बनाया लॉकडाउन पार्क / पार्क में 5 जागरुकता प्वाइंट बनाए; सोशल डिस्टेंसिंग, हाथ धो मास्क पहनो, सफाई रखो और आस-पास को हरा भरा बनाओ

Create 5 awareness points in the park; Social distancing, wear hand wash mask, keep clean and make the surroundings green
X
Create 5 awareness points in the park; Social distancing, wear hand wash mask, keep clean and make the surroundings green

  • नरेंद्रा इनक्लेव के बच्चों ने छुट्टियों में कॉलोनी के कोने को बनाया लॉकडाउन पार्क

दैनिक भास्कर

Jun 01, 2020, 05:00 AM IST

पटियाला. झिल त्रिपड़ी रोड स्थित महाराजा नरेंद्रा सिंह इनक्लेव के बच्चों ने यह साबित कर दिया है कि बच्चे अपने अास पास व समाज में घट रही घटनाओं के प्रति ज्यादा संवेदनशील होते हैं। उनमें समस्याओं से लड़ने की इच्छा शक्ति भी ज्यादा होती है।

करीब 2 महीनों से ज्यादा समय से कोरोना के चलते देश भर में लगे लॉकडाउन में जब लोग घरों में बैठकर टाइम पास कर रहे थे तो इस कॉलोनी के बच्चों ने अपने घरों के आगे वीरान पड़े एक कोने को लॉकडाउन पार्क में तबदील कर दिया है। 

अब यह पार्क आसपास के लोगों के लिए फ्री टाइम बिताने की खूबसूरत जगह नहीं बना, बल्कि उनको कोरोना महामारी के चलते सामाजिक दूरी अौर अन्य जरूरी एतिहात रखने का संदेश बन गया है।

12वीं में पढ़ने वाली निशिता व हरसिमरन कौर, 10वीं के गौरव और प्रवीण कौर व 8वीं क्लास की सानवी अग्रवाल सहित अासपास के कई बच्चों ने सलाह बनाई कि लॉकडाउन में चल रही स्कूल की छुट्टियों का कैसे सद्पयोग किया जाए जो समाज के लिए भी फायदेमंद हो।

घर के सामने पड़े इस वीरान जगह को पार्क ब्यूटीफाई करने का फैसला किया। पेरेंट्स के साथ सलाह के बाद सभी बच्चे इसकाम में जुट गए।  करीबन 15 दिनों की मेहनत के बाद बच्चों ने इस सुनसान पड़ी जगह को शानदार पार्क के रूप में तैयार कर दिया। जिसका नाम लॉकडाउन पार्क रख दिया है।

बच्चों की प्लानिंग पर पहले पेरेंट्स डरे...मास्क-गलब्स पहन 15 दिन में तैयार किया 

पार्क में एक लॉकडाउन प्वाइंट बनाया गया है जहां बैठकर कुछ फ्री टाइम बिताया जा सकता है। पार्क की दीवारों पर सामाजिक दूरी रखने, सफाई व चौगिरदा को हरा भरा रखने के संदेश बच्चों ने खुद लिखे है।

इस काम में छोटे बच्चों जहीनमीत कौर, रिधान अग्रवाल, प्राची दीवान समेत उनकी अध्यापिका इस कॉलोनी में रहने वाले हरप्रीत कौर, फिजियोथैरेपिस्ट तवलीन कौर और इंजीनियर जसकीरत कौर ने बच्चों का समय-समय पर मार्गदर्शन किया।

अब अपने बच्चों की इस मेहनत को देखकर सारी कॉलोनी के लोग खुश है। इसी कॉलोनी में रहने वाली महिला निशा और हरसिमरन कौर का कहना है कि यह काम देखकर उनके मन को बड़ा सकून मिला है और अब वो सभी बच्चों से अपील करती हैं कि वो भी अपने फ्री टाइम को ऐसे कार्यों में सद्पयोग करें। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना