• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Punjab Lumpy Skin Disease Outbreak; Bhagwant Mann Government Banned All Animal Fairs

लंपी स्किन के खतरे पर CM का एक्शन:पशुओं की आवाजाही के लिए पंजाब के बॉर्डर सील; पशु मेलों पर सरकार ने रोक लगाई

चंडीगढ़2 महीने पहले

पंजाब में पशुओं पर लंपी स्किन की बीमारी फैलने के बाद आम आदमी पार्टी (AAP) सरकार हरकत में आ गई है। CM भगवंत मान ने बुधवार को चंडीगढ़ में रिव्यू मीटिंग की। जिसके बाद पड़ोसी राज्यों से सटे पंजाब के बॉर्डर सील कर दिए गए हैं। बाहर से पशुओं को पंजाब में नहीं आने दिया जाएगा।

सरकार का कहना है कि यह बीमारी राजस्थान से पहुंची है। इसलिए उनसे सटे इलाके ज्यादा प्रभावित हैं। इसके अलावा पंजाब में सभी पशु मेलों पर अगले आदेश तक रोक लगा दी गई है। सरकार का कहना है कि पशुओं के इकट्‌ठा होने से बीमारी फैलने का खतरा है।

अफसरों से मीटिंग करते सीएम भगवंत मान।
अफसरों से मीटिंग करते सीएम भगवंत मान।

पंजाब में 4 जिले ज्यादा प्रभावित
CM भगवंत मान ने कहा कि पशुओं में लंपी स्किन बीमारी फैली है। इस संबंध में पशुपालन विभाग के सीनियर अफसरों से मीटिंग की है। जांबिया में 80 साल पहले फैली है। 2 साल पहले देश में आई। पंजाब में फाजिल्का, मुक्तसर, बठिंडा और तरनतारन का इलाका है। सरकार ने बड़े स्तर पर गोट पॉक्स वैक्सीन मंगवा ली है। जरूरत पड़ी तो और भी एयरलिफ्ट कराएंगे। सरकार ने 3 मंत्रियों और वैटरनरी डीन की तालमेल कमेटी बना दी है।

दफनाने के प्रबंध के लिए DC को आदेश
केंद्र सरकार के साथ संपर्क कर रहे हैं। इसके लिए कोई और वैक्सीन रिकमेंड हुई तो उसे भी मंगाएंगे। जो पशु मर चुके हैं, उन्हें दफनाने के लिए प्रबंध नहीं हैं। खुले में फेंका गया है। सभी डीसी को कहा गया है कि उनको दबाने का प्रबंध प्रशासन करे। इसके लिए पंचायत की जमीनों का इस्तेमाल किया जा सकता है।

पशुपालकों के लिए एडवाइजरी जारी
पशुपालक पशुओं को रखने की जगह पर सफाई रखें। जिनमें बीमारी के लक्षण हैं, उन्हें दूर रखें। पशुपालन विभाग इम्युनिटी बढ़ाने के लिए कैल्शियम की डोज बढ़ाएगा। पशुपालक पशुओं को हाइवे और सड़कों के किनारे न चराएं। इससे एक्सीडेंट होता है। जिसमें इंसानों और जानवरों की जान भी जाती है। मान ने कहा कि फिलहाल फोकस बीमारी को रोक पशुओं को बचाने की है। पशु ही जिनकी कमाई का सहारा थे, उनकी मदद के बारे में आगे विचार किया जाएगा।

दूध उबालकर पिएं, बीमारी के पशुओं से इंसान में आने का खतरा नहीं
CM भगवंत मान के साथ मौजूद पशुपालन विशेषज्ञों ने कहा कि दूध के साथ यह बीमारी आम लोगों में नहीं आ सकती। फिर भी कच्चा दूध पीने से परहेज करें। अगर दूध उबालकर पीएंगे तो यह बीमारी इंसानों में नहीं आएगी।