एडवोकेट विनोद घई पंजाब के नए AG बने:सरकार ने नोटिफिकेशन जारी किया; बेअदबी केस में राम रहीम के वकील रह चुके

चंडीगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट के सीनियर एडवोकेट विनोद घई पंजाब के नए एडवोकेट जनरल बन गए हैं। गवर्नर ऑफिस से मंजूरी मिलते ही पंजाब सरकार ने नोटिफिकेशन जारी कर दिया। उनकी नियुक्ति का विरोध किया जा रहा था।

विरोधियों का तर्क था कि वह श्री गुरू ग्रंथ साहिब की बेअदबी के केस में आरोपी डेरा सच्चा सौदा मुखी राम रहीम के वकील रह चुके। इसलिए उन्हें इस पद पर नियुक्त नहीं किया जाना चाहिए। हालांकि आप सरकार ने यह सब विरोध दरकिनार कर दिए।

सरकार की तरफ से जारी नोटिफिकेशन ।
सरकार की तरफ से जारी नोटिफिकेशन ।

कई बड़े मामलों में पंजाब सरकार को पटखनी दी
सीनियर एडवोकेट विनोद घई पंजाब सरकार के खिलाफ कई बड़े मामलों में आरोपियों के वकील रहे। जिनमें डेरा मुखी राम रहीम से जुड़ा बेअदबी और पंचकूला हिंसा, आम आदमी पार्टी के बर्खास्त हेल्थ मिनिस्टर डॉ. विजय सिंगला, बेअदबी से जुड़े गोलीकांड के आरोपी पूर्व डीजीपी, पूर्व कांग्रेसी मंत्री भारत भूषण आशु के केस शामिल हैं। जहां उन्होंने अपनी काबिलयित से आरोपियों को राहत दिलाई।

एडवोकेट सिद्धू के इस्तीफे से खाली हुआ पद
आम आदमी पार्टी ने सरकार बनते ही सीनियर एडवोकेट अनमोल रतन सिद्धू को पंजाब का एडवोकेट जनरल बनाया था। 19 मार्च को नियुक्ति के ठीक 4 हीने बाद उन्होंने 19 जुलाई को इस्तीफा दे दिया। चर्चा यह रही कि वह अपने पसंदीदा लॉ अफसरों की नियुक्ति चाहते थे लेकिन सरकार की तरफ से उसमें कोई अड़चन आ रही थी। एडवोकेट सिद्धू की ही पैरवी से सरकार गैंगस्टर लॉरेंस को पंजाब लाने में कामयाब रही थी।