• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Reduction In Electricity Cess And Taxes, Demand For SGST Refund Release Of More Than 250 Crores

बजट से इंडस्ट्री को उम्मीदें:बिजली पर लगने वाले सेस और टैक्सेस में हो कटौती, 250 करोड़ से अधिक का एसजीएसटी रिफंड रिलीज करने की मांग

लुधियाना9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सरकार इंडस्ट्री के लिए राहत पैकेज दे, क्योंकि कोरोना में काफी नुकसान हुआ

कोरोना काल के बाद पंजाब का पहला बजट 8 मार्च को विधानसभा में पेश किया जाएगा। कोरोना काल में लॉकडाउन के चलते फैक्टरियां बंद रहीं और इंडस्ट्री का काम भी बंद रहा। इससे उन्हें नुकसान भी झेलना पड़ा। इंडस्ट्री चाहती है कि सरकार इंडस्ट्री के लिए कोई न कोई राहत पैकेज दे।

वहीं, उनका ये भी मानना है कि पंजाब में अगर इंडस्ट्री के लिए सरकार प्राथमिकता के तौर पर इंफ्रास्ट्रक्चर को बेहतर करने पर काम करे तभी इंडस्ट्री का विकास हो पाएगा। पोर्ट से दूरी के चलते थोड़ी सी भी इनपुट कॉस्ट बढ़ती है तो इसका इंडस्ट्री पर भरी असर पड़ता है। ऐसे में सरकार को बिजली पर लगने वाला सेस और अन्य करों में कटौती करनी चाहिए।

व्यापारी बोले- जीएसटी से पहले के केसेस के लिए वन टाइम सेटलमेंट स्कीम लाए सरकार

नए फोकल पॉइंट्स का हो निर्माण

इंडस्ट्रियल इंफ्रास्ट्रक्चर पर फोकस करना चाहिए। नए फोकल पॉइंट्स घोषित करने चाहिए ताकि इंडस्ट्री का विकास हो सके। पंजाब में जब तक ऐसा नहीं होगा तब तक व्यापार के लिए वैसा माहौल नहीं बनेगा जैसा होना चाहिए। सिंगल विंडो क्लीयरेंस की सुविधाएँ होनी चाहिए।
-कोमल जैन, चेयरमैन ड्यूक फैशंस

साइकिल ट्रैक्स जैसी सुविधाएं बढ़ाएं

इंडस्ट्री के ऊपर पड़ रहे विभिन्न टैक्सों का बोझ भी कम किया जाना चाहिए। केंद्र सरकार की ही तरह साइकिल ट्रैक्स जैसी सुविधाएं पंजाब सरकार को भी लोगों के लिए देनी चाहिए ताकि इससे सूबे में साइकिल का उपयोग बढ़े और इंडस्ट्री को भी फायदा मिले।
-ओंकार सिंह पाहवा, एम डी, एवन साइकिल

फ्रेट सब्सिडी आवंटन यकीनी बनाएं

जीएसटी से पहले के केसेस के लिए वन टाइम सेटलमेंट स्कीम लानी चाहिए। पावर सरप्लस स्टेट होने के बावजूद पावर कट से इंडस्ट्री दुखी है। बजट में पावर ट्रांसमिशन के सुधार के लिए बजट हो। फ्रेट सब्सिडी आवंटन दिए जाने को यकीनी बनाए।
-राहुल आहूजा,चेयरमैन, सीआईआई पंजाब

हॉस्पिटैलिटी सेक्टर के लिए हो स्पेशल पैकेज

फोकल पॉइंट में 830 रुपए गज एक्स्ट्रा चार्जेज के लिए एनहांसमेंट नोटिस से इंडस्ट्री को झटका लगा है। पैकेज दिया जाना चाहिए।
-गुरमीत कुलार, प्रधान फेडरेशन ऑफ इंडस्ट्रियल एंड कमर्शियल ऑर्गनाइजेशन

कोरोना से नुकसान हुआ, स्पेशल पैकेज मिले

इंडस्ट्री को कोरोना में काफी नुकसान हुआ। अब फिर केस बढ़ने से अनिश्चितता का माहौल है। स्पेशल पैकेज मिलना ही चाहिए। -सुदर्शन जैन , प्रधान ,अपैरल एंड निटवियर मैन्युफैक्चरर एसोसिएशन

खबरें और भी हैं...