• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Rahul Gandhi Punjab Visit Update; CM Charanjit Channi, Navjot Sidhu | Punjab Election News

पंजाब में कांग्रेस की फतेह रैली:राहुल गांधी का ऐलान- पंजाब में CM चेहरे के साथ लड़ेंगे चुनाव; सिद्धू या चन्नी पर खेलेंगे दांव

चंडीगढ़8 महीने पहले

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ऐलान किया कि पंजाब में कांग्रेस CM चेहरे के साथ चुनाव लड़ेगी। जालंधर में पंजाब फतेह रैली में राहुल ने कहा कि इस बारे में पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं से पूछकर फैसला लिया जाएगा। कांग्रेस ने पिछला चुनाव भी कैप्टन अमरिंदर सिंह को CM चेहरा घोषित कर लड़ा था। हालांकि इस बार सीएम चेहरे पर पंजाब कांग्रेस के प्रधान नवजोत सिद्धू और मौजूदा सीएम चरणजीत चन्नी दावा ठोक रहे हैं।

राहुल ने कहा कि अगर पंजाब जानना चाहता है तो कांग्रेस पंजाब में सीएम चेहरे का ऐलान करेगी। इस बारे में वह पार्टी और कार्यकर्ताओं से बात करेंगे। राहुल ने कहा कि नवजोत सिद्धू और सीएम चरणजीत चन्नी ने मुझे कहा कि दोनों में से जो भी लीड करेगा, दूसरा उसकी पूरी मदद करेगा। इससे मुझे बहुत खुशी हुई। कांग्रेस की इस घोषणा को आम आदमी पार्टी की सीएम चेहरे के लिए जनता से की गई रायशुमारी से भी जोड़कर देखा जा रहा है। आप ने भी जनता से पूछकर भगवंत मान को सीएम चेहरा घोषित करने का दावा किया।

पहले सिद्धू बोले- दर्शनीय घोड़ा न बना देना, फैसले लेने की ताकत देना

रैली को संबोधित करते हुए पहले नवजोत सिद्धू ने राहुल गांधी को कहा- पंजाब के लोगों के 3 सवाल हैं। वह पूछ रहे हैं कि इस कीचड़ से हमे कौन निकालेगा?। दूसरा सवाल कि वह कैसे निकालेगा?, उसके पास कौन सा एजेंडा या रोडमैप है?। सिद्धू ने तीसरा सबसे बड़ा सवाल सीएम चेहरे को लेकर पूछा। सिद्धू ने पूछा कि पंजाब जानना चाहता है कि कांग्रेस का सीएम का चेहरा कौन होगा?। अगर इसका जवाब मिला तो पंजाब में 70 सीटों के साथ कांग्रेस की सरकार बनेगी। सिद्धू ने कहा कि उन्हें दर्शनीय घोड़ा न बना देना। मुझे फैसले लेने की ताकत देना।

सिद्धू को नसीहत देकर CM चन्नी ने भी मांगे 5 साल

इसके बाद CM चरणजीत चन्नी ने माइक संभालते ही कहा कि मुझे 111 दिन मिले। न मैं सोया और न किसी को सोने दिया। सीएम चन्नी ने कहा कि अगर पार्टी को उनका काम पसंद आया तो मुझे पूरे 5 साल भी दो। चन्नी ने शिकायत के अंदाज में नवजोत सिद्धू को कहा कि बाहर वालों को मौका न दो कि वह हम पर सवाल उठाएं कि कोई लड़ाई है। बाहर वाले यह न पूछें कि इस बारात का दूल्हा कौन है। मैं किसी पद के लिए अपनी पार्टी और पंजाब को नुकसान नहीं पहुंचा सकता। इसके बाद चन्नी ने सिद्धू को अपने पास बुलाकर एकजुटता दिखाने की कोशिश भी की।

राहुल गांधी ने अमृतसर में धार्मिक जगहों पर माथा टेका

इससे पहले राहुल गांधी ने अमृतसर पहुंचकर श्री दरबार साहिब, दुर्ग्याणा मंदिर और भगवान वाल्मीकि तीर्थ में माथा टेका। अमृतसर में कांग्रेस नेताओं के साथ उन्होंने पंगत में बैठकर लंगर छका। इसके बाद वह जलियांवाला बाग में भी शहीदों को श्रद्धांजलि देने पहुंचे। राहुल गांधी के साथ CM चरणजीत चन्नी और पंजाब कांग्रेस के प्रधान नवजोत सिद्धू भी रहे।

श्री दरबार साहिब में CM चरणजीत चन्नी के साथ लंगर छकते राहुल गांधी
श्री दरबार साहिब में CM चरणजीत चन्नी के साथ लंगर छकते राहुल गांधी

बहिष्कार की खबरों से सांसदों का इनकार

कांग्रेस नेता राहुल गांधी के दौरे के दौरान ऐसी खबरें आईं कि कांग्रेस के 5 सांसदों ने उनके दौरे का बहिष्कार कर दिया है। जिनमें मनीष तिवारी, रवनीत सिंह बिट्‌टू, जसबीर सिंह डिंपा, परनीत कौर और मोहम्मद सदीक को शामिल बताया गया। जब दैनिक भास्कर ने सांसद रवनीत बिट्‌टू से बात की तो उन्होंने कहा कि वह जालंधर रैली में मौजूद हैं। वहीं सांसद जसबीर डिंपा ने कहा कि अमृतसर में सिर्फ कैंडिडेट्स को बुलाया गया था, इसलिए वह वहां नहीं गए। सांसदों ने बहिष्कार की खबरों से इनकार कर दिया।

भाजपा ने साधा राहुल पर निशाना

भाजपा ने राहुल गांधी पर ऑपरेशन ब्लू स्टार को लेकर तंज कसा है। भाजपा नेता मनजिंदर सिरसा ने राहुल के श्री दरबार साहिब दौरे को लेकर कहा कि अगर राहुल गांधी ने दरबार साहिब में गोलियों के निशान देखे होते। वहां की चीखों और खूनी मंजर को महसूस किया होता तो जरूर परिवार की करतूतों के लिए शर्मिंदा होकर माफी मांगते।

जलियांवाला बाग में शहीदों को श्रद्धांजलि देकर लौटते राहुल गांधी।
जलियांवाला बाग में शहीदों को श्रद्धांजलि देकर लौटते राहुल गांधी।

कोरोना की वजह से रैलियों पर रोक के चलते राहुल गांधी ने वर्चुअल रैली से पंजाब में चुनाव प्रचार का आगाज किया। जालंधर में रैली खत्म करने के बाद वह आदमपुर एयरपोर्ट से दिल्ली के लिए रवाना हो गए। राहुल गांधी को पहले साढ़े नौ बजे अमृतसर पहुंचना था, लेकिन मौसम खराब होने की वजह से दिल्ली से रवानगी में देरी हो गई। जब वह जालंधर रैली में पहुंचे तो इसके लिए माफी भी मांगी। राहुल ने कहा कि वह मौसम खराब होने की वजह से 2 घंटे लेट हो गए।

श्री दरबार साहिब में कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ राहुल गांधी।
श्री दरबार साहिब में कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ राहुल गांधी।
श्री दरबार साहिब में माथा टेकने के लिए जाते राहुल गांधी।
श्री दरबार साहिब में माथा टेकने के लिए जाते राहुल गांधी।