• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Sidhu Moosewala | Famus Punjabi Singar Sidhu Moosewala, Moosewala Firing Updates; Punjab News 

29वें बर्थ-डे से 12 दिन पहले सिद्धू मूसेवाला का मर्डर:मानसा में AK-47 से गोलियां दागीं; गैंगस्टर लॉरेंस के कनाडा में बैठे साथी ने ली जिम्मेदारी

चंडीगढ़6 महीने पहले

मशहूर पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की दिनदहाड़े हत्या कर दी गई है। उन पर मानसा के गांव जवाहरके में AK-47 से ताबड़तोड़ फायरिंग हुई। फायरिंग में मूसेवाला की जान चली गई और उनके 2 साथी जख्मी हो गए। पंजाब में CM भगवंत मान की अगुआई वाली AAP सरकार ने शनिवार को ही सिद्धू मूसेवाला की सिक्योरिटी घटाई थी। वहीं गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई के साथी और कनाडा में बैठे गोल्डी बराड़ ने सिद्धू मूसेवाला की हत्या की जिम्मेदारी ली है। उन्होंने यह जानकारी अपनी सोशल मीडिया पर शेयर कर दी। 28 साल के मूसेवाला का 11 जून को 29वां जन्मदिन था। इससे 12 दिन पहले ही उनका मर्डर कर दिया।

गोल्डी बराड ने सोशल मीडिया पर ली सिद्धू मूसेवाला की हत्या की जिम्मेदारी।
गोल्डी बराड ने सोशल मीडिया पर ली सिद्धू मूसेवाला की हत्या की जिम्मेदारी।

सिद्धू मूसेवाला साथियों के साथ गाड़ी से जा रहे थे। उसी दौरान काले रंग की गाड़ी में सवार हमलावरों ने उन पर फायरिंग की। घर से करीब 5 किमी दूर ही मूसेवाला को गोलियां मार दी गई। मूसेवाला खुद थार जीप चला रहे थे। उन पर करीब 30 से 40 फायर किए गए। फायरिंग इतनी ताबड़तोड़ हुई कि मूसेवाला अपनी सीट से हिल तक नहीं सके।

हत्यारों ने अपनी गाड़ियां छोड़ीं, गन पॉइंट पर ऑल्टो लूटकर भागे
सिद्धू मूसेवाला की हत्या के बाद हमलावर अपनी गाड़ियों को रास्ते में ही छोड़कर भाग गए। पुलिस ने दो गाड़ियां बरामद की हैं, इनमें एक टोयोटा कोरोला और दूसरी बोलेरो है। दोनों गाड़ियों के नंबर दिल्ली के हैं। यह भी पता चला है कि हमलावरों ने इसके बाद एक ऑल्टो गाड़ी को गन पॉइंट पर लूटा और उसमें सवार होकर भाग गए। इसके बाद पंजाब पुलिस ने पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड समेत उत्तर प्रदेश पुलिस को अलर्ट किया है। वहीं पुलिस ने इस मामले में 4-5 संदिग्ध लोगों को उठाया है।

DGP बोले- विश्नोई गैंग ने किया मर्डर, गनमैन और बुलेट प्रूफ गाड़ी नहीं ले गए मूसेवाला

  • DGP वीके भावरा ने कहा कि मूसेवाला साढ़े 4 बजे घर से निकले। साढ़े 5 बजे वह खुद थार चलाकर जा रहे थे। उनके साथ 2 लोग थे। इनके पीछे एक गाड़ी थी और 2 गाड़ियां सामने से आई। उन्हें गोलियां मारी गई। अस्पताल पहुंचने तक उनकी मौत हो चुकी थी।
  • यह मामला गैंगवार का है। सिद्धू मूसेवाला के मैनेजर शगनप्रीत का नाम मोहाली में हुए विक्की मिड्‌डूखेड़ा के मर्डर में आया था। शगनप्रीत ऑस्ट्रेलिया में है। उसका बदला लेने के लिए लॉरेंस विश्नोई गैंग ने यह मर्डर करवाया है। इसकी जिम्मेदारी कनाडा बैठे गैंगस्टर ने ले ली है।
  • DGP ने कहा कि मूसेवाला के पास पंजाब पुलिस के 4 कमांडोज हैं। घल्लूघारा दिवस की वजह से उनके 2 कमांडों वापस लिए गए थे। 2 कमांडों उनके पास थे। जब वह गए तो कमांडों को साथ नहीं ले गए। कमांडों को कहा कि उन्हें साथ आने की जरूरत नहीं है।
  • मूसेवाला के पास प्राइवेट बुलेट प्रूफ गाड़ी थी, उसे भी मूसेवाला साथ नहीं ले गए। CM भगवंत मान के आदेश पर स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम बनाई जा रही है। इसके लिए रेंज के IG को कह दिया गया है। मौके से 3 तरह के हथियार के खोल मिले हैं। इस दौरान 30 से ज्यादा फायर हुए।

विक्की मिड्‌डूखेड़ा के कत्ल का बदला लिया
मूसेवाला की हत्या विक्की मिड्‌डूखेड़ा के कत्ल का बदला लेने के लिए की गई है। गैंगस्टर बिश्नोई के साथी रहे मिड्‌डूखेड़ा का मोहाली में कत्ल कर दिया गया था। इसमें सिद्धू मूसेवाला के मैनेजर का नाम सामने आया था। इसके बाद मैनेजर ऑस्ट्रेलिया भाग गया था। वह दिल्ली पुलिस का वांटेड है। इसमें लॉरेंस बिश्नोई और लक्की पटियाल का नाम सामने आ रहा है।

SSP मानसा बोले- गैंगवार लग रही

मानसा के SSP ने इस वारदात को गैंगवार बताया है। उनके मुताबिक सिद्धू मूसेवाला साथ में सिक्योरिटी में तैनात गनमैन लेकर नहीं गया था। बोलेरो समेत दो गाड़ियां पीछा कर रहीं थी। गांव में पहुंचते ही ताबड़तोड़ फायिरंग हुई। ऐसा लग रहा है कि AK-47 कौ इस्तेमाल हुआ है। मौके पर 9MM पिस्टल के खोल मिले हैं। एसएसपी मानसा गौरव तूरा ने कहा कि मूसेवाला अपने दोस्त और कजन के साथ कहीं जा रहे थे। जवाहरके में बोलेरो और स्कॉर्पियों सवार गैंगस्टरों ने सामने से आकर उनकी थार जीप को रोका। इसके बाद मूसेवाला पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी गई। हत्या में करीब 6 से 8 लोग शामिल हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि यह गैंगवार हो सकती है।

ताबड़तोड़ फायरिंग में सिद्धू मूसेवाला की मौत हो गई।
ताबड़तोड़ फायरिंग में सिद्धू मूसेवाला की मौत हो गई।

गौरतलब है कि मूसेवाला को गैंगस्टर्स से धमकी मिल रही थी। हालांकि, पुलिस ने अभी तक इस मामले में कुछ स्पष्ट नहीं किया है, लेकिन लॉरेंस विश्नोई गैंग का नाम आने की चर्चा है। मूसेवाला के पास पहले 8 से 10 गनमैन थे, जिन्हें घटाकर पहले 4 किया गया। शनिवार को सरकार ने उनके पास सिर्फ 2 ही गनमैन छोड़े थे। हत्या के वक्त यह दोनों भी उनके साथ नहीं थे।

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान का ट्वीट।
पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान का ट्वीट।

भगवंत मान बोले- बख्शे नहीं जाएंगे हत्यारे
पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने सिद्धू मूसेवाला के हत्या पर शोक जताया है। उन्होंने कहा- हत्यारों की तलाश की जा रही है। हत्या से मैं काफी दुखी हूं। हमलावर जो भी होंगे, बख्शे नहीं जाएंगे। मैं सबसे शांति बनाए रखने की अपील करता हूं।​​​​​​

कल ही वकील को फोन कर बताया था खतरा
सिद्धू मूसेवाला ने कल ही अपने वकील से बात की थी, जिसमें उन्होंने जान का खतरा बताया था। मूसेवाला ने कहा था कि पंजाब सरकार ने अचानक बिना कोई नोटिस दिए उनकी सुरक्षा घटा दी है। ऐसे में इसके लिए कोई दूसरा इंतजाम करना होगा।

पंजाब पुलिस इंटेलिजेंस दूसरी बार फेल:पहले अपने ही ऑफिस पर रॉकेट अटैक का पता नहीं चला; अब मूसेवाला की सुरक्षा में चूके

सिद्धू मूसेवाला की गाड़ी पर सामने से फायरिंग की गई, इसके निशान कार के फ्रंट ग्लास पर साफ दिख रहे हैं।
सिद्धू मूसेवाला की गाड़ी पर सामने से फायरिंग की गई, इसके निशान कार के फ्रंट ग्लास पर साफ दिख रहे हैं।

पंजाब सरकार बताए मूसेवाला की सुरक्षा क्यों घटाई: भाजपा
भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने सिद्धू मूसेवाला की हत्या की निंदा की है। उन्होंने इसके लिए पंजाब की AAP सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। पात्रा ने कहा- केजरीवाल और राघव चड्‌ढा दिल्ली में बैठकर रिमोट से पंजाब में सरकार चला रहे हैं। सरकार ने मूसेवाला की सुरक्षा घटाई और उनके जान चली गई। सरकार को सुरक्षा घटाने पर स्पष्टीकरण देना चाहिए।

सिद्धू मूसेवाला की थार गाड़ी, जिसे वह चला रहे थे।
सिद्धू मूसेवाला की थार गाड़ी, जिसे वह चला रहे थे।

कांग्रेस के टिकट पर विजय सिंगला के खिलाफ लड़ा था चुनाव
सिद्धू मूसेवाला ने पंजाब विधानसभा चुनाव में मानसा सीट से कांग्रेस के टिकट पर आम आदमी पार्टी के डॉ. विजय सिंगला के खिलाफ चुनाव लड़ा था। मूसेवाला हार गए थे और उन्हें हराने वाले विजय सिंगला राज्य के स्वास्थ्य मंत्री बने थे। हाल ही में CM भगवंत मान ने भ्रष्टाचार के आरोप में उन्हें पद से बर्खास्त किया था।

राहुल गांधी ने दुख जताया