मोहाली RPG अटैक का लॉरेंस कनेक्शन:गैंगस्टर के गुर्गे ने दागा इंटेलिजेंस ऑफिस पर रॉकेट; रिंदा के कहने पर लखबीर ने कराया अटैक

चंडीगढ़2 महीने पहलेलेखक: मनीष शर्मा

पंजाब पुलिस के मोहाली स्थित इंटेलिजेंस हेडक्वार्टर पर रॉकेट अटैक का पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड के मास्टरमाइंड गैंगस्टर लॉरेंस से कनेक्शन जुड़ गया है। RPG अटैक करने वाला मुख्य हमलावर दीपक गैंगस्टर लॉरेंस का गुर्गा निकला। दीपक हरियाणा के झज्जर के गांव सूरजपुर का रहने वाला है। हमले के कुछ देर पहले वह इंटेलिजेंस ऑफिस के नजदीक CCTV में कैद हुआ है।

उसके साथ उत्तर प्रदेश का नाबालिग हमलावर भी था। अभी तक यह दोनों पकड़े नहीं गए हैं। पंजाब पुलिस पहले कह चुकी है कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI के इशारे पर गैंगस्टर आतंकी हरविंदर रिंदा ने कनाडा में बैठे गैंगस्टर लखबीर लांडा से यह अटैक करवाया। लॉरेंस अभी मूसेवाला हत्याकांड में पंजाब पुलिस की कस्टडी में है। इस मामले में भी उससे पूछताछ हो चुकी है।

रॉकेट अटैक से कुछ देर पहले CCTV में नजर आया दीपक और नाबालिग साथी।
रॉकेट अटैक से कुछ देर पहले CCTV में नजर आया दीपक और नाबालिग साथी।

दिल्ली पुलिस और चंडीगढ़ इंटेलिजेंस की जांच में खुलासा
मोहाली इंटेलिजेंस ऑफिस पर 2 महीने पहले रॉकेट अटैक हुआ था। जिसमें कार सवार हमलावरों ने रॉकेट दागा था। इसमें कोई घायल नहीं हुआ लेकिन बिल्डिंग को काफी नुकसान पहुंचा। इसकी जांच के दौरान दिल्ली पुलिस और चंडीगढ़ इंटेलिजेंस को गैंगस्टर दीपक की फुटेज मिली। दीपक लॉरेंस का गुर्गा है। जो चंडीगढ़ में पहले भी एक प्रॉपर्टी डीलर का कत्ल कर चुका है।

रिंदा और लखबीर ने लॉरेंस की मदद से कराया अटैक
इस खुलासे के बाद अब सुरक्षा एजेंसियों की चिंता बढ़ गई है। पंजाब पुलिस ने RPG अटैक के पीछे कनाडा बैठे गैंगस्टर लखबीर सिंह लांडा का नाम बताया था। बाद में इसके पीछे पाकिस्तान में बैठे गैंगस्टर आतंकी हरविंदर रिंदा का भी नाम जुड़ा। लॉरेंस के गुर्गे के इस मामले में शामिल होने से साफ है कि रिंदा और लांडा ने अटैक के लिए उसकी मदद ली।

हालांकि लॉरेंस इसमें किस हद तक शामिल है और क्या उसे इंटेलिजेंस हेडक्वार्टर पर अटैक की खबर थी, इसके बारे में जांच की जा रही है। सवाल यह भी उठ रहा है कि लॉरेंस गैंग हाईटेक हथियारों के लिए रिंदा के हाथों में तो नहीं खेल रही है?

मोहाली इंटेलिजेंस हेडक्वार्टर पर हमले में इस्तेमाल RPG
मोहाली इंटेलिजेंस हेडक्वार्टर पर हमले में इस्तेमाल RPG

लॉरेंस और रिंदा एक साथ जेल में रह चुके
पुलिस ने रिंदा और लॉरेंस का कनेक्शन खंगालना शुरू किया तो पता चला कि दोनों 2016-17 में पंजाब की जेल में एक साथ थे। जहां इनकी मुलाकात हुई और यह करीबी दोस्त बन गए। रिंदा जेल से बाहर निकला और भागकर पाकिस्तान पहुंच गया। जिसके बाद पंजाब के गैंगस्टरों से संपर्क कर उसने यहां गड़बड़ी फैलानी शुरू कर दी। पुलिस के मुताबिक झज्जर के दीपक और फैजाबाद UP के नाबालिग हमलावर को रिंदा ने लॉरेंस की मदद से ही हायर किया।

इंटेलिजेंस अटैक में पंजाब पुलिस की जांच रिपोर्ट
इंटेलिजेंस ऑफिस पर रॉकेट अटैक में पंजाब पुलिस की जांच में सामने आया था कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI के कहने पर रिंदा ने यह अटैक कराया था। इसके लिए लोकल कनेक्शन के तौर पर मोहाली के रहने वाले जगदीप कंग और चढ़त सिंह से रेकी कराई गई। पुलिस ने इस मामले में निशान सिंह, बलजिंदर रैंबों, अनंतदीप उर्फ सोनू अंबरसरिया, कंवर बाठ, बलजीत कौर को गिरफ्तार कर लिया था।

चढ़त सिंह और रॉकेट दागने वाले दीपक और नाबालिग हमलावर अभी पकड़े नहीं जा सके हैं। पंजाब पुलिस का कहना था कि रिंदा के कहने पर लांडा ने यह अटैक कराया।