जाखड़ के तेवरों पर पूर्व MLA का दर्द:गिल बोले- मैंने भी आपको CM बनाने को वोट दिया था, कांग्रेस को श्राप न दो

चंडीगढ़4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल होने के बाद सुनील जाखड़ के तीखे तेवरों से पूर्व कांग्रेसी विधायक हरमिंदर गिल का दर्द छलका है। पट्‌टी से पूर्व विधायक हरमिंदर गिल ने कहा कि मैंने भी जाखड़ को सीएम बनाने के लिए वोट दिया था। जाखड़ सीएम नहीं बन सके लेकिन अब कांग्रेस को पंजाब में कभी सत्ता न मिलने का श्राप देना ठीक नहीं। गिल ने सोशल मीडिया के जरिए जाखड़ को यह अपील की है।

सुनील जाखड़ ने यह दावा किया था कि कैप्टन अमरिंदर सिंह को हटाने के बाद ज्यादातर विधायक उन्हें सीएम बनाने के समर्थन में थे। इसके बावजूद कुछ कांग्रेसियों ने अंदरखाते विरोध कर इसे हिंदू-सिख विवाद का रूप दे दिया।
सुनील जाखड़ ने यह दावा किया था कि कैप्टन अमरिंदर सिंह को हटाने के बाद ज्यादातर विधायक उन्हें सीएम बनाने के समर्थन में थे। इसके बावजूद कुछ कांग्रेसियों ने अंदरखाते विरोध कर इसे हिंदू-सिख विवाद का रूप दे दिया।

यह लिखा पूर्व विधायक हरमिंदर गिल ने

BJP की तारीफ करो पर कांग्रेस को श्राप न दो : गिल ने लिखा कि मेरे मन में जाखड़ के प्रति बहुत सम्मान है। कांग्रेस छोड़ने के बाद भाजपा की तारीफ समझ में आती है। मगर, बार-बार यह कहना कि कांग्रेस अब पंजाब में सरकार नहीं बना सकती, यह श्राप उनके मुंह से शोभा नहीं देते।

कांग्रेस की देन याद दिलाई : गिल ने कहा कि जाखड़ के पिता बलराम जाखड़ कांग्रेस की टिकट पर 3 बार सांसद बने। सबसे लंबे वक्त तक लोकसभा के स्पीकर रहे। देश के खेतीबाड़ी मंत्री रहे। आंध्रप्रदेश और मध्य प्रदेश के गवर्नर बने। बड़े भाई सज्जन कुमार जाखड़ पंजाब में मंत्री बने। जाखड़ भी 3 बार विधायक, एक बार सांसद, विपक्षी दल नेता, पंजाब कांग्रेस प्रधान रहे।

पितृ पार्टी को श्राप न दो : गिल ने कहा कि मैं भी उन 42 विधायकों में एक था, जिन्होंने जाखड़ को मुख्यमंत्री बनाने के लिए वोट दिया था। हो सकता है कि कहीं कोई बात रह गई हो। किसी वजह से सीएम बनाने की बात सिरे नहीं चढ़ी। मगर, अब अपनी पितृ पार्टी को श्राप तो मत दो। जाखड़ को उनका रास्ता और नई पार्टी मुबारक, मगर कांग्रेस को बुरा-भला न बोला करो।

पूर्व कांग्रेस MLA की सोशल मीडिया पोस्ट।
पूर्व कांग्रेस MLA की सोशल मीडिया पोस्ट।