पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Notification Of Delhi Government To Implement The Agricultural Laws Of The Center, Sign The Death Warrant Of Farmers Like: Captain

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कृषि कानून:केंद्र के कृषि कानूनों को लागू करने का दिल्ली सरकार का नोटिफिकेशन किसानों के डेथ वारंट पर हस्ताक्षर जैसा: कैप्टन

चंडीगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कहा- चुनावी एजेंडे को आगे बढ़ाने के लिए राजनीतिक चालें चल रही है केजरीवाल की पार्टी

सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने आम आदमी पार्टी के किसानी प्रदर्शन के दोगलेपन रवैए पर हैरानी जाहिर की है। उन्होंने कहा कि संकट के दौरान खतरनाक खेती कानूनों को शर्मनाक तरीके से लागू करने की कार्यवाही ने आप द्वारा किसानों के साथ खड़े होने के दावों से पर्दा उठा दिया है। एक तरफ आम आदमी पार्टी संघर्ष कर रहे किसानों का समर्थन करने का दावा कर रही है दूसरी तरफ केजरीवाल सरकार ने दिल्ली में 23 नवंबर को गजट नोटिफिकेशन जारी कर काले कानूनों को लागू कर दिया। यह पार्टी चुनावी एजेंडे को आगे बढ़ाने के लिए राजनीतिक चालें चल रही है।

हैरानी जाहिर की कि जब किसान ‘दिल्ली चलो’ की तैयारी कर रहे थे तो केजरीवाल सरकार ने नोटिफिकेशन जारी करके अन्नदाता की मौत के वारंट पर हस्ताक्षर कर दिए। केजरीवाल की पार्टी ने खेती कानूनों में अकालियों की भूमिका पर निंदा तक नहीं की। यह भी माना जा रहा है कि दिल्ली में आप सरकार ने राम लीला मैदान और जंतर मंतर में रोष प्रदर्शन के लिए किसानों की मांग को मंजूर नहीं किया।

इधर, आप का पलटवार कहा-कैप्टन भाजपा के सीएम, मोदी के इशारे पर लगा रहे आरोप-आप की पंजाब इकाई ने कहा कि कैप्टन और भाजपा आपस में मिलीभगत कर कृषि कानूनों को दिल्ली में लागू करने का हमारी पार्टी पर झूठा आरोप लगा रहे हैं। मोदी सरकार की किसानों को जेल में डालने की तैयारी थी। केजरीवाल ने स्टेडियम को जेल बनाने से इंकार कर दिया। प्लान फेल हुआ तो भाजपा और कैप्टन ने केजरीवाल को बदनाम करने के लिए झूठा आरोप लगाया। पंजाब जानता है कि कैप्टन और शिअद ने कानून पास कराने में मोदी का साथ दिया था। कैप्टन भाजपा के सीएम हैं।

किसान संगठन उन्हें फंसाने वाली केंद्र की साजिशों से सावधान रहें : अकाली दल
वरिष्ठ अकाली नेता बलविंदर सिंह भूंदड़ और सरदार सिकंदर सिंह मलूका ने कहा कि किसानों से बातचीत विफल होने के लिए केंद्र को दोषी ठहराया। कहा कि केंद्र जानबूकर किसानों को थका देने और उनकी पीड़ा को लंबा करने को मामले को लंबा कर रहा है। किसान संगठनों को कमेटी गठित करने जैसी चालों के माध्यम से भ्रामक और अस्पष्ट प्रतिबद्धताओं से उन्हें फंसाने की साजिशों के खिलाफ आगाह किया। कमेटी का यह कदम केवल किसानों को फंसाने की रणनीति का हिस्सा है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आपने अपनी दिनचर्या से संबंधित जो योजनाएं बनाई है, उन्हें किसी से भी शेयर ना करें। तथा चुपचाप शांतिपूर्ण तरीके से कार्य करने से आपको अवश्य ही सफलता मिलेगी। परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर ज...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser