प्रेम संबंध / शादीशुदा जोड़े ने अपने-अपने घर बिगाड़ नहर में लगाई छलांग, आईलेट्स टीचर युवती की मौत; बच गया प्रेमी गिरफ्तार

मोगा की प्रेमदीप कौर, जो आईलेट्स के स्टूडेंट्स को पढ़ाती थी और एक स्टूडेंट से प्यार के चक्कर में शादी के बाद भी मिलना नहीं छोड़ा। अब नहर में कूदकर आत्महत्या कर ली। मोगा की प्रेमदीप कौर, जो आईलेट्स के स्टूडेंट्स को पढ़ाती थी और एक स्टूडेंट से प्यार के चक्कर में शादी के बाद भी मिलना नहीं छोड़ा। अब नहर में कूदकर आत्महत्या कर ली।
X
मोगा की प्रेमदीप कौर, जो आईलेट्स के स्टूडेंट्स को पढ़ाती थी और एक स्टूडेंट से प्यार के चक्कर में शादी के बाद भी मिलना नहीं छोड़ा। अब नहर में कूदकर आत्महत्या कर ली।मोगा की प्रेमदीप कौर, जो आईलेट्स के स्टूडेंट्स को पढ़ाती थी और एक स्टूडेंट से प्यार के चक्कर में शादी के बाद भी मिलना नहीं छोड़ा। अब नहर में कूदकर आत्महत्या कर ली।

  • मोगा के ज्वैलर सिमरनप्रीत सिंहऔर प्रेमदीप कौर के बीच थे प्रेम संबंध, अलग-अलग जगह शादी हो जाने के बावजूद मिलते रहे दोनों
  • 17 मार्च को दोनों घर से कार में भागे, कुछ दिन महाराष्ट्र, राजस्थान व हरियाणा में रहने के बाद 7 अप्रैल को भाखड़ा में कूदे थे
  • पुलिस ने युवती की लाश और कार बरामद की थी, अब प्रेमी भी चढ़ा पुलिस के हत्थे; दोनों ने घर भेजे थे सुसाइड नोट

दैनिक भास्कर

Apr 10, 2020, 05:02 PM IST

फतेहगढ़ साहिब. फतेहगढ़ साहिब जिले के सरहिंद में एक प्रेमी जोड़े ने नहर में छलांग लगा दी। इस दौरान आईलेट्स टीचर युवती की मौत हो गई, जबकि उसका प्रेमी बच गया। पुलिस ने प्रेमी को गिरफ्तार कर मामले की जांच शुरू कर दी है। घटना 7 अप्रैल की है, जब पुलिस ने नहर के किनारे से युवती का शव और कार बरामद की थी। अब 3 दिन बाद अब उसके प्रेमी को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पता चला है कि इससे पहले ये दोनों घर से भाग गए थे और विभिन्न राज्यों में रहे। वापस आने के बाद दोनों साथ मरने की सोचकर नहर में कूदे थे।


युवक की पहचान मोगा के के रहने वाले सिमरनप्रीत सिंह के रूप में हुई है, जो पेशे से सुनार है। पुलिस पूछताछ में उसने बताया कि धर्म सिंह नगर मोगा निवासी 25 वर्षीय प्रेमदीप कौर उर्फ सपना आइलेट्स टीचर थी। वह भी प्रेमदीप से आइलेट्स की कोचिंग लेता था, जिस दौरान दोनों के बीच प्रेम संबंध बन गए। दोनों शादी करना चाहते थे, लेकिन परिजन तैयार नहीं हुए। इसके बाद दोनों की शादी अलग-अलग जगह हो गई, मगर इसके बाद भी दोनों मिलते रहे। 17 मार्च को दोनों घर से कार में भाग गए। वह कुछ दिन महाराष्ट्र, राजस्थान व हरियाणा में रहे। 7 अप्रैल को दोनों सरहिंद पहुंचे और भाखड़ा नहर में छलांग लगा दी। वह तैरना जानता था, इसलिए बचकर नहर के बाहर आ गया।


सिमरनप्रीत ने पुलिस को बताया कि हालांकि उसने प्रेमदीप को भी नहर से निकाल लिया। प्रेमदीप की हालत काफी खराब हो चुकी थी। कुछ देर बाद वह फिर से कूद गया, लेकिन दूसरी बार फिर बच गया। मर नहीं पाने के बाद वह एंबुलेंस वगैरह की तलाश में जीटी रोड पर पहुंचा, लेकिन तब तक प्रेमदीप की मौत हो गई थी। उसे वहीं छोड़कर भाग निकला। बाद में पुलिस ने सूचना मिलने पर प्रेमदीप का शव और नहर किनारे से कार बरामद कर ली थी। पता यह भी चला है कि दोनों ने नहर में कूदने से पहले अपने-अपने घर सुसाइड नोट भी भेज दिए थे।


थाना सरहिंद पुलिस ने प्रेमदीप के भाई लवदीप सिंह की शिकायत पर खुदकुशी के लिए मजबूर करने के आरोप में सिमरनप्रीत सिंह, उसके भाई हरमनप्रीत सिंह, मां पूनम रानी रामगंज रोड मोगा और जगदीश सिंह जंडू सरदार नगर मोगा के खिलाफ केस दर्ज कर लिया था। लवप्रीत ने आरोप लगाया था कि आरोपी उसकी बहन को परेशान कर रहे थे, जिस कारण उसने नहर में छलांग लगा दी। पुलिस ने गुरुवार देर शाम को सिमरनप्रीत को गिरफ्तार कर फतेहगढ़ साहिब की अदालत में पेश किया। अदालत ने उसे न्यायिक हिरासत में नाभा जेल भेज दिया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना