पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

197 किलोग्राम हेरोइन की तस्करी का मामला:अकाली नेता अनवर मसीह को गिरफ्तार करने पहुंची पुलिस, कोर्ट ने लगाई एक दिन की रोक

अमृतसर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अकाली नेता अनवर मसीह का फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
अकाली नेता अनवर मसीह का फाइल फोटो।

अमृतसर में 197 किलो हेरोइन की बरामदगी के मामले में आरोपी अकाली नेता अनवर मसीह ने वीरवार पुलिस अरेस्ट करने पहुंची। लेकिन कोर्ट ने अनवर की गिरफ्तारी पर एक दिन की रोक लगा दी है। वहीं अनवर द्वारा कोर्ट में लगाई गई बेल बढ़ाने की एप्लीकेशन की सुनवाई भी कल कोर्ट में ही होगी।

गौरतलब है कि STF ने 30 जनवरी 2020 को अमृतसर के सुल्तानविंड इलाके में एक कोठी से 197 किलो हेरोइन और 200 किलो से ज्यादा सिंथेटिक कैमिकल बरामद किया था। इस मामले में एक अफगानी नागरिक समेत कुल 6 लोगों को गिरफ्तार किया गया था। कोठी का मालिक पंजाब सर्विस सलेक्शन बोर्ड का सदस्य अनवर मसीह था।

अनवर मसीह ने इसके बाद कोर्ट में एप्लीकेशन लगा दी थी। अनवर मसीह ने अपने वकील के माध्यम से 25 मार्च 2020 को जिला व सेशन जज की अदालत में जमानत याचिका दायर कर दी। इस जमानत याचिका पर सुनवाई करते हुए एडिशनल सेशन जज पुष्विंदर सिंह की अदालत ने 22 दिसंबर 2020 को उनकी बीमारी व इलाज को ध्यान में रखते हुए 6 हफ्तों की जमानत प्रदान करते हुए समय खत्म होने पर सरेंडर करने के आदेश जारी किए।

दूसरी ओर सरकारी वकील और एसटीएफ की टीम ने जमानत अवधि बढ़ाए जाने का विरोध कर दिया। एसटीएफ की टीम ने अदालत में सबूत पेश किए कि अनवर मसीह ने बीमारी का बहाना बनाकर इलाज के लिए जमानत हासिल की थी, जबकि अनवर मसीह इलाज करवाने की बजाय विरोध प्रदर्शनों में हिस्सा ले रहा है। जिसके बाद कोर्ट ने दस दिन के बाद अनवर को सेंट्रल जेल में सिरेंडर करने के लिए कह दिया।

लेकिन इसी बीच अनवर ने कोर्ट में अपनी बेल बढ़ाने की एप्लीकेशन लगा दी। 13 जुलाई को घटित प्रदर्शन में जहर खाने का प्रकरण इसी जमानत अवधि के बीच का था। वीरवार अनवर की दस दिन की बेल अवधि पूरी हो गई। जिसके बाद पुलिस उसे गिरफ्तार करने कोर्ट पहुंच गई। लेकिन कोर्ट ने उसकी गिरफ्तारी पर एक दिन की रोक लगा दी। वहीं उसकी तरफ से कोर्ट में डाली गई एप्लीकेशन की सुनवाई भी शुक्रवार तक टाल दी है।