बागी तेवर दिखाकर बोले सिद्धू:5 साल के माफिया राज में CM शामिल रहे, इसलिए चुनाव हारे; चौधरी बोले- कार्रवाई होगी

चंडीगढ़9 महीने पहले

पंजाब में नवजोत सिद्धू के बागी तेवर दिखाने फिर शुरू कर दिए हैं। वह शुक्रवार को नए प्रधान अमरिंदर राजा वड़िंग की ताजपोशी में पहुंचे। इस दौरान उन्होंने कांग्रेस नेताओं के साथ स्टेज शेयर नहीं की। वहीं उन्होंने यह कहकर हड़कंप मचा दिया कि कांग्रेस माफिया की वजह से हारी है। जिसमें CM भी शामिल है। यही नहीं, सिद्धू के मीडिया एडवाइजर ने नए प्रधान राजा वड़िंग के संबोधन के मुद्दों पर सवाल खड़े कर दिए।

उन्होंने कहा कि इसमें से अहम मुद्दे गायब हैं। वहीं पंजाब कांग्रेस इंचार्ज हरीश चौधरी ने कहा कि पार्टी में अनुशासन से ऊपर कोई नहीं है। सिद्धू को लेकर पूछे सवाल पर चौधरी ने कहा कि आने वाले दिनों में इसका जवाब मिल जाएगा। उन्होंने कहा कि इसी तरह की बातों की वजह से आम आदमी पार्टी की पंजाब में सरकार बनी है।

चंडीगढ़ पहुंचे नवजोत सिद्धू
चंडीगढ़ पहुंचे नवजोत सिद्धू

सिद्धू ने यह कहा : मैं किसी से नहीं डरता
राजा वड़िंग की ताजपोशी से पहले चंडीगढ़ पहुंचे नवजोत सिद्धू ने कहा कि प्रधान आते-जाते रहेंगे लेकिन संस्था सर्वोच्च है। पंजाब में कांग्रेस 5 साल के माफिया राज की वजह से हारी। उस माफिया के खिलाफ मैं लड़ता रहा। वह लड़ाई सिस्टम के साथ थी। कुछ लोगों का वह धंधा था, जिसे वह दीमक की तरह खा रहे थे। उसमें चीफ मिनिस्टर इन्वॉल्व थे, जो चले गए। मैं किसी से नहीं डरता। पिछले 5 साल में नीतिबद्ध विकास की जगह निजी स्वार्थ हावी रहे।

सिद्धू के मीडिया एडवाइजर ने कांग्रेस में करप्शन पर सवाल उठाए
सिद्धू के मीडिया एडवाइजर ने कांग्रेस में करप्शन पर सवाल उठाए

भगवंत मान छोटा भाई, माफिया के खिलाफ लड़ाई में साथ दूंगा
भगवंत मान को मैं छोटा भाई समझता हूं। अगर वह ईमानदार है तो माफिया के खिलाफ लड़े। मैं पार्टी से ऊपर उठकर मान का साथ दूंगा। नीतियां बनाकर पंजाब का विकास करना होगा।

यह भी पढ़ें : पंजाब कांग्रेस के नए 'राजा' वड़िंग:वर्किंग प्रधान आशू संग शपथ ली; बोले- मनमर्जी नहीं चलेगी; स्टेज पर नहीं आए सिद्धू

एडवाइजर बोले- कांग्रेस से करप्शन और करप्ट लीडरों का मुद्दा गायब रहा
सिद्धू के मीडिया एडवाइजर सुरिंदर डल्ला ने कहा कि नए कांग्रेस प्रधान के शपथ ग्रहण भाषण से पंजाब के लिए संघर्ष की ललकार गायब रही। पंजाब के मुद्दों पर लड़ाई का खुला ऐलान नहीं हुआ। कांग्रेस से करप्शन और करप्ट लीडरों के खात्मे जैसे मुद्दे गायब रहे। उन्होंने कहा कि मुझे नवजोत सिद्धू पर गर्व है, जो पद नहीं बल्कि पंजाब के लिए जीते-मरते हैं। पंजाबियों को सिद्धू से बहुत उम्मीदें हैं।