हिरासत:राजपुरा के सिविल अस्पताल के दर्जाचार कर्मचारी के क्वार्टर में होती थी लिंग जांच, आरोपी गिरफ्तार

पटियाला16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिला परिवार भलाई अफसर डाॅ. जतिंदर कांसल की अगुवाई में जाॅइंट एक्शन चलाया गया

राजपुरा के सरकारी सिविल अस्पताल के दर्जाचार कर्मचारी के क्वार्टर में चल रहा लिंग जांच के गोरखधंधे का पर्दाफाश हरियाणा की सेहत विभाग की टीम ने पटियाला की टीम के साथ किया है। करनाल के सेहत अधिकारियों ने नकली ग्राहक (गर्भवर्ती महिला) बनकर 25 हजार में लिंग जांच कराने काे लेेकर सौदा किया और मौके से पोर्टेबल अल्ट्रासाउंड मशीन सहित 3 आरोपी गिरफ्तार किए। जिला परिवार भलाई अफसर डाॅ. जतिंदर कांसल की अगुवाई में जाॅइंट एक्शन चलाया गया। सिविल अस्पताल का दर्जाचार कर्मचारी राममूर्ति दंपति काे लिंग जांच कराने का हवाला देकर उनके पहले माेटी रकम लगेगी, यह बात कहकर सेटिंग कर लेता था, उसके बाद हरियाणा के साेनू बजाज उर्फ कृष्ण बजाज कुरुक्षेत्र निवासी के साथ संपर्क करता। सिविल अस्पताल में बने सरकारी क्वार्टर में रखीं पोर्टेबल अल्ट्रासाउंड मशीन से अल्ट्रासाउंड करते थे। किसी काे इसकी भनक न लगे, इसलिए आराेपी लिंग जांच का काम दाेपहर 3 बजे के बाद करते थे, जब अस्पताल की ओपीडी बंद हाे जाती थी, उस समय लगभग सभी स्टाफ इमरजेंसी काे छाेड़ सभी अपने-अपने घराें काे चले जाते थे। उसके बाद वह जांच शुरू करता था।

खबरें और भी हैं...