पंजाब लाया जाएगा राम रहीम:​​​​​​​फरीदकोट कोर्ट से 2 केस में प्रोडक्शन वारंट जारी; पुलिस को 4 मई तक का वक्त

चंडीगढ़8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बाबा राम रहीम - Dainik Bhaskar
बाबा राम रहीम

हरियाणा के सिरसा स्थित डेरा सच्चा सौदा का मुखी बाबा राम रहीम पंजाब लाया जाएगा। फरीदकोट कोर्ट ने इस संबंध में पंजाब पुलिस की स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (SIT) को प्रोडक्शन वारंट दे दिया है। यह वारंट 2 केस में दिया गया है। एसआईटी को 4 मई तक का समय दिया गया है। हालांकि इससे पहले भी राम रहीम के खिलाफ श्री गुरु ग्रंथ साहिब का पावन स्वरूप चोरी होने की FIR नंबर 63 में प्रोडक्शन वारंट जारी हुआ था। मगर, सुरक्षा कारणों के चलते बाबा की याचिका पर पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट ने उस पर रोक लगा दी थी। इसके बाद एसआईटी ने बाबा से रोहतक की सुनारिया जेल में जाकर पूछताछ की थी।

विवादित पोस्टर और बेअदबी के केस में वारंट
राम रहीम के खिलाफ साल 2015 में दर्ज हुए 2 केस में वारंट जारी हुआ है। इसमें पहला केस FIR नंबर 117 का है। जिसमें विवादित पोस्टर लगाने का आरोप है। दूसरा केस FIR नंबर 128 का है, जिसमें श्री गुरू ग्रंथ साहिब के पावन स्वरूप की बेअदबी हुई थी। दोनों केस में पुलिस ने राम रहीम को मुख्य साजिशकर्ता करार दिया है।

पुलिस ने बनाया मास्टरमाइंड
इन दोनों केसों में पुलिस ने बाबा राम रहीम को मास्टरमाइंड बनाया है। सरकार बदलने के बाद बाबा को इन दोनों केसों में नामजद किया गया। पंजाब पुलिस ने इस संबंध में कोर्ट में सप्लीमेंट्री चार्जशीट दायर की थी। जिसमें कहा गया कि FIR नंबर 117 में विवादित पोस्टर के मामले के पीछे भी राम रहीम है। इसके अलावा FIR नंबर 128 के बेअदबी मामले में भी वही प्रमुख आरोपी है। इस मामले में बरगाड़ी में श्री गुरु ग्रंथ साहिब के पावन अंग गलियों में बिखरे मिले थे।