पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अच्छी पहल:100 किलाे वेस्ट से बनेगी 20 किलाे जैविक खाद, कचरे का भी होगा निस्तारण

पटियाला5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जैविक खाद बनाने काे लेकर सूखी पत्तियां व अन्य सामाग्री मशीन में डालता कर्मी। - Dainik Bhaskar
जैविक खाद बनाने काे लेकर सूखी पत्तियां व अन्य सामाग्री मशीन में डालता कर्मी।
  • इंदाैर की तर्ज पर पंजाब पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड ने हेड अाॅफिस पटियाला में लगाया कंपाेस्ट प्राेजेक्ट, ट्रायल शुरू

पटियाला ही नहीं बल्कि पूरे देश के लिए सॉलिड, आर्गेनिक, किचन व कृषि वेस्ट चिंता का कारण बना हुअा है। इस समस्या से निपटने के लिए पंजाब पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड ने इंदाैर की तर्ज पर हेड ऑफिस में कंपाेस्ट प्राेजेक्ट लगाया है। इससे वातावरण स्वच्छ हाेगा वहीं जैविक खाद भी मिलेगी। इस कंपाेस्ट मशीन की कैपेसिटी 100 किलाे है। 100 किलाे वेस्ट से 15-20 किलाे जैविक खाद बनेगी। पीपीसीबी ने ट्राॅयल के ताैर पर पहले फेस में हेड अाॅफिस से शुरुअात की है। अब प्रदेश के बड़े शहर लुधियाना, जालंधर व अमृतसर में शुरुअात की तैयारी है।

बता दें 2020 में सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट का सही तरीके से निस्तारण कर इंदौर देशभर में स्वच्छता सर्वेक्षण में पहली रैंक ले आया था। पीपीसीबी के अनुसार, फूड स्क्रैप और अन्य वेस्ट से 28 फीसदी से अधिक कचरा बनता है। चेयरमैन प्राे. एसएस मरवाहा ने बताया कि जैविक खाद बनाकर कचरे में फेंके गए भोजन की मात्रा को कम किया जा सकता है।

भारत में हर दिन अर्बन क्षेत्रों में एक व्यक्ति करीब 700-800 ग्राम सॉलिड वेस्ट फेंक देता है। कचरे से ऑर्गेनिक खाद घर पर ही बना सकते हैं। कम्पोस्टिंग से मिट्टी पोषक तत्वों से भरपूर होती है जो पौधों को बढ़ने में मदद कर सकती है। यह खाद या ह्यूमस का उपयोग लोग बगीचों में, खेतों और मल्च के रूप में भी कर सकते हैं। मल्च गीली मिट्टी की सतह पर लगाई जाने वाली सामग्री की एक लेयर है। इससे मिट्टी की नमी और क्वालिटी में सुधार होता है। जैविक खाद से व्यक्ति के स्वास्थ्य को भी लाभ हो सकते हैं।

प्रोजेक्ट से वातावरण भी होगा स्वच्छ- कंपोस्टिंग कुछ खाद्य और यार्ड उत्पादों को रिसाइकल करने का प्राकृतिक तरीका है। यह लोगों को पर्यावरण की मदद करने और पौधों को बढ़ने के लिए मिट्टी को समृद्ध बनाने का बेहतरीन तरीका है। यह ऑर्गेनिक कंपोस्ट या फर्टिलाइजर घर में या खेतों में उगाने वाले पौधों के लिए ही अच्छा माना जाता है। इसमें रासायनिक पदार्थ न होने से यह सॉइल हेल्थ के साथ-साथ ह्यूमन हेल्थ के लिए लाभदायक है। कई लोग पर्यावरण और व्यक्तिगत स्वास्थ्य कारणों से खाद बनाने का निर्णय लेते हैं। खाद बनाने से लैंडफिल में अपशिष्ट को कम करने में भी मदद मिलती है।

पीपीसीबी के अनुसार, कंपोस्टिंग मीथेन को कम करता है। यह एक ग्रीनहाउस गैस है जो लैंडफिल से आती है। रासायनिक उर्वरकों की आवश्यकता को कम या समाप्त करता है। किसानों के लिए उच्च फसल की उपज को बढ़ावा देता है। खराब गुणवत्ता वाली मिट्टी में सुधार कर जंगलों, वेटलैंड्स और हैबिटेट्स को रिस्टोर करने में मदद करता है। हानिकारक कचरे से मिट्टी को दूषित होने से बचाने में मदद करता है। मिट्टी की नमी के स्तर को बनाए रखने में मददगार, जिससे पानी की आवश्यकता कम हो जाती है। वातावरण से कार्बन डाइऑक्साइड की मात्रा को कम करता है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज जीवन में कोई अप्रत्याशित बदलाव आएगा। उसे स्वीकारना आपके लिए भाग्योदय दायक रहेगा। परिवार से संबंधित किसी महत्वपूर्ण मुद्दे पर विचार विमर्श में आपकी सलाह को विशेष सहमति दी जाएगी। नेगेटिव-...

    और पढ़ें