पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Moga (Punjab): About 80 Years Old House collapsed In Moga, Lady Alongwith Her Daughter Gone Killed

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मोगा में बड़ा हादसा:80 साल पुराने मकान की छत ढहने से मां-बेटी की मौत, आधे घंटे की मशक्कत के बाद रेस्क्यू टीम ने निकाले शव

मोगा6 दिन पहले
मोगा में घर गिरने से मलबे में दबी किशोरी, जिसे अस्पताल पहुंचते ही डॉक्टर्स ने मृत घोषित कर दिया।

मोगा में मंगलवार दोपहर एक बड़ी दुर्घटना घट गई। यहां करीब 80 साल पुराने जर्जर मकान की छत ढहने से मां-बेटी की मौत हो गई। हादसे के वक्त दोनों मां-बेटी घर में अकेली थीं। करीब आधे घंटे की मशक्कत के बाद दोनों को मलबे से बाहर निकाला गया। लेकिन, तब तक दोनों की मौत हो चुकी थी

जानकारी के मुताबिक, घटना दोपहर करीब डेढ़ बजे शहर के रामगंज मंडी में घटी। हादसे की जानकारी मिलते ही मोहल्ले के लोग इक्टठा हुए। वहीं वार्ड के पार्षद 15 युवकों को साथ लेकर मौके पर पहुंचे और हाथों से मलबा हटाने का काम शुरू किया। साथ ही फायर बिग्रेड गाड़ी, DSP सिटी बरजिंदर सिंह भुल्लर, SHO बलराज मोहन पुलिस टीम के साथ पहुंचे। आंधे घंटे की मेहनत के बाद पहले महिला को तो फिर उसकी 17 साल की बेटी को मलबे से निकालकर एंबुलेंस से सरकारी अस्पताल में पहुंचाया गया। वहां डॉक्टर्स ने दोनों को मृत घोषित कर दिया।

मलबे में दबी 45 वर्षीय चरणजीत कौर। उसकी भी इस हादसे में मौत हो गई।
मलबे में दबी 45 वर्षीय चरणजीत कौर। उसकी भी इस हादसे में मौत हो गई।

यहां गली नंबर 1 की निवासी सुखदीप कौर ने बताया कि वे एक होम्योपैथिक मेडिकल स्टोर पर काम करती हैं। आज दोपहर में जब वह दुकान पर थी तो पड़ोसी ने फोन करके उनके दोमंजिला घर के गिर जाने की सूचना दी। इस दौरान उसकी 45 वर्षीय मां चरणजीत कौर और 11वीं में पढ़ती छोटी बहन किरणदीप कौर मलबे में दब गई। हादसे की जानकारी मिलते ही वह भी तुरंत घर पहुंची। तब मलबा हटाने का काम चल रहा था, लेकिन उनकी जान नहीं बचाई जा सकी। सुखदीप कौर के मुताबिक उसका पिता गुरनाम सिंह फार्म वगैरह भरकर घर का खर्च चलाया करता। 4 साल पहले बीमारी के चलते उसकी मौत के बाद घर की जिम्मेदीरी उसके (सुखदीप कौर) कंधों पर आ गई। अब मां और बहन की मौत के बाद वह अकेली रह गई है।

हादसे की सूचना के बाद मौके पर पहुंच रेस्क्यू में जुटे आसपास के लोग और पुलिस।
हादसे की सूचना के बाद मौके पर पहुंच रेस्क्यू में जुटे आसपास के लोग और पुलिस।

पार्षद मनजीत धम्मू ने कहा कि महिला और उसकी बेटी का संस्कार पूरे मोहल्ले की ओर से धार्मिक रीति-रिवाज के साथ किया जाएगा। वहीं NGO महिंद्रपाल लूंबा ने कहा कि छह दिन पहले चरणजीत कौर का फोन आया था। विदेश भी महिला की मदद के लिए फोन आया था। बाद में 30 अप्रैल को महिला के घर जाकर मकान के दस्तावेज और फोटो जुटाकर सरबत का भला ट्रस्ट को मकान बनाकर देने के लिए सोमवार को ही सहायता मांगी थी। धम्मू की मानें तो उन्हें बिलकुल भी अंदाजा नहीं था कि इतनी जल्दी इतना बड़ा हादसा हो जाएगा। DSP सिटी बरजिंदर सिंह भुल्लर ने कहा कि बड़ी दुखद घटना है कि इकलौती बेटी सुखदीप कौर के बयान पर 174 की कारवाई करके बुधवार को मृतको के शवों का पोस्टमॉर्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया जाएगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज घर के कार्यों को सुव्यवस्थित करने में व्यस्तता बनी रहेगी। परिवार जनों के साथ आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने संबंधी योजनाएं भी बनेंगे। कोई पुश्तैनी जमीन-जायदाद संबंधी कार्य आपसी सहमति द्वारा ...

और पढ़ें