• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Sidhu Moosewala Murder; Lawrence Bishnoi Brother Anmol Bishnoi And Nephew Sachin Thapan 

मूसेवाला मर्डर केस में लॉरेंस का भांजा अजरबैजान में अरेस्ट:भाई अनमोल कनाडा से कीनिया भागा; विदेश मंत्रालय ने मांगी क्रिमिनल हिस्ट्री

चंडीगढ़5 महीने पहले

पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला मर्डर केस में दो बड़ी जानकारी सामने आई है। पहला- मूसेवाला मर्डर के मास्टरमाइंड सचिन थापन को अजरबैजान की लोकल पुलिस ने अरेस्ट कर लिया है। वहीं, दूसरी खबर है कि गैंगस्टर लॉरेंस का भाई अनमोल कनाडा से कीनिया पहुंच गया है।

ये दोनों मूसेवाला के कत्ल से पहले फर्जी पासपोर्ट पर भारत छोड़ भाग गए थे। इसकी जानकारी मिलते ही विदेश मंत्रालय ने पंजाब पुलिस से दोनों की क्रिमिनल हिस्ट्री मांगी है। पंजाब के DGP गौरव यादव ने कहा कि अजरबैजान में पकड़े गए सचिन थापन को भारत लाने की कार्रवाई शुरू कर दी गई है।

पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला की 29 मई को मानसा में गोलियां मारकर हत्या कर दी गई। इसकी जिम्मेदारी लॉरेंस गैंग के कनाडा बैठे गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने ली।
पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला की 29 मई को मानसा में गोलियां मारकर हत्या कर दी गई। इसकी जिम्मेदारी लॉरेंस गैंग के कनाडा बैठे गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने ली।

फेक पासपोर्ट केस में पकड़ा गया सचिन
सूत्रों के मुताबिक, सचिन को फर्जी पासपोर्ट मामले में करीब एक महीने पहले पकड़ा गया। इसकी जानकारी कुछ दिन पहले विदेश मंत्रालय को दी गई। अब विदेश मंत्रालय ने पंजाब पुलिस से सचिन का पूरा क्रिमिनल रिकॉर्ड मांगा है। मूसेवाला केस में सचिन के रोल के बारे में भी रिपोर्ट मांगी है। सचिन को जल्द अजरबैजान से भारत लाया जा सकता है।

सचिन थापन के असली और पासपोर्ट में दी गई फर्जी जानकारी।
सचिन थापन के असली और पासपोर्ट में दी गई फर्जी जानकारी।

अनमोल पहले कनाडा, फिर कीनिया भागा
सूत्रों के मुताबिक, अनमोल और सचिन नेपाल के रास्ते दुबई गए। वहां से सचिन अजरबैजान चला गया। इसके बाद अनमोल कनाडा चला गया। लेकिन सचिन को फेक पासपोर्ट केस में गिरफ्तार कर लिया गया। इसकी जानकारी मिलते ही अनमोल कनाडा से कीनिया भाग गया।

लॉरेंस ने कत्ल से पहले भारत से बाहर भेजा
पंजाब पुलिस की जांच में खुलासा हुआ कि लॉरेंस और गोल्डी बराड़ के साथ सचिन थापन और अनमोल भी मूसेवाला हत्याकांड के मास्टरमाइंड हैं। मूसेवाला का कत्ल करने से पहले लॉरेंस ने उनके फेक पासपोर्ट बनवाए और उन्हें बाहर भेज दिया। इसके बाद 29 मई को मूसेवाला की हत्या कर दी गई। सचिन थापन ने बाद में एक टीवी चैनल को फोन कर हत्या की जिम्मेदारी ली थी।

अनमोल के असली और पासपोर्ट पर दी गई फर्जी जानकारी।
अनमोल के असली और पासपोर्ट पर दी गई फर्जी जानकारी।

DGP बोले- इंटेलिजेंस बेस्ड ऑपरेशन से मिली लोकेशन

पंजाब के DGP गौरव यादव ने कहा कि मूसेवाला हत्याकांड में सचिन थापन विदेश में बैठकर गोल्डी बराड़ और शूटर्स के संपर्क में था। इंटेलिजेंस बेस्ड ऑपरेशन कर हमने इसकी लोकेशन पता की। जिसके जरिए पता चला कि फेक पासपोर्ट पर वह दुबई गया। हमने उसे दुबई से अजरबैजान तक ट्रेस किया। इसमें हमें केंद्रीय एजेंसियों का पूरा सहयोग मिला। उसे वापस लाने के लिए प्रक्रिया चल रही है। सचिन को पंजाब लाकर सजा दिलाई जाएगी।

लॉरेंस ने रची थी मूसेवाला की हत्या की साजिश, अनमोल-सचिन ने अंजाम दिया
मूसेवाला के कत्ल की साजिश तिहाड़ जेल में बैठकर लॉरेंस ने रची थी। इसके बाद अनमोल और सचिन ने कनाडा के गैंगस्टर गोल्डी बराड़ के साथ मिलकर पूरी साजिश को अंजाम दिया। उन्होंने मूसेवाला की रेकी कराई। फिर शूटर्स और उनके लिए हथियारों का इंतजाम किया। लॉरेंस की कोशिश थी कि सचिन और अनमोल मूसेवाला का कत्ल करवाएं, लेकिन उसके बाद इस केस में उनका नाम न आए या फिर पुलिस उन्हें अरेस्ट न करे।

ये भी पढ़ें-

खबरें और भी हैं...