अकाली दल की दूसरे दिन फिर हुई मीटिंग:​​​​​​​सुखबीर बादल की अगुवाई में जुटे दिग्गज; हार के कारण तलाशने के लिए जल्द बनेगी हाई लेवल कमेटी

चंडीगढ़5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कल कोर कमेटी मीटिंग में सुखबीर ने प्रधान पद छोड़ने की पेशकश की लेकिन नेताओं ने उसे ठुकरा दिया। - Dainik Bhaskar
कल कोर कमेटी मीटिंग में सुखबीर ने प्रधान पद छोड़ने की पेशकश की लेकिन नेताओं ने उसे ठुकरा दिया।

पंजाब चुनाव में 3 सीटों पर सिमटे अकाली दल की दूसरे दिन फिर चंडीगढ़ में मीटिंग हुई। जिसकी अगुवाई प्रधान सुखबीर बादल ने की। इसमें अकाली दल के दूसरे बड़े नेताओं ने हिस्सा लिया। मीटिंग के बाद अकाली दल के प्रवक्ता डॉ. दलजीत चीमा ने कहा कि जल्द ही हाई लेवल कमेटी बनाई जा रही है। जो पंजाब में पार्टी के हार के कारण तलाशेगी। फिर इन कमियों को दूर कर आगे की तैयारी की जाएगी।

सुखबीर के इस्तीफे की जगह तारीफ
अकाली दल की शर्मनाक हार के बावजूद नेताओं ने सुखबीर बादल की तारीफ की। संभावना जताई जा रही थी कि कोर कमेटी में सुखबीर बादल के इस्तीफे की मांग की जाएगी। इसके उलट मीटिंग में सुखबीर के समर्थन में प्रस्ताव पास किया गया। इससे पहले भी पुराने अकालियों में सुखबीर की अगुवाई को लेकर नाराजगी है। इसके उलट प्रकाश सिंह बादल की अगुवाई के वक्त अकाली कैडर चुनाव में काफी सक्रिय रहता था।

सुखबीर समेत सभी दिग्गज हारे, लगातार 2 बार हारे अकाली
पंजाब चुनाव में आम आदमी पार्टी के आगे सुखबीर बादल समेत सभी दिग्गज अकाली हार गए। जिनमें पूर्व सीएम प्रकाश सिंह बादल भी शामिल हैं। वहीं सुखबीर बादल की अगुवाई में 2017 के बाद 2022 में अकाली दल सत्ता से बाहर हो गया। तमाम मैनेजमेंट के दावे करने के बावजूद अकाली दल कांग्रेस की एंटी इनकंबेंसी को अपने हक में नहीं भुना सका। इससे पंजाब में अकाली दल के अस्तित्व पर ही संकट खड़ा होने लगा है।

खबरें और भी हैं...