पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Last Year, Parikshit Goyal Of Jaito Bought A 0001 Scooter From Gursahib Singh Of Muktsar, Now Under Pressure

नंबर पर सियासत:मुक्तसर के गुरसाहिब सिंह से जैतो के परीक्षित गोयल ने पिछले साल खरीदा था 0001 नंबर का स्कूटर, अब दबाव

फरीदकोट2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • मंत्री जी का आ गया वीआईपी नंबर पर दिल
  • विधायक बोले- बड़ों से उलझो मत, सरेंडर कर दो
Advertisement
Advertisement

हा-हा-हा! ये नंबर 0001 मुझे दे गोयल। प्रदेश के एक मंत्री को जैतो के परीक्षित गोयल की स्कूटर का पीबीक्यू-0001 नंबर पसंद आ गया है। अब मंत्री जी विधायक और अारटीओ के माध्यम से दबाव बना रहे हैं कि गोयल वीआईपी नंबर को बेच दे या फिर सरेंडर कर दे।

लेकिन गोयल ने इनकार कर दिया है। गोयल का आरोप है कि मंत्री जी नंबर हथियाने को तरह-तरह के हथकंडे अपना रहे हैं। विधायक ने तो यहां तक कह दिया कि क्यों उलझ रहे हो बड़ों से। मंत्री जी को नंबर पसंद आ गया है तो दे दो।

परीक्षित ने बताया कि मुक्तसर के गुरसाहिब से पीबीक्यू-0001 स्कूटर खरीदा था। मेरी इनोवा का नंबर पीबी04एबी 0008 है। अपने स्कूटर का नंबर इनोवा पर और इनोवा का नंबर स्कूटर पर लगाने के लिए आवेदन किया। 9 जून को ऑनलाइन फीस भरी और नंबर एक्सचेंज भी हो गए। आरसी के लिए आवेदन किया तो आरटीओ ने 0001 नंबर पर कोर्ट केस की बात कह आरसी जारी करने पर रोक लगा दी। वकील भेज कर कोर्ट केस की कॉपी मंगवाई तो उन्हें पता चला कि कोई केस नहीं है।

उनके स्कूटर का नंबर 0001 मंत्री को पसंद आ गया है। सरेंडर कर दो। दोबारा आरटीओ से मिला तो उन्होंने कहा कि फरीदकोट के विधायक कुशलदीप ढिल्लों से फोन करवाओ फिर मैं आरसी क्लियर कर दूंगा। ढिल्लों से मिला तो उन्होंने कहा कि व्यापारी हो, क्यंू बड़े लोगों से उलझते हो। नंबर ही तो है सरेंडर करो या बेच दो। मैंने एक बड़े नेता से आरटीओ को फोन करवाया। मामला बढ़ता देख किसी ने एक्सचेंज फीस भर कर 0001 नंबर स्कूटर पर फिर से लगा दिया। जबकि इसकी फीस भर चुका था। हाईाकाेर्ट जाऊंगा।

कानून के अनुसार ही काम होगा : आरटीओ 

आरटीओ अधिकारी फरीदकोट तरसेम चन्द से पूछा गया कि वीआईपी नंबर के मालिक की अनुमति और आवेदन के बिना दोबारा एक्सचेंज फीस कैसे भरी गई तो वह ठोस जवाब नहीं दे पाए जबकि एक ही बात बार-बार कहते रहे कि कानून के अनुसार ही काम होगा। पहले लिखे कोर्ट केस संबंधी नोट के बारे में भी उन्होंने अनभिज्ञता जाहिर की।

विधायक कुशलदीप  ने कहा- आरोप झूठे हैं

फरीदकोट के विधायक कुशलदीप सिंह ढिल्लों ने कहा कि मैं तो किसी परीक्षित से मिला तक नहीं हूं। वीआईपी नंबर से मेरा कोई लेना देना नहीं है। जो आरोप वह लगा रहा है उसमें कोई सच्चाई नहीं है। मैंने किसी से भी नहीं कहा कि मंत्री का दिल आ गया है नंबर सरेंडर कर दो। आराेप झूठे हैं।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - अपने जनसंपर्क को और अधिक मजबूत करें। इनके द्वारा आपको चमत्कारिक रूप से भावी लक्ष्य की प्राप्ति होगी। और आपके आत्म सम्मान व आत्मविश्वास में भी वृद्धि होगी। नेगेटिव- ध्यान रखें कि किसी की बात...

और पढ़ें

Advertisement