पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नोटिस:माई हीरां गेट में किरण बुक शॉप और कॉमर्शियल बिल्डिंग निगम ने की सील

जालंधर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • टीम ने कहा- बिना मंजूरी के हो रहा था निर्माण, नोटिस के बाद भी काम नहीं रोका

अवैध निर्माण को लेकर एक बार फिर निगम के बिल्डिंग ब्रांच ने कार्रवाई की है। एटीपी वजीर सिंह की अगुआई वाली टीम ने निगम पुलिस बल के साथ शुक्रवार तड़के ही माई हीरां गेट स्थित किरण बुक शॉप को सील कर दिया। साथ ही उसके पीछे रिहायशी निर्माण को गिराकर बनाई जा रही कॉमर्शियल बिल्डिंग को भी सील कर दिया है। वजीर सिंह ने बताया कि किरण बुक शॉप के निर्माण के लिए कोई मंजूरी नहीं ली गई थी और न ही कोई नक्शा पास कराया है। शॉप के पीछे रिहायशी निर्माण को गिराकर हॉल की तरह कॉमर्शियल निर्माण हो रहा था, उसे भी सील किया गया है।

दोनों बिल्डिंग के आगे और पीछे के गेट को सील कर नोटिस चिपका दिया गया है। एटीपी ने बताया कि आशंका है शॉप का मालिक ही पीछे की तरफ कॉमर्शियल निर्माण कर पुरानी दुकान से अटैच करने की तैयारी में था। चूंकि अब उसे सील कर दिया गया है, ऐसे में दोनों प्रापर्टी का मालिक एक है या दो अलग-अलग हैं उसका पता लग जाएगा।

प्रतापबाग में डिच चलने के बाद फिर बनीं 5 दुकानेंजॉइंट कमिश्नर ने दुकानें ढहाने के दिए आदेश
जालंधर | प्रतापबाग में अवैध रूप से बन रही दुकानें निगम की कार्रवाई के बाद दोबारा बनकर तैयार हो गई हैं। पूर्व कमिश्नर दीपर्व लाकड़ा ने पार्क की तरफ गेट वाली बिल्डिंग में मेन रोड की तरफ शटर लगाने के बाद डिच से उसका लेंटर ध्वस्त करवा दिया था। बाद में प्रॉपर्टी के मालिक ने खुद मजदूरों से इसकी दीवार को तुड़वाया था, लेकिन सियासी शह पर 6 माह बाद एक बार फिर से दुकानों में मेन रोड की तरफ शटर लगाया गया है। मामले की शिकायत पर जॉइंट कमिश्नर हरचरण सिंह ने एटीपी राजिंदर शर्मा को कार्रवाई करने को कहा है, बताया कि दुकानों को डिमॉलिश करने का आदेश दे दिया गया है। उन्होंने बताया कि अगर अवैध दुकानें बंद करवाई गई थीं और दोबारा तैयार की गई हैं तो उन्हें ढहा दिया जाएगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां आपको कई सुअवसर प्रदान करने वाली हैं। इनका भरपूर सम्मान करें। कहीं पूंजी निवेश करने के लिए सोच रहे हैं तो तुरंत कर दीजिए। भाइयों अथवा निकट संबंधी के साथ कुछ लाभकारी योजना...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser