पंजाब में राहुल गांधी:गुरदासपुर में पुलवामा के शहीदों को याद कर हुई रैली की शुरुआत, भाजपा पर बरसे, सिद्धू ने कैप्टन को बताया कैंसर

चंडीगढ़6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

राहुल गांधी पंजाब में चुनाव प्रचार के लिए पहुंच चुके हैं। होशियारपुर में चुनावी रैली के बाद राहुल गांधी पंजाब कांग्रेस प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू, सुनील जाखड़ डिप्टी सीएम सुखजिंदर रंधावा व अरुणा चौधरी भी गुरदासपुर पहुंच गए हैं। राहुल गांधी ने अपने संबोधन की शुरुआत नशे के मुद्दे के साथ की। राहुल ने पंजाब यूनिवर्सिटी में दिए एक भाषण को याद किया। जिसे उन्होंने 2013 में नशे के मुद्दे को उठाया था। केंद्र में पीएम नरेंद्र मोदी थे और राज्य में अकाली-बीजेपी की सरकार थी। लेकिन किसी ने नशे पर कुछ ना किया। आम आदमी पार्टी के सुप्रीमो अरविंद केजरीवाल ने भी नशे पर बोल बाद में माफी मांगी। लेकिन वही कार्रवाई सिर्फ कांग्रेस ने ही करवाई है।

राहुल गांधी पहुंचे गुरदासपुर।
राहुल गांधी पहुंचे गुरदासपुर।

शुरुआत में गुरदासपुर से विधायक बरिंदरमीत सिंह पाहड़ा के संबोधन के बाद सुनील जाखड़ ने संबोधन शुरू किया। उन्होंने पुलवामा अटैक को याद करके अपनी स्पीच शुरू की है। अपनी स्पीच में सुनील जाखड़ ने प्रधानमंत्री को निशाना साधा है। पुलवामा अटैक में दीना नगर के एक सिपाही शहीद हुआ था। लेकिन उनके परिवार को अपने ही बेटे की अंतिम क्रियाओं को करने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी के कारण पार्थिव-शव एक दिन बाद मिला था। शव पुलवामा से दिल्ली ले जाए गए, क्योंकि पीएम मोदी ने उन्हें श्रद्धांजलि देनी थी।

संबोधन से पहले क्रिकेट शॉट लगाते सिद्धू।
संबोधन से पहले क्रिकेट शॉट लगाते सिद्धू।

किसानों की मेहनत 2-3 अरबपतियों को दे रहे पीएम

राहुल गांधी ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार कृषि बिल लेकर आई। पंजाब के किसान सड़कों पर उतर आए। एक साल वह ठंड में कोरोना के वक्त भूखे खड़े रहे। इसकी वजह यह है कि नरेंद्र मोदी किसानों की मेहनत 2-3 अरबपतियों को देने की कोशिश कर रहे थे।

कांग्रेस किसानों के साथ खड़ी रही। एक साल बाद पीएम ने कहा कि गलती हो गई। एक साल उन्होंने हिंदुस्तान के किसानों से बात नहीं की। 700 किसान शहीद हो गए। संसद में मैंने कहा कि 2 मिनट शहीद किसानों के लिए मौन रखिए लेकिन समय नहीं दिया। गलती हुई तो फिर 700 किसानों के परिवारों को मुआवजा क्यों नहीं दिया। सिर्फ कांग्रेस की राज्य सरकारों ने मुआवजा दिया।

देश में कोरोना से मौत के आंकड़े छुपाए जा रहे

राहुल गांधी ने कहा कि विपक्षी मेरा मजाक उड़ाते रहे कि मैं कोरोना को नहीं समझ पा रहा है। राहुल गांधी ऐसे ही बोल रहा है। मैं बार-बार तैयारी के लिए कहता रहा। सरकार नहीं मानी। अब जितनी मौतें हुई हैं, उन्हें छुपाया जा रहा है। जो आंकड़े सरकार दे रही है, उससे 7 गुना ज्यादा मौतें हुई हैं।

कोरोना के वक्त फेल हो गई थी दिल्ली की AAP सरकार

राहुल गांधी ने कहा कि आप वाले यहां मोहल्ला क्लीनिक की बात करते हैं। सबसे पहले मोहल्ला क्लीनिक कांग्रेस और शीला दीक्षित ने बनाए थे। आप को क्लीनिक चलाने नहीं आते। कोरोना के समय यह क्लीनिक बेकार साबित हुए। ऑक्सीजन-वैंटिलेटर की कमी हुई। हजारों लोग सड़क पर मर गए। कोरोना के वक्त आम आदमी पार्टी पूरी तरह फेल हो गई। कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने घरों तक सिलेंडर पहुंचाए।

PM से पूछे सवाल- कृषि कानून क्यों लाए?; नशे पर चुप क्यों रहें; रोजगार पर चुप्पी क्यों?

राहुल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पंजाब दौरे का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि पीएम पंजाब आ रहे हैं तो वह बताएं कि वह किसानों को मारने के लिए कानून क्यों लाए?। ड्रग्स के बारे में पहले कुछ क्यों नहीं कहा?। रोजगार के बारे में क्यों नहीं बोलते?। राहुल ने लोगों को कहा कि वह पीएम से यह सवाल पूछें।

पंजाब में अरबतियों की सरकार नहीं चलेगी

राहुल ने कहा कि चरणजीत चन्नी गरीब घर के बेटे हैं। वह गरीबी को समझते हैं। वह पंजाब में अरबपतियों की सरकार नहीं चलाएंगे। पंजाब में किसानों, गरीबों, मजदूरों और स्मॉल-मीडियम इंडस्ट्रीज की सरकार चलाएंगे। नोटबंदी के बाद से देश की बुरी हालत शुरू हुई। देश में बेरोजगारी फैल गई। इंडस्ट्रियां तबाह हो गई। जीएसटी गलत ढंग से लागू कर दिया। पीएम रोजगार, भ्रष्टाचार और कालेधन के बारे में कुछ नहीं कहेंगे। मोदी सरकार से सिर्फ 2-3 अरबपतियों को फायदा हुआ।

रैली को संबोधित करते नवजोत सिद्धू।
रैली को संबोधित करते नवजोत सिद्धू।

CM चन्नी नहीं आए तो सिद्धू जमकर गरजे

सबसे खास बात यह है कि इस सभा को नवजोत सिद्धू भी संबोधित कर रहे हैं। कल प्रियंका के प्रचार के दौरान धूरी में उन्होंने स्पीच देने से इन्कार कर दिया था। हालांकि होशियारपुर में आज सीएम चन्नी नहीं आए तो सिद्धू खूब गरज रहे हैं। उन्होंने राहुल गांधी की तारीफ करते हुए कैप्टन अमरिंदर सिंह का उदाहरण दिया कि राहुल ने गद्दों को किनारे कर दिया। उन्होंने कहा कि इस बार पंजाब के नक्शे से माफिया राज मिटा दिया जाएगा। सिद्धू ने राहुल गांधी को कहा कि मैंने आज तक कुछ नहीं मांगा। अगर हमारी सरकार आई और मैं प्रधान रहा तो किसी विधायक के बेटे चेयरमैन नहीं बनाएंगे। कांग्रेस के वर्कर को पद देंगे। इससे पंजाब में कांग्रेस मजबूत होगी।

नवजोत सिंह सिद्धू ने कैप्टन को कहा कैंसर

जाखड़ के बाद पीपीसीसी प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू ने भाषण शुरू किया। शुरुआत में ही उन्होंने कैप्टन अमरिंदर सिंह को याद किया और उन्हें कैंसर करार किया। राहुल की तारीफ करते हुए उन्होंने कैंसर को हटाने वाला बताया। इसके बाद वह अकाली दल के सुखबीर बादल को खत्म करने की भी बात कही। उन्होंने सुखबीर व बिक्रम मजीठिया को रेत माफिया कहा और अवैध खन्न को खत्म करने की बात कही। लोगों को केबल नेटवर्क माफिया खत्म कर 200 रुपए में लोगों के घरों तक केबल पहुंचाने की बात कही।

अमृतसर में सिद्धू और जाखड़ ने राहुल गांधी का स्वागत किया।
अमृतसर में सिद्धू और जाखड़ ने राहुल गांधी का स्वागत किया।

पंजाब में कांग्रेस की सत्ता वापसी के लिए गांधी का 18 दिन में यह तीसरा दौरा है। पहले उन्होंने अमृतसर के धार्मिक स्थलों पर माथा टेक जालंधर में वर्चुअल रैली की। इसके बाद लुधियाना में चरणजीत चन्नी को CM चेहरा घोषित करने आए। इससे पहले रविवार को प्रियंका गांधी ने धूरी में जनसभा की। डेराबस्सी में उनका रोड शो हुआ।

राहुल गांधी ने पंजाब में चरणजीत चन्नी को CM चेहरा घोषित किया।
राहुल गांधी ने पंजाब में चरणजीत चन्नी को CM चेहरा घोषित किया।

पंजाब में सत्ता बचाने के लिए जूझ रही कांग्रेस

कांग्रेस पंजाब में सत्ता बचाने के लिए जूझ रही है। दोबारा सरकार बने इसके लिए कांग्रेस ने कैप्टन अमरिंदर सिंह को कुर्सी से हटा दिया था। इसके बाद चरणजीत चन्नी को CM बना दिया। अब फिर से चन्नी के 111 दिन के कामकाज पर कांग्रेस चुनाव लड़ रही है। चन्नी को ही कांग्रेस ने चुनाव जीतने पर CM बनाने का ऐलान किया है। हालांकि, पंजाब कांग्रेस चीफ नवजोत सिद्धू CM चेहरा न बनाए जाने से नाराज हैं। इसकी वजह से भी कांग्रेस के लिए मुश्किल खड़ी हो रही है।

कैप्टन भी बने चुनौती

कांग्रेस के लिए कैप्टन अमरिंदर सिंह भी चुनौती बने हुए हैं। CM की कुर्सी से हटाने के बाद उन्होंने पंजाब लोक कांग्रेस नाम से पार्टी बना ली है। भाजपा के साथ गठजोड़ किया है। अब उनका मिशन कांग्रेस को सत्ता से बाहर करना है, ताकि उन्हें हटाने का सबक सिखा सकें।

खबरें और भी हैं...