पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

बंद:आज से 9वीं से 12वीं की लगेंंगी कक्षाएं, 30% अभिभावकों ने दी मंजूरी

पटियाला7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोविड के दौरान मार्च में बंद स्कूल 7 महीने बाद अब दोबारा खुलने जा रहे
  • 9वीं से 12 के बच्चों की संख्या 14 हजार, बोले-ऑनलाइन क्लास की कमी को स्कूल में करेंगे पूरा

कोविड के दौरान मार्च में बंद हुए स्कूल 6 महीने बाद दोबारा ओपन होने जा रहे हैं। 19 अक्टूबर से पंजाब के सरकारी स्कूलों में 9 से 12वीं तक 3 घंटे की क्लास लगाई जा रही हैं। क्लास लगाने से पहले पेरेंट्स से स्वघोषणा पत्र फार्म भरवाए गए जिसमें करीब 30 फीसदी पेंरेट्स ने बच्चों को स्कूल भेजने की मंजूरी दी है। एजुकेशन विभाग स्कूल खोलने के रविवार को भी लिए कोविड 19 से बचाव के लिए सफ़ाई में लगा रहा। डीईओ (से.) हरिन्दर कौर के अनुसार कोविड-19 संबंधी सावधानियाें के पालन के लिए जिले में पूरे दिशा-निर्देशों के तहत स्कूल खुलने की तैयारियां हो गई हैं।

जिले में करीब 14 हजार 9वीं से 12 के बच्चे हैं। स्कूलों के बाहर सैनेटाइजर रहेगा और गेट में इंट्री होगी तो सैनेटाइज किया जाएगा और स्व घोषणा फार्म भी जमा करना होगा। वहीं तापमान भी चेक किया जाएगा। वहीं बच्चों से कहा गया कि वह पानी की बोतल खुद लाएं और अगर जो बच्चे नहीं लाते तो उनके लिए स्कूल प्रशासन पानी की व्यवस्था करेगा।

सरकारी को-एड मलटीपर्पज सीनियर सेकंडरी स्कूल में पढ़ने वाली जशनप्रीत कौर और सिमरनजोत कौर का कहना है कि वह स्कूल खुलने का बहुत बेसब्री के से इंतजार कर रही हैं। कहा कि लॉकडाउन के दौरान ऑनलाइन पढ़ाई जारी रही परन्तु जो कुछ स्कूल में सीखने को मिलता है, वह उसकी कमी बहुत महसूस कर रही थी।

प्रयास सफल बनाने को उठाए जाएंगे जरूरी कदम: प्रिंसिपल
सरकारी को-एड मल्टी पर्पज सीनियर सेकेंरडरी स्कूल के प्रिंसिपल तोता सिंह ने बताया कि तैयारियां पूरी हैं बच्चों के स्कूल आने के मैसेज आ रहे हैं। तीन घंटे की क्लास लगाई जाएगी। सीनियर नेशनल अवार्डी प्रिं. सुखदर्शन सिंह और प्रिं. भरपूर सिंह का कहना है कि कोविड -19 दौरान अध्यापकों को पढ़ाई साथ-साथ बच्चों की सेहत सम्बन्धित सावधानियों की तरफ भी विशेष ध्यान देना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि सरकार के इस प्रयास को सफल बनाने के लिए हर संभव जरूरी कदम उठाए जाएंगे।

गाइडलाइन - सभी के लिए मास्क जरूरी होगा

स्टूडेंट्स, पेंरेट्स व टीचर्स को अपने अपने स्वास्थ्य का स्व घोषणा पत्र, ट्रैवलिंग की जानकारी और इमरजेंसी नंबर स्कूल प्रबंधन को देने होगी, कोविड सेंटर बनाए गए स्कूल व हॉस्टल अच्छे तरीके से सैनटाइज करने के बाद वहां बच्चे बुलाए जाएं। वाशरूम वाटर टैंक, किचन, कैंटीन को सैनेटाइज किया जाए। स्कूल में कोई इवेंट नहीं करवाया जाए, क्लास रूम में ही सुबह की प्रार्थना करवा सकते हैं। बस कंडक्टर बच्चों के चढ़ने से पहले थर्मल स्क्रीनिंग करेगा, बस की खिड़कियों में पर्दे नहीं लगाए जाएंगे, मास्क अनिवार्य होगा, 6 फिट की डिस्टेंस मेनटेन की जाए। प्रत्येक जिले में टास्क फोर्स बनाई जाए, जिसमें डाइट व डीईओ शामिल रहेंगे। वे स्कूलों में सरप्राइज विजट कर वहां के सुरक्षा प्रबंधन देखेंगे, कंटेनमेंट जोन में रहने वाला स्टाफ और स्टूडेंट्स अभी स्कूल नहीं आएगा।

चिंता - कैसे हो पाएगी साेशल डिस्टेसिंग
पेरेंट्स के मुताबिक बच्चे स्कूल जाएगा तो दोस्तों के साथ मिलेगा, ऐसे मे सोशल डिस्टेंसिंग मेंनेट करना बहुत मुश्किल होगा, स्कूल से टीचिंग और नॉन टीचिंग स्टाफ कहां कहां से आता इसकी कोई जानकारी नहीं होगी, रोज घर में टेंशन रहेगी कि बच्चे को करोना न हो जाए। स्कूल प्रबंधन की क्या गारंटी होगी कि रोजाना क्लासों को सैनेटाइज किया जाएगा।

राहत - आज से राजिंदरा अस्पताल में सारी ओपीडी की सेवाएं शुरू होंगी, अॉपरेशन भी किए जाएंगे

सोमवार से राजिंदरा अस्पताल में ओपीडी सेवा शुरू होने जा रही है, इससे पहले मात्र एक तिहाई डॉक्टरों के साथ ओपीडी चल रही है। बाकी डॉक्टर कोविड के इलाज में लगे हुए थे, लेकिन अभी सभी यूनिटों की ओपीडी शुरू होने जा रही है।

राजिंदरा अस्पताल के एमएस डॉ. एचएस रेखी ने बताया कि सोमवार से पूरी ओपीडी चलेगी। इसके साथ ही ओटी भी शुरू करने जा रहे है। इससे पहले गैर जरूरी सर्जरी कोविड के चलते बंद कर दी गई थी। लेकिन अब एक बार फिर से सारी विभाग की सभी प्रकारी की सर्जरी शुरू होने जा रही है। राजिंदरा में पटियाला, सहित मालवा और दूसरे राज्यों से भी लोग आते हैं, इसलिए ओपीडी शुरू होने पर मरीजों को राहत मिलेगी। जबकि पहले कई केस में ऑपरेशन पेंडिंग हुआ करते थे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- पिछले कुछ समय से आप अपनी आंतरिक ऊर्जा को पहचानने के लिए जो प्रयास कर रहे हैं, उसकी वजह से आपके व्यक्तित्व व स्वभाव में सकारात्मक परिवर्तन आएंगे। दूसरों के दुख-दर्द व तकलीफ में उनकी सहायता के ...

और पढ़ें