• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Punjab Congress Chandigarh Office; Amarinder Singh Raja, Bharat Bhushan Ashu, Harish Chaudhary

पंजाब कांग्रेस भवन में दिलचस्प नजारा:चौधरी को पीछे कर आशू को आगे लाए ​​​​​​वड़िंग; चौधरी ने आशू को बर्फी नहीं खिलाने दी

चंडीगढ़7 महीने पहले
भारत भूषण आशु वड़िंग को बर्फी खिला रहे थे तो हरीश चौधरी ने रोककर वापस प्लेट में रखवा ली।

पंजाब कांग्रेस के नए प्रधान पद की ताजपोशी समारोह में शुक्रवार को दिलचस्प नजारा दिखा। अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग ने चंडीगढ़ स्थित कांग्रेस भवन में कुर्सी संभाली। उनके साथ वर्किंग प्रधान भारत भूषण आशू ने चार्ज संभाला। हुआ यूं कि राजा वड़िंग जब प्रधान की कुर्सी पर बैठे तो पंजाब कांग्रेस इंचार्ज हरीश चौधरी बगल में खड़े थे। लोकल लीडरशिप को तरजीह देते हुए वड़िंग ने चौधरी को पीछे किया और आशू को आगे ले आए। इसके बाद वड़िंग ने कुर्सी संभाली।

राजा वड़िंग ने पहले चौधरी को पीछे कर आशू को आगे करवाया था
राजा वड़िंग ने पहले चौधरी को पीछे कर आशू को आगे करवाया था

यह देख जब भारत भूषण आशु ने वहां प्लेट में रखी बर्फ वड़िंग को खिलानी चाही तो हरीश चौधरी ने उनका हाथ पकड़ लिया। यहां तक कि आशू के हाथ में पकड़ी बर्फी तक प्लेट में वापस रखवा दी। चौधरी ने बर्फी की प्लेट उठा ली। जिसे आगे पंजाब विधानसभा में विपक्षी दल नेता बनाए कांग्रेस विधायक प्रताप बाजवा को पकड़ा दी। इसके बाद पहले बाजवा और फिर पूर्व CM चरणजीत चन्नी ने वड़िंग को बर्फी खिलाई। हालांकि भारत भूषण आशू के हाथ दोबारा बर्फी की प्लेट नहीं लगी। जिस वजह से वह वड़िंग को बर्फी नहीं खिला सके।

4 की जगह अकेले वर्किंग प्रधान आशू

पंजाब कांग्रेस में नवजोत सिद्धू को हटाकर अमरिंदर राजा वड़िंग को नया प्रधान लगाया गया है। वड़िंग के साथ भारत भूषण आशू वर्किंग प्रधान बनाए गए हैं। सिद्धू के प्रधान रहते 4 वर्किंग प्रधान बनाए गए थे। हालांकि अब आशू अकेले वर्किंग प्रधान होंगे। संगठन में सिख-हिंदू का बैलेंस रखने के लिए यह कवायद की गई है।