पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Patiala
  • 450 Contract Drivers And Conductors Of Patiala Depot On Indefinite Strike, When Asked The Management To The GM, He Said – Tuhanu Managing A Little Dassanga

अनिश्चितकालीन हड़ताल:पटियाला डिपो के 450 ठेका ड्राइवर व कंडक्टर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर, जीएम से प्रबंध पूछा तो बोले- तुहानूं प्रबंध थोड़ा दस्सांगा

पटियाला13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

रेगुलर करने की मांग को लेकर पीआरटीसी और पनबस के पटियाला डिपो के करीब 450 ड्राइवर-कंडक्टर सोमवार को अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए। ड्राइवर-कंडक्टरों के काम छोड़ने से पहले ही दिन पीआरटीसी के कई रूट मिस हो गए। पटियाला से जालंधर, अमृतसर और दिल्ली जैसे अहम रूठ भी शामिल हैं।

पूरा दिन हजारों लोग बस स्टैंड पर बसों का इंतजार करते रहे, लेकिन पीअारटीसी के जनरल मैनेजर सुरिंदर सिंह से पब्लिक के लिए वैकल्पिक प्रबंधों को लेकर पूछा तो उन्होंने दावा किया कि हड़ताल के बावजूद पीआरटीसी की 30 फीसदी बसें चली हैं। जब पूछा कि उनकी तरफ से यात्रियों के सुविधा के लिए कोई खास प्रबंध क्या किए गए हैं तो उन्होंने ठेठ पंजाबी लहजे में जवाब देते हुए कहा कि मैं हुण तुहानूं इक्क-इक्क प्रबंध थोड़ा दसांगा, वी असीं की-की कित्ता ए, बस एेना समझ लो कि 30 फीसदी बसां जे चलीयां ने तां प्रबंध होण करके ही चलईयां होण गीयां।

2 घंटे तक बसों के लिए करना पड़ा इंतजार

जब जीएम साहिब के दावों की पड़ताल करने के लिए बस स्टैंड जाकर मौका-ए-मुआयना किया तो स्थिति उल्ट निकली। हजारों लोग चंडीगढ़, दिल्ली काउंटर पर परेशान होते दिखे। पब्लिक ने कहा कि चंडीगढ़ को वैसे आम दिनों में हर 5 मिनट बाद बस सर्विस हैं, 2 घंटे बाद भी बस नहीं मिल रही है। पटियाला से पातड़ां-मलेरकोटला जो पीआरटीसी के मनोपोली रूट है, पर भी घंटों घंटों बस सर्विस नदारद दिखी। पटियाला से दिल्ली, जयपुर, अमृतसर, जालंधर पर तो बस सर्विस न के बराबर रही, हालांकि अमृतसर, जालंधर अौर लुधियाना के लिए प्राइवेट ट्रांसपोर्टर बसें चलाते रहे।

आज मुख्यमंत्री के सिसवां फार्म हाउस को घेरेंगे
इधर, कॉन्ट्रैक्ट मुलाजिमों ने एलान किया है कि 7 सितंबर दिन मंगलवार को मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के सिसवा फार्म हाउस का घेराव किया जाएगा। पटियाला पीआरटीसी कॉन्ट्रैक्ट वर्कर यूनियन के प्रधान विक्की के नेतृत्व में सैकड़ों मुलाजिमों ने पटियाला बस स्टैंड मेन गेट पर टेंट लगाकर सुबह से ही सरकार के खिलाफ प्रदर्शन शुरू कर दिया था, जो देर रात तक जारी रहा। प्रधान विक्की ने बताया कि पंजाब सरकार उनकी यूनियन के साथ लगातार राब्ता कायम किए हुए हैं, लेकिन सभी मुलाजिम रेगुलर होने की मांग पर अड़े हैं। जब तक सरकार रेगुलर नहीं करती आंदोलन नहीं थमेगा। पीआरटीसी में 1020 रेगुलर और 800 सीधे ठेके पर रखे मुलाजिम काम कर रहे हैं। राज्य में 7 हजार आउटसोर्स और बाहरी ठेके पर मुलाजिम काम कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...