पंजाब में माहौल बिगाड़ने की साजिश:​​​​​​​फरीदकोट में सेशन जज के घर की दीवार पर लिखा 'खालिस्तान जिंदाबाद'; पुलिस ने पेंट कर मिटाया

चंडीगढ़6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पंजाब के फरीदकोट में सेशन जज की कोठी के बाहर 'खालिस्तान जिंदाबाद' के नारे लिखे मिले हैं। हालांकि, इसका पता चलते ही पुलिस ने काले रंग के पेंट से नारे मिटा दिए। फरीदकोट में इससे पहले भी पार्क की दीवार पर यही नारे लिखे हुए थे। पंजाब में लगातार माहौल बिगाड़ने की साजिश की जा रही है।

फरीदकोट की SSP अवनीत कौर सिद्धू ने कहा कि सिख फॉर जस्टिस (SFJ) के सरगना गुरपतवंत सिंह पन्नू ने इसकी जिम्मेदारी ली है। उसने वीडियो जारी किया है, जिसमें घर की दीवारों पर नारे लिखे दिखाई दे रहे हैं। मामले की जांच की जा रही है।

फरीदकोट में सेशन जज के घर की दीवार पर लिखे खालिस्तान जिंदाबाद के नारे, जिसे काले पेंट से ढक दिया गया है।
फरीदकोट में सेशन जज के घर की दीवार पर लिखे खालिस्तान जिंदाबाद के नारे, जिसे काले पेंट से ढक दिया गया है।

CCTV खंगालने में जुटी पुलिस
सेशन जज के घर के बाहर खालिस्तान जिंदाबाद के नारे लिखे होने का पता चलते ही फरीदकोट पुलिस हरकत में आ गई। तुरंत पूरे शहर में नाकाबंदी कर दी गई है। इसके अलावा सेशन जज की कोठी को आते-जाते रास्ते की CCTV फुटेज खंगाली जा रही है। हालांकि, अभी तक पुलिस के हाथ कोई ठोस सुराग नहीं मिला है।

इससे पहले फरीदकोट में पार्क की दीवार पर यह नारे लिखे गए थे। जिसे बाद में मिटा दिया गया।
इससे पहले फरीदकोट में पार्क की दीवार पर यह नारे लिखे गए थे। जिसे बाद में मिटा दिया गया।

पहले पार्क की दीवार लिखे थे नारे
इससे पहले फरीदकोट की बाजीगर बस्ती के पार्क में खालिस्तान जिंदाबाद के नारे लिखे मिले थे। नगर कौंसिल के सफाई कर्मचारी ने सबसे पहले इसे देखा और तुरंत पुलिस को सूचना दी। जिसके बाद नारे को पेंट से मिटा दिया गया।

पटियाला में खालिस्तान विरोधी मार्च पर हो चुकी हिंसा
पटियाला में खालिस्तान विरोधी मार्च पर हिंसा हो चुकी है। शिवसेना के मार्च का कुछ सिख संगठन ने विरोध जताया। जिसके बाद हालात बिगड़ गए और दोनों तरफ से पत्थरबाजी हो गई। हालांकि, पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज कर मुख्य आरोपियों को पकड़ लिया।