पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Patiala
  • March For Two Hours, From Puda Ground To Powercom Office, Farmers Return To Puda Ground After Shouting Slogans For Half An Hour Outside Powercom Office

प्रदर्शन:दो घंटे तक मार्च, पुडा ग्राउंड से पावरकॉम ऑफिस तक गए, पावरकॉम दफ्तर के बाहर आधा घंटे नारेबाजी करने के बाद किसान पुडा ग्राउंड लौटे

पटियालाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पुडा ग्राउंड में किसान जत्थेबंदियों का केंद्र सरकार के खिलाफ रोष प्रदर्शन तीसरे दिन भी जारी रहा। वीरवार दोपहर करीब 3 बजे किसानों ने पुडा ग्राउंड से पावरकॉम हेड ऑफिस तक मार्च निकाला। जिसमें सूबे के सैंकड़ों किसानों ने हिस्सा लिया और केंद्र व राज्य सरकार के खिलाफ नारेबाजी की।

पावरकॉम दफ्तर के बाहर आधा घंटे नारेबाजी करने के बाद किसान पुडा ग्राउंड लौटे

रोष मार्च 21 नंबर फाटक से होते हुए पावरकॉम ऑफिस हेड ऑफिस तक पहुंचा। इसके चलते डेढ़ घंटा जाम रहा। किसानों ने रुक रुक कर केन्द्र और राज्य सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। कुलहिंद किसान संघर्ष तालमेल कमेटी के राज्य प्रधान दर्शनपाल व प्रो. बावा सिंह, हरभजन सिंह, हरी सिंह ने कहा कि केंद्र के कृषि आर्डिनेंस के फैसले से राज्य भर के किसानों में रोष जताया और किसान आर्डिनेंस बिल वापस लेने की मांग की।

इसके चलते किसानों को मजबूरन संघर्ष का रास्ता अपनाना पड़ा।

बिजली संशोधन बिल लागू होने से किसानों को फ्री बिजली सुविधा बंद जाएगीमार्च में महिलाओं ने भी हिस्सा लिया। वह पुरुषों के साथ साथ पैदल चलीं, हालांकि कुछ महिलाएं वाहनों में विरोध जताते हुए पावरकॉम दफ्तर पहुंचीं।}रोष मार्च में बस और गाड़ियों में किसानों ने लाउड स्पीकर लगाया था, उससे बिल की खमियां बताते हुए विरोध में नारेबाजी कर रहे थे।

जब किसानों के मार्च का एक हिस्सा फव्वारा चौक पहुंच चुका था, तब दूसरा हिस्सा दुखनिवारण साहिब पर था। 3 किमी दूरी 2 घंटे में तय की थी।किसानों ने कहा कि बिजली संशोधन बिल 2020 के लागू होने से किसानों को फ्री बिजली सुविधा बंद हो जाएगी।

जिसके चलते किसानों को लाखों का नुकसान होगा। क्रांतिकारी किसान यूनियन, जमहूरी किसान सभा, पंजाब किसान यूनियन के अलावा विभिन्न यूनियन शामिल रहीं।

कुलजीत सिंह नागरा का इस्तीफा

विधायकशिप छोड़ने के बाद बोले- बिल पास होने से आहत हूं कांग्रेसी विधायक कुलजीत सिंह नागरा ने वीरवार देर रात विधायकशिप से इस्तीफा दे दिया। इसकी जानकारी उन्होंने सोशल नागरा ने कहा कि वह भाजपा अकाली सरकार के किसान बिल पास करने से आहत हैं। वह किसानों के हितों और उनके समर्थन में फतेहगढ़ साहब के विधायक के तौर पर इस्तीफा पेश करते हैं।

सोशल मीडिया पर ही उन्होंने कहा कि वह किसान परिवार से हैं, इसलिए वह इस काले कानून के पास होने के बाद किसानों के दर्द को जानते हैं। जनता के चुने हुए प्रतिनिधि के रूप में उनकी आत्मा अनुमति नहीं देती कि वह इस किसान विरेाधी एग्रीकल्चर बिल का हिस्सा बनें।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- परिस्थितियां आपके पक्ष में है। अधिकतर काम मन मुताबिक तरीके से संपन्न होते जाएंगे। किसी प्रिय मित्र से मुलाकात खुशी व ताजगी प्रदान करेगी। पारिवारिक सुख सुविधा संबंधी वस्तुओं के लिए शॉपिंग में ...

और पढ़ें