पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • In The Dharna, People Of 20 Villages Took Over The Responsibility Of Langar, 2 Times Food, Three Times Tea And Milk At Night, Advance Booking Up To 20

कृ़षि कानूनों का विरोध:धरने मेंं 20 गांव के लोगों ने संभाली लंगर की जिम्मेदारी, 2 समय खाना तीन टाइम चाय और रात को दूध भी दे रहे, 20 तक की एडवांस बुकिंग

होशियारपुर7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
लाचोवाल टोल प्लाजा पर दोपहर का लंगर लेने के लिए कतार में बैठे किसान।
  • कृषि कानून के विरोध में जिले में 5 जगह चल रहे धरनों के दौरान गांव वालों का सेवाभाव
  • 20 अक्टूबर तक चलेगा धरना, जत्थेबंदियां गांववालों से कर रहीं सेवा के लिए इंतजार की अपील

(गुरप्रीत बैंस) केंद्र सरकार की तरफ से लाए गए कृ़षि कानूनों के विरोध में जिले अंदर 4 टोल पलाजा समेत फगवाड़ा रोड पर रिलायंस पेट्रोल पंप पर चल रहे कुल 5 किसान धरनों में बैठे किसान नेताओं और किसानों को लंगर पहुंचाने के लिए 20 गांव के लोग आगे आए हैं। 20 अक्टूबर तक सभी 5 धरना स्थलों पर 2 समय का लंगर, 3 समय की चाय-बिस्किट और रात के समय दूध पहुंचाने की सेवा गांव के लोग ले चुके हैं।

हालात यह हैं कि धरने पर बैठे किसान नेता लंगर की सेवा देने पहुंच रहे गांववासियों से कह रहे हैं कि 20 अक्टूबर तक सभी प्रबंध हो चुके हैं और अगर किसान जत्थेबंदियों की तरफ से संघर्ष को 20 अक्टूबर से आगे ले जाने का ऐलान किया गया तो उन गांवों को भी सेवा का मौका दिया जाएगा, जिन्हें अब तक नहीं मिला है। हर लंगर में 25 से 50 लोगों का खाना रहता है।

सुबह 10 से 11 बजे तक दिया जाता है लंगर
सुबह सबसे पहले धरना दे रहे किसानों को संबंधित गांव के लोग चाय और साथ में बिस्किट-ब्रेड की सेवा पहुंचा रहे हैं। 10 से 11 बजे के बीच लंगर दिया जाता है, जिसमें एक सब्जी-दाल और दही रहता है। दोपहर एक बजे चाय आती है और शाम 6 से 7 बजे के बीच रात का लंगर पहुंचता है, जिसमें दाल-सब्जी और रोटी होती है। इसके बाद रात 9 बजे के लगभग दूध की सेवा पहुंचती है। वहीं, इलाके से जुड़े मेडिकल स्टोर मालिक और डाॅक्टर भी दवाइयों की सेवा जरूरत मुताबिक दे रहे हैं।

पार्टीबाजी से उपर उठें लोग
किसानी बिलों के विरोध में भले ही पंजाब के बड़े सियासी दल आमने-सामने हैं, लेकिन गांवों में ऐसा कुछ नहीं है। यही वजह है कि धरनों पर बैठे किसानों के लिए लंगर-पानी समेत जरूरी सामान का प्रबंध पंचायतें कर रही हैं, जो अलग-अलग सियासी पार्टियों से जुड़ी हुई हंै लेकिन किसानों से कंधा मिलाकर चल रही हैं। सरपंच परविंदर सिंह सज्जनां और गुरदीप सिंह खुनखुन ने कहा कि धरनों पर बैठे किसानों के लिए अकाली-कांग्रेसी और आप से जुड़े लोग भी लंगर लेकर पहुंच रहे हैं।

एनआरआई भी आए आगे
किसानी बिलों के विरोध में विदेशों में भी पंजाबी केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। वहीं, जिले समेत सूबे में चल रहे किसान धरनों में भी एनआरआई पंजाबी अपने यहां रह रहे पारिवारक सदस्यों के हाथों मदद पहुंचा रहे हैं। किसान नेता हरपाल सिंह संघा ने कहा कि विदेशों में रहने वाले पंजाबियों के मन में आज भी अपने पंजाब के लिए दर्द है। यही वजह है कि वे किसानी बचाने को आर्थिक मदद भी कर रहे।

किसान नेता गुरदीप सिंह खुनखुन, परविंदर सिंह सज्जनां, गुरपाल सिंह लाचोवाल, तजेंदर सिंह असलपुर ने बताया कि लाचोवाल टोल प्लाजा पर 20 अक्टूबर तक लंगर की सेवा बुक हो चुकी है, आसपास के 20 से अधिक गांवों लाचोवाल, सटियाना, असलपुर, सज्जनां, अखलासपुर, नंगल, वाहिद, चक्कोवाल, पथियाल, नैनोवाल, शेरपुर, हरगढ़, सांधरा, चक्क राजू गांवों में सेवा बांटी गई है और अगली सेवा की जिम्मेवारी 20 अक्टूबर के बाद सौंपी जाएगी। इसी तरह नंगल शहीदा टोल प्लाजा पर लंगर की सेवा श्री गुरु रामदास लंगर सेवा पुरहीरां, चब्बेवाल, बिहाला, राजपुर सेनिया, चगगरा, गुरद्वारा हरिया बेलां, मेहना, बसी आदि गांवों ने संभाली है। इसी तरह दसूहा और मानेसर टोल प्लाजा पर भी आसपास के गांवों की 20 अक्टूबर तक सेवा बुक है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- पिछले कुछ समय से आप अपनी आंतरिक ऊर्जा को पहचानने के लिए जो प्रयास कर रहे हैं, उसकी वजह से आपके व्यक्तित्व व स्वभाव में सकारात्मक परिवर्तन आएंगे। दूसरों के दुख-दर्द व तकलीफ में उनकी सहायता के ...

और पढ़ें