची बुरी तरह घायल हो गई। बच्ची को गंभीर हालत में सिविल अस्पताल ले जाया गया। लेकिन डॉक्टरों ने उसे PGI चंडीगढ़ रेफर कर दिया और अस्पताल पहुंचने से पहले रास्ते में ही उसकी मौत हो गई। अस्पताल प्रशासन ने हादसे की जानकारी थाना डिवीजन नंबर 3 की पुलिस को दी।

बच्ची की मां प्रियंका ने बताया कि वह कश्मीर नगर क्षेत्र में विजय प्रधान के बेहड़े में किराए पर रहती है। उसकी तीन बेटियां हैं। पति राजेश मजदूरी करते हैं। वे मूलरूप से बिहार के दरभंगा जिला के रहने वाले हैं। उनकी बड़ी बेटी छोटी बहन को लेकर तीसरी मंजिल पर खेल रही थी। वह बच्चियों के लिए बिस्किट लेने गई थी। जब वापस आई तो घर के बाहर गली में भीड़ जमा देखी। भीड़ के बीच जाकर देखा तो उसकी बेटी स्वीटी खून से लथपथ पड़ी है। वह उसे तुरंत अस्पताल लेकर पहुंची, लेकिन उसकी जान नहीं बचाई जा सकी।

बच्चियों के दादा वीरू ने बताया कि मृतक बड़ी बहन की गोद में थी। पतंग पकड़ने के दौरान बहन का पैर फिसल गया और वह गिर गई। इस दौरान उसकी गोद से छूटकर स्वीटी नीचे गली में गिर गई। सिविल अस्पताल की इमरजेंसी में ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर गुरमेहर कौर ने बताया कि बच्ची की हालत बहुत गंभीर थी। इसलिए उसे रेफर किया गया था, लेकिन बचाया नहीं जा सका।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां आपको कई सुअवसर प्रदान करने वाली हैं। इनका भरपूर सम्मान करें। कहीं पूंजी निवेश करने के लिए सोच रहे हैं तो तुरंत कर दीजिए। भाइयों अथवा निकट संबंधी के साथ कुछ लाभकारी योजना...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser