पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

किसान आंदोलन:वार्ता जारी है, अभी सुनवाई न करें: केंद्र हां, लेकिन हुआ कुछ नहीं: सुप्रीम कोर्ट

बठिंडा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सरकार ने हल का भरोसा दिया, सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई टाली
  • अब 11 को सुनवाई, कोर्ट बोला- बातचीत ठीक रही तो सुनवाई और टाल सकते हैं

कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली की सीमाओं पर डटे किसानों और सरकार के बीच बातचीत में अभी तक कोई हल नहीं निकलने पर सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को चिंता जाहिर की। चीफ जस्टिस एसए बोबडे ने कहा- ‘हमारा उद्देश्य दोनों पक्षों के बीच बातचीत को और ज्यादा सुविधाजनक बनाना है। हम चाहते हैं कि जल्द से जल्द मामला सुलझ जाए।’ कोर्ट ने सरकार से पूरे मामले पर जवाब मांगा था, जो दायर नहीं किया गया।

सॉलीसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा- ‘हमने अभी जवाब इसलिए नहीं दिया, क्योंकि हमें उम्मीद है कि बातचीत से हल निकल जाएगा।’ इस पर चीफ जस्टिस बोबडे ने कहा- ‘अभी तक स्थिति में कोई सुधार नहीं हुआ है।’ सॉलीसिटर जनरल ने कहा कि अभी बातचीत चल रही है। ऐसे में सुनवाई उचित नहीं होगी। सरकार के जवाब दायर करने या कोर्ट द्वारा सुनवाई करने से बातचीत प्रभावित हो सकती है।

इस पर बोबडे ने कहा- ‘इतने दिनों तक कुछ नहीं हुआ। फिर भी हम आपके अनुरोध को स्वीकार करते हैं और 11 जनवरी तक सुनवाई टाल रहे हैं। अगर बातचीत सही दिशा में जाएगी तो उस दिन भी सुनवाई टाल सकते हैं। वहीं कोर्ट में किसानों को सड़कों से हटाने की मांग को लेकर एक और याचिका दायर की गई है।

फिरोजपुर, मुक्तसर, अमृतसर में निकाले गए ट्रैक्टर मार्च

आज के प्रस्तावित ट्रैक्टर मार्च से पहले फिरोजपुर, मुक्तसर, अमृतसर में किसानों ने ट्रैक्टर मार्च निकाले। मुक्तसर में 500, फिरोजपुर में 300, अमृतसर में 110 ट्रैक्टर ट्रालियों के जरिये मार्च निकाला गया। जबकि 800 किसानों का जत्था दिल्ली बॉर्डर के लिए रवाना हुआ। किसान नेताओं ने बताया कि दिल्ली के लिए 12 को अमृतसर व 22 को तरनतारन से ट्रैक्टर-ट्रालियों का जत्था जाएगा।

दिल्ली में तबीयत बिगड़ने से पंजाब के 3 और किसानों की मौत

सिंघु बाॅर्डर से लौट रहे बठिंडा के किसान मनप्रीत सिंह (24) की रास्ते में ही हार्टअटैक से मौत हो गई। नाभा में गांव भोडे के किसान गुरजंट सिंह (63) की हार्टअटैक से मौत हो गई। वह भी तबीयत खराब होने पर वापस भेजे गए थे। बरनाला के गांव ढिलवां के किसान नाजर सिंह (48) की मोर्चे के दौरान भीगaते रहने से तबीयत खराब होने के चलते मौत हो गई।

कैप्टन बोले- किसानों की भी बात सुनें मोदी

सीएम कैप्टन ने कहा, पीएम मोदी किसानों की बात सुनें। मांगों में कुछ गलत नहीं है, इसलिए कृषि कानून रद्द कर देने चाहिए। बातचीत के बाद नए कानून लाए जा सकते हैं। हाल ही में लागू किये गए खेती कानूनों को रद्द करने के लिए संविधान में फिर संशोधन किया जा सकता है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आप बहुत ही शांतिपूर्ण तरीके से अपने काम संपन्न करने में सक्षम रहेंगे। सभी का सहयोग रहेगा। सरकारी कार्यों में सफलता मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए सुकून दायक रहेगा। न...

    और पढ़ें