शिक्षा मंत्री की स्कूल में चेकिंग:बिना फर्नीचर के बैठे मिले स्कूली बच्चे; बदहाली देख बैंस बोले - हकीकत देखने ही आया था

चंडीगढ़2 महीने पहले

पंजाब के एजुकेशन मिनिस्टर हरजोत बैंस ने सोमवार को खरड़ के देसूमाजरा सरकारी स्कूल की चेकिंग की। इस दौरान स्कूल के कई क्लासरूम में बच्चों के बैठने के लिए फर्नीचर नहीं थे। इसके अलावा भी कई तरह की मुश्किलें मिली।

शिक्षा मंत्री बैंस ने दौरे के बाद कहा कि इतनी कमियों के बावजूद हमारे टीचर कड़ी मेहनत कर रहे हैं। कई तरह की समस्याएं हैं। ग्राउंड विजिट से हमें असली स्थिति के बारे में पता चलेगा। उसके बाद इनमें सुधार किया जाएगा।

स्कूल के टीचर्स से बात करते मंत्री हरजोत बैंस।
स्कूल के टीचर्स से बात करते मंत्री हरजोत बैंस।

कुछ दिन पहले भर गया था पानी
3 हफ्ते पहले इसी स्कूल में बारिश की वजह से पानी भर गया था। क्लासरूम से लेकर ऑफिस के भीतर पानी जमा हो गया। इसके बाद स्कूल में छुट्‌टी करनी पड़ी। इसके बाद भी मंत्री बैंस ने तुरंत अफसरों को वहां भेजा। हालांकि अब भी स्कूल की ईमारत की दीवार बारिश की वजह से खस्ताहाल नजर आ रही है।

क्लासरूम में टीचर से बात करते शिक्षा मंत्री हरजोत बैंस।
क्लासरूम में टीचर से बात करते शिक्षा मंत्री हरजोत बैंस।

एजुकेशन मुद्दे पर सत्ता में आई AAP
आम आदमी पार्टी ने विधानसभा चुनाव के प्रचार में एजुकेशन के मुद्दे को खूब भुनाया। पार्टी प्रमुख अरविंद केजरीवाल ने गारंटी दी कि पंजाब के स्कूलों को भी दिल्ली की तरह वर्ल्ड क्लास बनाएंगे। हालांकि स्कूलों की स्थिति में कोई बड़ा बदलाव नहीं हुआ लेकिन आप सरकार ने शिक्षा मंत्री जरूर बदल दिया। पहले मीत हेयर शिक्षा मंत्री थे, बाद में इसकी जिम्मेदारी हरजोत बैंस को दे दी गई।

सरकारी स्कूल में जमीन पर बैठकर पढ़ाई कर रहे बच्चे से बात करते शिक्षा मंत्री हरजोत बैंस।
सरकारी स्कूल में जमीन पर बैठकर पढ़ाई कर रहे बच्चे से बात करते शिक्षा मंत्री हरजोत बैंस।

नेशनल अचीवमेंट सर्वे पर मच चुका बवाल
केंद्र सरकार के नेशनल अचीवमेंट सर्वे (NAS) में पंजाब एजुकेशन में नंबर वन बना था। तीसरी, पांचवीं और आठवीं क्लास के सभी 5 विषयों में पंजाब टॉप पर रहा। हालांकि पंजाब की आप सरकार इससे सहमत नहीं थी। सीएम भगवंत मान ने तो इसे फर्जी करार दे दिया। स्कूलों के मौजूदा इन्फ्रास्ट्रक्चर को दिखाते हुए आम आदमी पार्टी इस सर्वे पर भी सवाल उठा रही है।