पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • When The Father Fell Ill In The Lockdown, The Bicycle Woke Up And Started Selling Papad badi, 13 year old Manpreet Wants To Be A Police Cop

सीएम ने जिसे 5 लाख दिए, उस बच्चे की कहानी:लॉकडाउन में नौकरी चली जाने पर पिता बीमार पड़े तो साइकिल उठा पापड़ बेचने निकल पड़ा 13 साल का मनप्रीत, बनना चाहता है पुलिस कॉप

अमृतसर11 दिन पहले
साइकिल पर पापड़-बड़ियां, भुने हुए चने और गोल गप्पे वगैरह बेचने निकला 13 साल का मनप्रीत सिंह। इसकी हिम्मत की तारीफ हर तरफ हो रही है। खुद मुख्यमंत्री ने वीडियो कॉलिंग करके 5 लाख रुपए देने का ऐलान किया है।
  • अमृतसर के नवां कोट इलाके में पिता और दो बहनों के सााथ रहता है 7वीं का छात्र मनप्रीत सिंह
  • घर चलाने के लिए गली-गली पापड़-बड़ियां, भूने हुए चने वगैरह बेचने का वीडियो हुआ वायरल
  • सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने खुद वीडियो कॉलिंग करके बढ़ाया हौसला, 5 लाख देने का ऐलान

कोरोना लॉकडाउन में जहां लोगों के काम छूट गए, बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हो गई, वहीं परेशानी के इस माहौल में अमृतसर से हौसले की एक कहानी सामने आई है। पिता की नौकरी छूट जाने के बाद 13 साल के मनप्रीत को अपने परिवार का सहारा बनने के लिए गली-गली घूमकर पापड़-बड़ियां और गोल गप्पे वगैरह बेचते देखा जा सकता है। जैसे ही इसकी कहानी का पता चला, प्रदेश के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने उसे 5 लाख रुपए देने का ऐलान किया है। जल्द ही यह रकम फिक्स्ड डिपॉजिट के रूप में पहुंच जाएगी। क्या है इसकी मजबूरी, पढ़ने की उम्र में क्यों उसे साइिकल से सामान बेचने के लिए मजबूर होना पड़ा? आइए थोड़ा विस्तार से जानते हैं...

पिता और दो बहनों के साथ 13 साल का मनप्रीत, जिसने घर चलाने का बीड़ा खुद उठा लिया।
पिता और दो बहनों के साथ 13 साल का मनप्रीत, जिसने घर चलाने का बीड़ा खुद उठा लिया।

महानगर के नवां कोट से ताल्लुक रखने वाला 13 साल का मनप्रीत सिंह बताता है कि उसकी मां की पहले ही मौत हो चुकी है। परिवार में उसके और उसकी दो बहनों का पालन-पोषण पिता सब्जी बेचकर कर रहे थे। मनप्रीत खजाना गेट के एक प्राइवेट स्कूल में 7वीं क्लास में पढ़ता है। बड़ी बहन जसप्रीत कौर 10वीं में और छोटी बहन इंद्रप्रीत कौर 8वीं में पढ़ती है। बताया जाता है कि कोरोना लॉकडाउन के दौरान पिता की नौकरी छूट गई। फिर वह सब्जी बेचने लग गए, लेकिन अचायक तबीयत इतनी बिगड़ गई कि उन्हें सब्जी बेचने का काम छोड़ना पड़ा। ऐसे में परिवार के सामने गुजर-बसर का संकट खड़ा हो गया।

घर पर मोमबत्ती की लौ की मदद से खाने-पीने की चीजों के पैकेट बनाता मनप्रीत सिंह।
घर पर मोमबत्ती की लौ की मदद से खाने-पीने की चीजों के पैकेट बनाता मनप्रीत सिंह।

मनप्रीत सिंह ने हिम्मत दिखाई और साइकिल उठाकर निकल पड़ा। अब वह साइिकल पर पापड़-बड़ियां, भूने हुए चने और गोल गप्पे आदि बेचता है। एक दिन उसने सड़क पर खड़ी एक कार का शीशा खटखटाकर चने या गोल गप्पे खरीदने को कहा। कार चालक ने उसे बिना सामान खरीदे ही कुछ पैसे देने की बात कही तो इस आत्मविश्वासी बालक ने पैसे लेने से इंकार कर दिया। उस कार चालक ने न सिर्फ मनप्रीत को शाबाशी दी, बल्कि उसका वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया। वीडियो में मनप्रीत को कहते सुना जा सकता है, 'मुझे मदद के लिए कई लोगों ने बिना सामान लिए पैसे देने की पेशकश की, लेकिन मैंने साफ मना कर दिया। गुरु नानक देव जी ने भी हम लोगों को मेहनत से रोजी-रोटी कमाने का संदेश दिया है तो फिर मैं भी मेहनत क्यों न करूं'।

वीडियो कॉलिंग के जरिये मनप्रीत सिंह के साथ बात करते मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह।
वीडियो कॉलिंग के जरिये मनप्रीत सिंह के साथ बात करते मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह।

जैसे ही यह वीडियो मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर तक पहुंचा। उन्होंने मनप्रीत सिंह की आर्थिक मदद करने का फैसला किया। बीते दिनों अमृतसर के डीसी गुरप्रीत सिंह के जरिये वीडियो कॉलिंग पर हौसला अफजाई की और उसे 5 लाख रुपए की आर्थिक मदद का ऐलान किया।

मनप्रीत सिंह ने कहा कि पंजाब सरकार ने मेरा हाथ पकड़ा है तो मैं भी पढ़-लिखकर पंजाब सरकार की ही सेवा करना चाहूंगा। यह मदद मेरे लिए एक कर्ज के रूप में है। यह कर्ज मैं पंजाब पुलिस का हिस्सा बनकर पंजाब की सेवा करके चुकाऊंगा। साथ ही अपनी दोनों बहनों को पढ़ाने में अपने पिता की मदद करूंगा, ताकि वो भी पढ़-लिखकर समाज के लिए कुछ कर सकें।

इस बारे में डीसी गुरप्रीत सिंह का कहना है कि जल्द ही 5 लाख रुपए फिक्स्ड डिपॉजिट के रूप में उसके खाते में डलवा दिए जाएंगे। वहीं चौगांव-टू प्राइमरी स्कूल की अध्यापिका नवप्रीत कौर ने बताया कि मनप्रीत और उसकी दोनों बहनों का एक-दो दिन में स्कूल में दाखिला करवा दिया जाएगा। मनप्रीत सिंह का आधार कार्ड बनवाएंगे, ताकि पंजाब सरकार से उसे मिलने वाली सुविधाएं जल्द से जल्द मिल सकें।उधर, मनप्रीत के घर की छत ढहने वाली थी। बीते दिनों नूरपुरी कीर्तन प्रोमोशन सर्विस सोसायटी की तरफ से भाई सरबजीत सिंह ने नवनिर्माण के लिए नींवपत्थर रखवा दिया।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन परिवार व बच्चों के साथ समय व्यतीत करने का है। साथ ही शॉपिंग और मनोरंजन संबंधी कार्यों में भी समय व्यतीत होगा। आपके व्यक्तित्व संबंधी कुछ सकारात्मक बातें लोगों के सामने आएंगी। जिसके ...

और पढ़ें