IAS के बेटे की मौत पर विजिलेंस की सफाई:हम रेड से वापस आ चुके थे; इसके बाद कार्तिक ने खुद को गोली मारी

चंडीगढ़7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

करप्शन केस में पकड़े सीनियर IAS अफसर के बेटे की मौत के मामले में पंजाब विजिलेंस ब्यूरो ने सफाई दी है। विजिलेंस के डीएसपी अजय कुमार ने कहा कि हम रेड कर वापस आ चुके थे। उसके बाद कार्तिक ने खुद को गोली मारी। हमें तो ऑफिस पहुंचने के बाद पता चला कि ऐसी घटना हुई है। उन्होंने इसे दुखद जरूर करार दिया। उन्होंने कहा कि चंडीगढ़ पुलिस इसकी जांच करेगी। जिसके बाद पता चलेगा कि कार्तिक ने खुद को गोली क्यों मारी?।

कार्तिक की मां ने आरोप लगाया कि विजिलेंस रेड के दौरान बहस हुई और उनके बेटे को गोली मार दी गई।
कार्तिक की मां ने आरोप लगाया कि विजिलेंस रेड के दौरान बहस हुई और उनके बेटे को गोली मार दी गई।

घर के अंदर नहीं गए
डीएसपी ने कहा कि संजय पोपली ने पूछताछ में खुलासा किया था कि उसके घर में सोना और चांदी छुपाकर रखा गया है। उसके बयान लेने के बाद हम पहले चंडीगढ़ पुलिस थाने गए। वहां पर रिपोर्ट दर्ज कराई। रेड करने वाली पार्टी के नाम नोट कराए। फिर वहां से एक सब इंस्पेक्टर को साथ लेकर हम पोपली के घर पहुंचे। हम पोपली के घर के भीतर नहीं गए। उनके आंगन में कोई स्टोर रूम बना हुआ था। जहां से हमने रिकवरी की और लौट आए।

IAS संजय पोपली के घर से हुई रिकवरी।
IAS संजय पोपली के घर से हुई रिकवरी।

कार्तिक से पूछताछ नहीं की, वही मिलने आता था
विजिलेंस के मुताबिक संजय पोपली के बेटे कार्तिक से कोई पूछताछ नहीं की गई। वही हमेशा पिता से मिलने के लिए आता था। वह कई घंटे बैठा रहता था। हमें रिमांड कम मिला था तो पूछताछ ज्यादा होती थी। इसलिए जब कभी थोड़ा टाइम होता तो हम उसे मिलवा देते थे। आज भी हमने उसे पूछताछ के लिए नहीं बुलाया था।