अकाली दल में बगावत तेज:MLA अयाली के बाद चंदूमाजरा हुए नाराज, कोर कमेटी मीटिंग में नहीं आए; रिपोर्ट पेश करने पर सवाल

चंडीगढ़4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पंजाब विधानसभा चुनाव में करारी हार के बाद शिरोमणि अकाली दल (बादल) में बगावत तेज हो गई है। वरिष्ठ नेता प्रेम सिंह चंदूमाजरा कल शिअद की कोर कमेटी मीटिंग में नहीं आए। अब उन्होंने झूंदा कमेटी की रिपोर्ट को सीधे कोर कमेटी में रखने पर सवाल खड़े किए। उन्होंने कहा कि पहले इसे समीक्षा कमेटी को भेजा जाना चाहिए था।

इससे पहले विधायक मनप्रीत अयाली ने बगावती तेवर दिखाए थे। पार्टी के समर्थन के बावजूद उन्होंने भाजपा समर्थित NDA उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मु को वोट नहीं दिया। उन्होंने राष्ट्रपति चुनाव का ही बहिष्कार कर दिया।

इकबाल झूंदा और बलविंदर भूंदड़ ने कोर कमेटी मीटिंग की जानकारी दी थी।
इकबाल झूंदा और बलविंदर भूंदड़ ने कोर कमेटी मीटिंग की जानकारी दी थी।

प्रधान ने खुद समीक्षा कमेटी में चर्चा को कहा था : चंदूमाजरा
प्रोफेसर चंदूमाजरा ने कहा कि प्रधान सुखबीर बादल ने कमेटी कनवीनर बलविंदर भूंदड़ को कहा था कि वह समीक्षा कमेटी की मीटिंग करें। उसमें झूंदा कमेटी की रिपोर्ट पर विचार करें। फिर एक संयुक्त राय बनाकर कोर कमेटी में लाएं। इसके बावजूद रिपोर्ट सीधे कोर कमेटी में रख दी गई। मैंने रिपोर्ट पढ़ी भी नहीं है। मुझे नहीं पता कि सीधे रिपोर्ट वहां क्यों भेज दी गई। कल मेरे कुछ नजदीकियों के परिजनों का भोग था, इसलिए मुझे वहां भोग पर जाना जरूरी था, इसलिए मैं मीटिंग में नहीं आ सका।

झूंदा कमेटी ने दिए 42 सुझाव, सुखबीर को हटाने का प्रस्ताव नहीं
चुनावी हार के कारण खोजने के लिए अकाली दल ने 13 मेंबरी कमेटी बनाई है। यह कमेटी वरिष्ठ नेता इकबाल सिंह झूंदा की अगुआई में बनी थी। इस कमेटी ने कल चंडीगढ़ में हुई कोर कमेटी की मीटिंग में रिपोर्ट सौंपी। जिस पर करीब 5 घंटे मंथन हुआ। इसके बाद वरिष्ठ नेता बलविंदर भूंदड़ ने कहा कि झूदा कमेटी ने 42 सुझाव दिए। जिन्हें मान लिया गया है। इसमें लीडरशिप बदलने यानी सुखबीर बादल को प्रधान पद से हटाने का कोई सुझाव नहीं है।

चंदूमाजरा से रिपोर्ट पर पूरी सलाह ली गई : वल्टोहा
अकाली नेता विरसा सिंह वल्टोहा ने कहा कि रिपोर्ट में हर शब्द पर प्रोफेसर चंदूमाजरा की सलाह ली गई है। वहीं उन्होंने कोर कमेटी मीटिंग से पहले ही बता दिया था कि वह आज मीटिंग में नहीं आ सकते। उन्होंने पूरी बात भी बता दी थी। वहीं कल कोर कमेटी में वही मेंबर थे, जो समीक्षा कमेटी में रखे गए थे।