पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पति की बरसी पर दी जान:बेटे से वीडियो कॉल पर बात करते हुए लगाई फांसी, जिस सीढ़ी से गिरकर पति की मौत होई थी, उसी ग्रिल से बांधा फंदा

जालंधर7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पति की मौत के बाद महिला परेशान रहने लगी थी। - प्रतीकात्मक फोटो।
  • कनाडा से बेटे ने फोन कर पड़ोसी को दी जानकारी, तब तक हो चुकी थी मौत
  • मलकीत सिंह काजला पंजाब पुलिस से रिटायर्ड इंस्पेक्टर थे, दो साल पहले सीढ़ियों से गिरने से हुई थी मौत

हरदीप नगर में अकेली रहती 60 साल की तरसेम कौर ने कनाडा में बैठे बेटे से वीडियो कॉल कर कहा- ‘अज्ज तेरे डैडी दी दूसरी बरसी है, मैनूं उनां दी याद आऊगी।’ बेटे ने उसे समझाने की कोशिश की लेकिन मां ने इतनी बात करने के बाद मोबाइल बंद कर घर में लगे सीसीटीवी कैमरे बंद कर दिए। यह देख बेटे ने चाची को कॉल करके कहा कि मां ठीक नहीं है। जब चाची और उनकी फैमिली घर आई तो देखा कि तरसेम कौर ने उसी सीढ़ी की ग्रिल से फंदा लगाया था जिससे दो साल पहले उनके पति की गिरने से मौत हुई थी। कनाडा में रहता बेटा भूपिंदर सिंह गोल्डी और अमेरिका व इंग्लैंड में ब्याही बेटियां जल्द इंडिया आ रहे हैं ताकि मां का अंतिम संस्कार कर सकें।

एक बेटी अमेरिका, दूसरी इंग्लैंड में, बेटा भी कनाडा में, आने पर होगा संस्कार

वीरवार सुबह हरदीप नगर में उस समय सनसनी फैल गई, जब हरदयाल नगर में रहते गोल्डी के चाचा-चाची दौड़ कर आए। कोठी नंबर-68 का दरवाजा अंदर से बंद था। यह सुनकर पड़ोसन हरजीत कौर और उनकी फैमिली बाहर आ गई। फैमिली मेंबर दीवार फांदकर अंदर गए तो देखा कि तरसेम कौर का शरीर फंदे से लटक रहा था और उनकी मौत हो चुकी थी। हरदयाल नगर की रहने वाली परमिंदर कौर ने कहा कि उनके जेठ मलकीत सिंह काजला पंजाब पुलिस से इंस्पेक्टर रिटायर हुए थे।

उनका बेटा गोल्डी कनाडा में है और एक बेटी मनजिंदर कौर अमेरिका में तो दूसरी परमिंदर कौर इंग्लैंड में ब्याही है। दो साल पहले जेठ की सीढ़ी से गिर कर मौत हो गई थी। वीरवार को उनकी बरसी थी। जेठानी अकेली कोठी में रहती थी तो गोल्डी ने कोठी में सीसीटीवी कैमरे लगाए थे और मोबाइल पर डीवीआर का लिंक लिया हुआ था। सुबह करीब 8:15 बजे कनाडा से भतीजे ने कॉल करके कहा कि मां से बात हुई थी। वह भावुक बातें कर रही थी। घर के सीसीटीवी आठ बजे बंद हो गए हैं। इसलिए वह घर आई थी।

पड़ोसन हरजीत कौर ने कहा कि बुधवार को शाम 4 बजे तक हम सब धूप में बैठे थे। वे हंस-हंसकर बातें कर रही थीं। वे खुद हैरान हैं कि बहन जी ऐसा कर सकती हैं। यह जरूर है कि पति की मौत के बाद वे पूरी तरह से टूट चुकी थीं। बेटे के पास दो महीने विदेश में रही, मगर लौट आईं क्योंकि वहां उनका दिल नहीं लगा था।

तरसेम कौर से जुड़ीं महिलाओं ने कहा- अक्सर कहती थीं- पति की यादें ही हैं, उनके बिना जी नहीं सकती

तरसेम कौर से जुड़ीं महिलाएं कहती हैं कि भाजी की मौत के बाद वे बिल्कुल अकेली हो चुकी थीं। अकसर कहती थीं कि घर में उनके पति की यादें हैं और वह उनके बिना जी नहीं सकती। पति की मौत के गम ने तरसेम कौर को अंदर ही अंदर खत्म कर दिया था। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल में भेजा है। एसीपी हरसिमरत सिंह ने कहा कि पति की मौत के बाद से तरसेम कौर डिप्रेशन में थीं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- कुछ महत्वपूर्ण नए संपर्क स्थापित होंगे जो कि बहुत ही लाभदायक रहेंगे। अपने भविष्य संबंधी योजनाओं को मूर्तरूप देने का उचित समय है। कोई शुभ कार्य भी संपन्न होगा। इस समय आपको अपनी काबिलियत प्रदर्...

और पढ़ें